चुनावी राज्यों के लिए रणनीति तैयार करने के लिए बीजेपी आयोजित करेगी 'चिंतन बैठक'

सभी राज्यों को 21 जून से 30 जून के बीच वर्चुअल माध्यम से कार्यकारिणी की बैठकें आयोजित करने का निर्देश दिया गया है. साथ ही, प्रशिक्षण शिविर और अन्य कामकाज में भी तेजी लाई जाएगी.

चुनावी राज्यों के लिए रणनीति तैयार करने के लिए बीजेपी आयोजित करेगी 'चिंतन बैठक'

बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda) ने निर्देश दिया है कि 10 जुलाई तक चिंतन बैठक कर रणनीति तय करें.

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने पांच चुनावी राज्यों के लिए रणनीति तैयार करने के वास्ते चिंतन बैठकें करने का फैसला किया है. बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda) ने इन राज्यों की इकाइयों को निर्देश दिया है कि 10 जुलाई तक वे अपने यहां चिंतन बैठक कर रणनीति तय करें. इसके बाद छोटी टीमें बना कर केंद्र में भेजें ताकि नड्डा उनके साथ अलग-अलग राज्यों की चुनावी रणनीति को अंतिम रूप दे सकें. बीजेपी ने कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप कम होते ही संगठन के कामों में तेजी लाने का फैसला किया है. 

PM मोदी के आवास पर आज भी बैठक जारी, मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा या मंत्रिमंडल विस्तार की कवायद?

सभी राज्यों को 21 जून से 30 जून के बीच वर्चुअल माध्यम से कार्यकारिणी की बैठकें आयोजित करने का निर्देश दिया गया है. साथ ही, प्रशिक्षण शिविर और अन्य कामकाज में भी तेजी लाई जाएगी. सभी राज्यों के प्रभारी व महासचिवों को अपने-अपने राज्य का दौरा 31 जुलाई के पहलें करेंगे.  

पार्टी अध्यक्ष के आदेश पर परिष्करण कार्यक्रम की शुरुआत 20 जून से होगी और यह 6 सप्ताह तक चलेगा. वर्चुअल माध्यम से होने वाला राष्ट्रीय प्रशिक्षण प्रत्येक रविवार को सुबह साढ़े दस बजे से लेकर के साढ़े 11 बजे तक आयोजित किया जाएगा. जबकि प्रदेश प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रत्येक मंगलवार या बुधवार को सुबह 10 बजे से आयोजित किया जाएगा. वहीं जिला प्रशिक्षण का आयोजन गुरुवार शुक्रवार या फिर शनिवार को सुबह 10 बजे से किया जाएगा. पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री दुष्यंत गौतम और पी मुरलीधर राव प्रशिक्षण कार्यक्रम का समन्वय करेंगे. 

बीजेपी ने 18 जून को कोरोना महामारी पर एक वर्चुअल सेशन करने का फैसला किया है. इसमें कोविड चुनौती का सामना- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में संकट का मुकाबला करता राष्ट्र विषय पर चर्चा होगी. बाद में इस विषय पर एक फिल्म भी दी जाएगी जिसे 10 जुलाई तक मंडल स्तर पर क्षेत्रीय भाषाओं में प्रस्तुत करने को कहा गया है.  

पेट्रोल-डीजल में लगी 'आग' से अब NDA में शुरू हुआ मतभेद, JDU ने कहा- कीमतें अब चुभने लगी हैं

पार्टी ने मंडल, बूथ और पन्ना प्रमुख कार्यक्रम में तेजी लाने का भी फैसला किया है. इसके लिए समय सीमा तय कर दी गई है. 25 सितंबर पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिन तक सशक्त मंडल, 25 दिसंबर अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन तक सक्रिय बूथ समिति तथा अगले साल छह अप्रैल तक पार्टी के स्थापना दिवस पर पन्ना प्रमुखों की नियुक्ति करने के अभियान को समाप्त करने का निर्णय किया है. इसके अलावा बीजेपी देश भर के चुनिंदा शहरों में लोगों से विशेष संवाद के कार्यक्रम को भी अंतिम रूप दे रही है.


खबरों की खबर: लोजपा में बगावत, अकेले पड़ गए चिराग; भतीजे पर भारी पड़े चाचा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com