कोविड-19 : दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 39 नए कोरोना केस और एक मरीज की मौत

दिल्ली में अब तक हुई मौतों का कुल आंकड़ा 25,067  हो गया है तो वहीं संक्रमण दर 0.08 फीसदी हो गई है. इसके साथ सक्रिय मरीजों की संख्या भी 500 से नीचे यानी इस साल में सबसे कम हो गई है. सक्रिय मरीजों की संख्या 498 है.

कोविड-19 : दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 39 नए कोरोना केस और एक मरीज की मौत

दिल्ली में सक्रिय मरीजों की संख्या 500 से नीचे यानी इस साल में सबसे कम संख्या

नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार घट रहे हैं. पिछले 24 घंटे में 39 नए कोरोना केस सामने आए और एक मरीज की मौत हुई है. दिल्ली में अब तक हुई मौतों का कुल आंकड़ा 25,067  हो गया है तो वहीं संक्रमण दर 0.08 फीसदी हो गई है. इसके साथ सक्रिय मरीजों की संख्या भी 500 से नीचे यानी इस साल में सबसे कम हो गई है. सक्रिय मरीजों की संख्या 498 है. होम आइसोलेशन में 178 मरीज हैं.  सक्रिय कोरोना मरीजों की दर 0.03 फीसदी है. रिकवरी दर पहली बार बढ़कर 98.21 फीसदी हो गई है. 24 घंटे में  39 केस सामने आने से कोरोना के मरीजों का कुल आंकड़ा 14,36,800 हो गया है. पिछले 24 घंटे में 76 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं. जिससे इसका कुल आंकड़ा 14,11,235 हो गया है. 24 घंटे में 46,447 टेस्ट हुए जिससे टेस्ट का कुल आंकड़ा 2,42,68,783 हो गया है(RTPCR टेस्ट 37,870 एंटीजन 8577).  कंटेन्मेंट जोन्स की संख्या 271 है और कोरोना डेथ रेट- 1.74 फीसदी है.

गौरतलब है कि दिल्ली में आज से लॉकडाउन में कुछ और राहत दी गई. दिल्ली के कोरोना के नियमों के पालन के साथ सभी साप्ताहिक बाज़ार आज से पूरी तरह खुल गए. इसके अलावा दसवीं और बारहवीं के छात्रों के लिए भी स्कूलों को आंशिक रूप से खोलने का फैसला किया गया है. 10वीं और 12वीं के छात्र अब एडमिशन, काउंसलिंग और बोर्ड परीक्षाओं के प्रैक्टिकल के लिए स्कूल जा सकते हैं. इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (GRAP) लागू किया गया है. इसके तहत चार तरह के अलर्ट लेवल होंगे, जिस इलाके में जब जैसे हालात होंगे उसी तरह का अलर्ट लेवल लागू हो जाएगा और उसी के आधार पर पाबंदियां या छूट लागू की जाएंगी. 


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जीआरएपी को नौ जुलाई को उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मंजूरी दी थी. उसमें तीन मापदंडों -- दिल्ली में संक्रमण दर, कुल नये मामले और भरे हुए ऑक्सीजन बेडों के औसत को ध्यान में रखा गया है. योजना में इन मापदंडों के विस्तृत विश्लेषण के बाद चार रंगों--पीला, अंबर, नारंगी और लाल के अलर्ट और उनके जरूरी मापदंडों की सिफारिश की गयी है. डीडीएमए के आदेश में कहा गया है, ‘‘ मान्य/प्रतिबंधित/ सीमित गतिविधियां श्रेणीबद्ध कार्रवाई कार्ययोजना के निर्धारित अलर्ट के स्तर के अनुसार होगी और तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक क्रियान्वयन के लिए होगी. '' उसमें कहा गया है, ‘‘ जैसे ही कोई मापदंड अलर्ट के निर्धारित स्तर पर पहुंच जाता है तो अलर्ट आदेश जारी किया जाएगा तथा ऐसे स्तर पर मान्य/प्रतिबंधित/ सीमित गतिविधियां स्वत: ही क्रियाशील हो जाएंगी. '' (इनपुट्स भाषा से भी)