लोकसभा चुनाव में सपा और बसपा भी शामिल होगी महागठबंधन में : वीरप्पा मोइली

पूर्व केंद्रीय मंत्री के बयान से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पिछले सप्ताह कहा था कि उनकी पार्टी मध्य प्रदेश में गठबंधन पर कांग्रेस के फैसले का अब और इंतजार नहीं करेगी.

लोकसभा चुनाव में सपा और बसपा भी शामिल होगी महागठबंधन में : वीरप्पा मोइली

कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एम वीरप्पा मोइली ने मंगलवार को कहा कि अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा नीत राजग के खिलाफ विपक्षी दलों के महागठबंधन में सपा और बसपा भी शामिल होंगे. मोइली ने यह दावा भी किया कि कांग्रेस उन पांच में से कम से कम चार राज्यों में जीतेगी जहां अगले दो महीने में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं. पूर्व केंद्रीय मंत्री के बयान से पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पिछले सप्ताह कहा था कि उनकी पार्टी मध्य प्रदेश में गठबंधन पर कांग्रेस के फैसले का अब और इंतजार नहीं करेगी. उन्होंने संकेत दिया था कि वह मायावती की अगुवाई वाली बसपा से गठजोड़ कर सकते हैं.  इससे कुछ दिन पहले ही मायावती ने राजस्थान और मध्य प्रदेश में मुख्य विपक्षी कांग्रेस के साथ विधानसभा चुनावों के लिए चुनाव पूर्व गठबंधन की संभावना को खारिज कर दिया था. मोइली ने पीटीआई से कहा कि प्रस्तावित महागठबंधन लोकसभा चुनावों के लिए बनना है, राज्य विधानसभा चुनावों में नहीं. उन्होंने कहा कि राज्य के चुनावों में पार्टियों की अपनी बाध्यताएं होती हैं.    

राज्यों में गठबंधन पर बात न बन पाने का लोकसभा चुनाव पर असर नहीं : कांग्रेस

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘हमारी प्रमुख इच्छा लोकसभा चुनाव में विपक्ष को एकजुट देखने की है और हमें उम्मीद है कि इस लक्ष्य को प्राप्त कर लेंगे.’’ उन्होंने विश्वास जताया कि बसपा और सपा इस महागठबंधन का हिस्सा बनेंगे. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में वोटों का ध्रुवीकरण कांग्रेस और भाजपा के बीच होगा. 
 

बीएसपी के साथ गठबंधन न होने के बाद भी कांग्रेस मध्य प्रदेश में क्यों है इतनी बेफ्रिक!


उन्होंने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस ही जीतेगी और मध्य प्रदेश में भी वह भाजपा से आगे चल रही है. मोइली ने कहा, ‘‘छत्तीसगढ़ में 50-50 की स्थिति है.  वहां (परिणाम) हमारे चुनाव प्रबंधन, उम्मीदवारों के चयन पर निर्भर करेगा. मिजोरम में हम जीतेंगे.’’ उन्होंने यह दावा भी किया कि उनकी पार्टी तेलंगाना में तेलुगूदेशम पार्टी, भाकपा और अन्य विपक्षी दलों के साथ गठबंधन बनाएगी.  महागठबंधन के प्रधानमंत्री पद के दावेदार के सवाल पर मोइली ने कहा कि संभवत: यह मुद्दा नहीं उभरेगा क्योंकि प्रस्तावित गठजोड़ में कोई पार्टी इस पर जोर नहीं देगी. 

क्या महागठबंधन बनना मुश्किल है?​

 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com