अनिल देशमुख के वकील को CBI ने किया गिरफ्तार, SI के जरिए केस को प्रभावित करने के आरोप 

दोनों पर महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री के खिलाफ जांच को प्रभावित करने की कोशिश करने का आरोप है. इन दोनों को आगे की पूछताछ के लिए दिल्ली लाया जाएगा. गिरफ्तार होने वाले सीबीआई के सब इंस्पेक्टर का नाम अभिषेक तिवारी है. सीबीआई ने दिल्ली और इलाहाबाद में उनके परिसरों पर भी छापेमारी की है.

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh)  के वकील आनंद डागा को केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने कल (बुधवार, 01 सितंबर) रात 11 बजे मुंबई में गिरफ्तार कर लिया. उसके साथ ही जांच एजेंसी ने सीबीआई में तैनात एक सब इंस्पेक्टर को भी गिरफ्तार किया है. दोनों पर महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री के खिलाफ जांच को प्रभावित करने की कोशिश करने का आरोप है.

इन दोनों को आगे की पूछताछ के लिए दिल्ली लाया जाएगा. गिरफ्तार होने वाले सीबीआई के सब इंस्पेक्टर का नाम अभिषेक तिवारी है. सीबीआई ने दिल्ली और इलाहाबाद में उनके परिसरों पर भी छापेमारी की है.

महाराष्ट्र : CBI रिपोर्ट लीक होने के बाद महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री अनिल देशमुख के वकील जांच के घेरे में


सीबीआई सूत्रों ने बताया है कि निचले स्तर के एक सीबीआई अधिकारी ने अनिल देशमुख के खिलाफ प्रारंभिक जांच को प्रभावित करने के लिए कथित तौर पर रिश्वत ली है. इसके बाद सीबीआई ने महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री अनिल देशमुख को कथित तौर पर क्लीन चिट देने वाली प्रारंभिक जांच के निष्कर्षों के लीक होने की जांच शुरू की. इसी सिलसिले में बुधवार की देर शाम तक सीबीआई ने वकील आनंद डागा से पूर्व मंत्री के खिलाफ प्रारंभिक जांच में कथित गड़बड़ी को लेकर पूछताछ की, बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता देशमुख पर आरोप लगाया था कि उन्होंने पुलिस अधिकारियों से मुंबई में होटल और बार मालिकों से हर महीने 100 करोड़ रुपये वसूलने के लिए कहा था. इस आरोप पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने अनिल देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया है और उसकी जांच कर रही है.