NEET परीक्षा के डर से छात्रा की आत्महत्या पर अखिलेश यादव ने पूछा, " BJP बताए जिम्मेदार कौन"

तमिलनाडु के मदुरै में जोतिश्री दुर्गा नाम की छात्रा ने राष्ट्रीय प्रवेश एवं पात्रता परीक्षा (नीट) के कथित डर से शनिवार को अपने आवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. 19 वर्षीय छात्रा नीट की तैयारी कर रही थी.

NEET परीक्षा के डर से छात्रा की आत्महत्या पर अखिलेश यादव ने पूछा,

"इसके साथ ही ‘बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ' के नारे की भी हत्या हुई है."

लखनऊ :

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने तमिलनाडु के मदुरै में कथित रूप से नीट परीक्षा के डर से एक छात्रा की आत्महत्या को ''हत्या'' करार देते हुए सत्तारूढ़ भाजपा से सवाल किया कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है? अखिलेश ने रविवार को ट्वीट किया, "नीट की परीक्षा से पहले कल मदुरै की एक परीक्षार्थी द्वारा आत्महत्या की ख़बर से देश का हर बाल-बच्चे वाला परिवार स्तब्ध है. हृदयहीन भाजपा बताए, इसके लिए कौन ज़िम्मेदार है. ये हत्या है."उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा "इसके साथ ही ‘बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ' के नारे की भी हत्या हुई है."

गौरतलब है कि तमिलनाडु के मदुरै में जोतिश्री दुर्गा नाम की छात्रा ने राष्ट्रीय प्रवेश एवं पात्रता परीक्षा (नीट) के कथित डर से शनिवार को अपने आवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. 19 वर्षीय छात्रा नीट की तैयारी कर रही थी.कोविड-19 महामारी के इस दौर में नीट परीक्षा कराने के सरकार के फैसले के खिलाफ कांग्रेस और सपा समेत अनेक विपक्षी दलों ने पुरजोर आवाज उठाई थी.

यह भी पढ़ें-  NEET परीक्षा से एक दिन पहले तमिलनाडु में 2 छात्रों ने की आत्महत्या

अखिलेश ने बाद में एक बयान में कहा, ‘‘भाजपा केवल अपने राजनीतिक विस्तार और सत्ता पर एकाधिकार को ही विकास मानती है. यही कारण है कि प्रदेश में विकास कार्य अवरूद्ध हैं और समाजवादी सरकार ने जनहित की जो योजनाएं लागू की थी उन्हें बढ़ाने के बजाय धीरे-धीरे खत्म करने की साजिशें हो रही है.''

उन्होंने कहा, ‘‘युवाओं के प्रति तो भाजपा का रवैया शुरू से ही संवेदना शून्य रहा है. भाजपा की गलत नीतियों के चलते उत्तर प्रदेश पिछड़ता ही जा रहा है. अजीब बात है कि ‘डबल इंजन' सरकार (केन्द्र और राज्य दोनों जगह एक ही पार्टी की सरकार) होते हुए भी उत्तर प्रदेश में मेट्रो की गाड़ी टस से मस नहीं हुई.''

यह भी पढ़ें-  NEET Exam: तमिलनाडु में नीट परीक्षा से पहले छात्र ने की आत्महत्या, राजनीतिक दलों ने की परीक्षा खत्म करने की मांग

अखिलेश ने कहा, ‘‘समाजवादी सरकार ने इसकी शुरूआत लखनऊ से की थी. आज भी यह यहीं तक सीमित रह गई है. मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के क्षेत्रों की जनता आज तक मेट्रो के दर्शन नहीं कर सकी.''

इस बीच, प्रदेश भाजपा के सह—संयोजक नवीन श्रीवास्तव ने कहा कि भाजपा समाज की पंक्ति में सबसे पीछे खड़े व्यक्ति तक विकास पहुंचाने के लिये काम कर रही है. सपा के शासनकाल में विकास सिर्फ सैफई तक सीमित था. उन्होंने कहा कि भाजपा ''सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास'' की विचारधारा पर यकीन करती है. भाजपा और मात्र कुछ लोगों का तुष्टीकरण करने वाली सपा के बीच यही बुनियादी अंतर है.



 

अखिलेश व डिंपल यादव ने 25,000 रुपये देकर साहसी बच्चे को किया सम्मानित

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)