बीजेपी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए

भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. सुप्रियो पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद से ही भाजपा से नाराज चल रहे थे.

कोलकाता :

पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (Former Minister Babul Supriyo) ने बीजेपी (BJP) को तगड़ा झटका दिया है. सुप्रियो शनिवार को टीएमसी महासचिव अभिषेक बनर्जी (TMC General Secretary Abhishek Banerjee) और पार्टी सांसद डेरेक ओ ब्रायन (MP Derek O'Brien) की मौजूदगी में तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) में शामिल हो गए. बाबुल सुप्रियो को हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल के दौरान पद से हटा दिया गया था. सुप्रियो बंगाल की आसनसोल सीट से सांसद (Asansol MP) हैं. सुप्रियो ने ऐसे वक्त तृणमूल का दामन थामा है, जब पश्चिम बंगाल की भवानीपुर सीट से विधानसभा उपचुनाव हो रहा है, जहां से स्वयं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उम्मीदवार हैं. 

बाबुल सुप्रियो को करीब दो महीने पहले पर्यावरण राज्यमंत्री के पद से इस्तीफा देने के लिए कहा गया था. हालांकि भाजपा के पूर्व सांसद ने केंद्रीय मंत्री पद से हटने के बाद कहा था कि वह किसी भी पार्टी में शामिल नहीं होंगे और राजनीति छोड़ देंगे. बाद में उन्होंने संसद सदस्य बने रहना स्वीकार किया था. 

तृणमूल कांग्रेस के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव जीतने के बाद बाबुल सुप्रियो पांचवे नेता हैं, जिन्होंने भाजपा को छोड़कर के तृणमूल कांग्रेस के साथ जाने का निर्णय लिया है. अन्य चारों नेता विधायक हैं. बाबुल सुप्रियो का तृणमूल कांग्रेस में शामिल होना भाजपा के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में कैबिनेट में 43 नए मंत्रियों को शामिल किया गया था और कई मंत्रियों को हटाया गया था. कैबिनेट से हटने वालों में सुप्रियो भी शामिल थे और उसी के बाद से उन्हें पार्टी से नाराज बताया जा रहा था. सुप्रियो ने जुलाई के आखिर में एक फेसबुक पोस्ट लिखी थी, जिसमें उन्होंने साफ लिखा था कि मैं किसी भी पार्टी में नहीं जा रहा हूं. मैं एक टीम का खिलाड़ी हूं और हमेशा एक टीम का समर्थन किया है. हालांकि अब सुप्रियो तृणमूल कांग्रेस के साथ हैं.

सुप्रियो ने अपनी सियासी पारी साल 2014 में भाजपा के साथ शुरू की थी. लोकसभा चुनाव में जीत के बाद उन्हें शहरी विकास राज्य मंत्री बनाया गया था. वहीं जुलाई में हुए कैबिनेट फेरबदल के पहले तक वे पर्यावरण राज्यमंत्री के पद पर थे. हालांकि इसी साल वह बंगाल विधानसभा चुनाव टॉलीगंज  विधानसभा सीट से 50 हजार मतों से हार गए थे. 


बंगाल में सियासी बदलाव, BJP छोड़ तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए बाबुल सुप्रियो

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
* तृणमूल कांग्रेस ने कहा- बाबुल सुप्रियो 'नाटक' कर रहे थे, बीजेपी ने साधी चुप्पी
* ''सांसद बना रहूंगा'': पूर्व मंत्री बाबुल सुप्रियो ने जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद बदला इरादा
* बाबुल सुप्रियो ने राजनीति को कहा अलविदा, हाल ही में केंद्रीय कैबिनेट से हटाए गए थे