लखीमपुर खीरी कांड में काउंटर FIR, BJP वर्कर ने हत्या, मारपीट और बलवा करने के लगाए आरोप

सुमित ने आगे लिखवाया है कि बीजेपी कार्यकर्ता मौर्य के स्वागत के लिए कालेशरण मोड़ जा रहे थे. इस दौरान वह थार महिंद्रा गाड़ी संख्या UP31AS1000 में सवार थे, जिसे ड्राइवर हरिओम चला रहे थे. बकौल प्राथमिकी गाड़ी पर सुमित के साथ उनके मित्र शुभम मिश्रा भी थे. 

लखीमपुर खीरी:

लखीमपुर खीरी हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) मामले में काउंटर FIR दर्ज की गई है. यह प्राथमिकी बीजेपी (BJP) कार्यकर्ता सुमित जायसवाल ने दर्ज कराई है. प्राथमिकी में किसी को नामजद नहीं किया गया है बल्कि अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या, मारपीट और बलवा करने की धाराओं में केस दर्ज कराया गया है.

प्राथमिकी में सुमित जायसवाल ने कहा है कि वह दिनांक 03 अक्टूबर, 2021 को केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र के गांव बनवारीपुर में आयोजित कुश्ती प्रतियोगिता एवं विशाल जनसभा कार्यक्रम में शामिल था. इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्य के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य थे. 

सुमित ने आगे लिखवाया है कि बीजेपी कार्यकर्ता मौर्य के स्वागत के लिए कालेशरण मोड़ जा रहे थे. इस दौरान वह थार महिंद्रा गाड़ी संख्या UP31AS1000 में सवार थे, जिसे ड्राइवर हरिओम चला रहे थे. बकौल प्राथमिकी गाड़ी पर सुमित के साथ उनके मित्र शुभम मिश्रा भी थे. 

bmgl1fhg
बीजेपी कार्यकर्ता सुमित जायसवाल द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी की कॉपी.

सुमित ने पुलिस को बताया है कि जैसे ही उनकी गाड़ी तिकुनिया मोड़ पर पहुंची, किसान आंदोलन कर रहे लोगों ने  गाड़ी पर लाठी व ईंट-पत्थरों से हमला बोल दिया, जिसमें ड्राइवर हरिओम को गहरी चोटें आईं. इसके बाद ड्राइवर ने गाड़ी रोक दी. सुमित ने कहा है कि इसके बाद लोगों ने ड्राइवर हरिओम को गाड़ी से खींचकर उस पर लाठी, डंडे और तलवार से हमला किया.

- - ये भी पढ़ें - -
* 'लखीमपुर खीरी की घटना केंद्रीय मंत्री और उनके बेटे की सुनियोजित साजिश थी' : FIR रिपोर्ट
* जिस कार ने किसानों को कुचला वो हमारी, लेकिन बेटा नहीं था सवार : केंद्रीय मंत्री ने NDTV से कहा
* 'किसी की भी आत्मा को झकझोर देगा'- लखीमपुर खीरी का वायरल वीडियो शेयर कर बोले BJP सांसद वरुण गांधी

सुमित ने बताया कि ये देखकर वह अपने मित्र के साथ भागने लगा लेकिन भीड़ ने उसके मित्र शुभम को बी पकड़ लिया और उसकी भी पिटाई कर दी. सुमित ने प्राथमिकी में बताया है कि वह किसी प्रकार जान बचाकर भागने में कामयाब रहा लेकिन बाद में सोशल मीडिया से पता चला कि ड्राइवर , उसके मित्र और बीजेपी के दो कार्यकर्ता की भी मौत हो गई. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुलिस ने मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ IPC की धारा 147, 323, 324, 336 और 302 के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली है और जांच शुरू कर दी है.