हैदराबाद में कैब ड्राइवर की पत्नी और महिला मजदूर लड़ेंगी निकाय चुनाव, TDP से मिला टिकट

एक दिसंबर को हैदराबाद में ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (GHMC) के चुनाव होने वाले हैं. वहीं, पहली बार इस चुनाव में मामूली पृष्ठभूमि की दो महिलाएं भी खड़ी हो रही हैं.

हैदराबाद में कैब ड्राइवर की पत्नी और महिला मजदूर लड़ेंगी निकाय चुनाव, TDP से मिला टिकट

हैदराबाद में कैब ड्राइवर की पत्नी और महिला मजदूर लड़ेंगी निकाय चुनाव, TDP से मिला टिकट

हैदराबाद:

एक दिसंबर को हैदराबाद में ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (GHMC) के चुनाव होने वाले हैं. वहीं, पहली बार इस चुनाव में मामूली पृष्ठभूमि की दो महिलाएं भी खड़ी हो रही हैं. इन दोनों महिलाओं फरहाना और रेखा को तेलुगू देशम पार्टी (TDP) की ओऱ से टिकट दिया गया है. कैब ड्राइवर की पत्नी फरहाना बेगमपेट डिवीजन से निकाय चुनाव में खड़ी हो रही हैं. जबकि, कपड़े प्रेस करने वाली रेखा रामगोपालपेट डिवीजन से चुनाव मैदान में खड़ी हैं. 

हैदराबाद निकाय चुनाव में BJP के लिए वोट मांगने जाएंगे अमित शाह-जेपी नड्डा

न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए फरहाना ने कहा, अगर वह चुनाव जीत जाती हैं, तो अपने क्षेत्र में विकास के लिए कड़ी मेहनत करेंगी. फरहाना का कहना है, 'मैं एक निम्न-मध्यम वर्गीय परिवार से आती हूं. मेरे पति एक कैब ड्राइवर हैं. भाई ऑटोरिक्शा चलाता है. हम मूलभूत सुविधाओं की कमी का सामना कर रहे हैं. हमने पहले अधिकारियों से संपर्क किया था, लेकिन वे हमारी मदद के लिए कभी आगे नहीं आए. मेरे इलाके में बुनियादी सुविधाओं की बहुत समस्या है. इसलिए मैंने चुनाव लड़ने का कदम उठाया.

बता दें कि फरहाना सिर्फ सातवीं कक्षा तक ही पढ़ी हैं और उनका कहना है, 'इलाके में अन्य सुविधाओं को छोड़ दो, हमारे यहां तो एक कब्रिस्तान भी नहीं है. हमें पुलिस की अनुमति के साथ अपनों को दफनाने के लिए दूसरे इलाकों में जाना पड़ता है. कई बार अनुमति मिलने में दो-दो दिन की देरी होती है, तब तक मजबूरन लाश को घर पर ही रखना पड़ता है. मेरा भाई सालों से इसके खिलाफ लड़ रहा था. अब जब मुझे चुनाव लड़ने का मौका मिला, तो हम निश्चित रूप से जीतेंगे और विकास के लिए काम करेंगे.'

हैदराबाद निकाय चुनावों के लिए पूरा जोर लगा रही बीजेपी, प्रचार अभियान में उतर सकते हैं प्रधानमंत्री...

वहीं, रेखा जो कि रामगोपालपेट डिवीजन से टीडीपी उम्मीदवार हैं, उनका कहना है, 'मैं खुश हूं कि मुझे चुनाव लड़ने का मौका मिला. अक्सर अमीर ही चुनाव लड़ते हैं और अपनी बेहतरी के लिए चुनाव जीतते हैं. गरीबों या जरूरतमंदों की सेवा के लिए वो ज्यादा कुछ नहीं करते. हमारे घर के सामने ज्यादातर समय सीवेज ओवरफ्लो होता है. हम कई मुद्दों पर लड़ रहे हैं. मुझे खुशी है कि टीडीपी ने मुझे चुनाव लड़ने और जरूरतमंदों की सेवा करने का मौका दिया है.'

आपको बता दें कि ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (GHMC) के चुनाव 1 दिसंबर को होंगे और उनके परिणाम 4 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.


तेजस्‍वी सूर्या vs असदुद्दीन ओवैसी, हैदराबाद में नजर आ रही पुरानी प्रतिद्वंद्विता

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com