दिल्ली के अस्पताल में ओमिक्रॉन वैरिएंट के 12 संदिग्ध मामले, टेस्ट रिपोर्ट अब तक नहीं आईं

एलएनजेपी अस्पताल के चिकित्सा निदेशक सुरेश कुमार ने बताया कि भर्ती लोगों में से चार यूके और चार फ्रांस से हैं. कुछ लोग तंजानिया से हैं, वहीं एक व्यक्ति बेल्जियम से है. केवल एक व्यक्ति को ही बुखार है.

दिल्ली के अस्पताल में ओमिक्रॉन वैरिएंट के 12 संदिग्ध मामले, टेस्ट रिपोर्ट अब तक नहीं आईं

लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में संदिग्धों को कराया गया है भर्ती

नई दिल्ली:

दक्षिण अफ्रीका ( South Africa) में मिले कोरोना ( Corona) के नए वैरिएंट ने दुनिया को चिंता में डाल दिया है. भारत में भी सतर्कता बरती जा रही है. इस बीच पिछले तीन दिनों में ओमिक्रॉन (Omicron) वैरिएंट के 12 संदिग्धों को दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ये सभी इंटरनेशनल फ्लाइट (International flight) से भारत आए थे. इनके सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेज दिए गए हैं. रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा कि ये लोग कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित हैं या नहीं. सभी लोगों को दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल ( Lok Nayak Jai Prakash Hospital) में भर्ती कराया गया है. 

एलएनजेपी अस्पताल के चिकित्सा निदेशक सुरेश कुमार ने बताया कि भर्ती लोगों में से चार यूके और चार फ्रांस से हैं. कुछ लोग तंजानिया से हैं, वहीं एक व्यक्ति बेल्जियम से है. इनकी हालत अभी स्थिर है. केवल एक व्यक्ति को ही बुखार है. उन्होंने कहा कि सैंपल को जीनोम परीक्षण के लिए भेजे गए हैं.  ओमिक्रॉन से संक्रमित हैं या नहीं, यह पांच या छह दिनों में पता चल जाएगा. 

ओमिक्रॉन संक्रमित मरीज होटल से भागा, 10 लापता यात्रियों को तलाश रही कर्नाटक सरकार

गौरतलब है कि भारत में अब तक नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के दो मामलों की पुष्टि हुई है. ये दोनो ही मामले कर्नाटक में मिले हैं. उनमें से एक बेंगलुरू के एक 46 वर्षीय डॉक्टर हैं. इन्हें टीके के दोनों डोज लग चुके थे. इन्हें 21 नवंबर को बुखार और शरीर में दर्द के लक्षण दिखाई दिए थे. दूसरा व्यक्ति 66 वर्षीय दक्षिण अफ्रीकी नागरीक है, जो 20 नवंबर को कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट के साथ भारत आया था और सात दिन बाद दुबई के लिए रवाना हुआ था.

क्या तमिलनाडु में भी Omicron? एयरपोर्ट पर दो यात्री निकले कोविड पॉजिटिव, रिपोर्ट का इंतजार

वहीं तमिलनाडु में विदेश से आए दो लोगों की कोरोना जांच की गई हुई, जिनमें एक बच्चा भी है. इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. वहीं राज्य सरकार ने यह कहने से इनकार कर दिया है कि संबंधित व्यक्ति ओमिक्रॉन वैरिएंट से पीड़ित हैं. हालांकि, इनका सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेज दिया गया है. वहीं डब्ल्यूएचओ (  WHO) ने कहा है कि ओमाइक्रोन वैरिएंट के मामले पहली बार दक्षिण अफ्रीका में मिले थे. अब तक 23 से अधिक देशों में यह फैल चुका है.


ओमिक्रॉन तेजी से बढ़ा रहा है कोरोना के मामले, 9 देशों में उछाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com