मोदी मंत्रिपरिषद में विस्तार की संभावनाओं के बीच आज शाम PM के घर होने वाली बैठक रद्द

पीएम मोदी के घर होने वाली बैठक कैंसिल हो गई है. पहले सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि बैठक में मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा और मंत्रालयों की आगे की योजनाओं को लेकर बनाई गई रिपोर्ट पर चर्चा होगी.

मोदी मंत्रिपरिषद में विस्तार की संभावनाओं के बीच आज शाम PM के घर होने वाली बैठक रद्द

मोदी मंत्रिपरिषद के विस्तार की संभावनाओं के बीच आज पीएम मोदी के घर पर होने वाली बैठक कैंसिल हुई

नई दिल्ली:

मोदी मंत्रिपरिषद में विस्तार की संभावनाओं के बीच आज शाम पीएम मोदी के घर होने वाली बैठक कैंसिल हो गई है. इससे पहले सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि बैठक में मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा और मंत्रालयों की आगे की योजनाओं को लेकर बनाई गई रिपोर्ट पर चर्चा होगी. बैठक में गृहमंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा, रक्षा मंत्रा राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, धर्मेंद्र प्रधान, पीयूष गोयल, प्रह्लाद जोशी और नरेंद्र सिंह तोमर रहेंगे.  इससे पहले पीएम मोदी 20 जून को भी अपने वरिष्ठ मंत्रियों के साथ पिछले दो साल में किए गए कामों की समीक्षा कर चुके हैं.

माना जा रहा है कि जहां कई मौजूदा मंत्रियों को मंत्रिपरिषद से हटाया जा सकता है, वहीं पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर कई नए चेहरों को जगह मिल सकती है. वर्तमान मंत्रिमंडल में 9 मंत्री ऐसे हैं, जिनके पास एक से अध‍िक विभाग हैं. इनमें प्रकाश जावड़ेकर, डॉक्टर हर्षवर्धन, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, नरेंद्र सिंह तोमर, नितिन गडकरी, रविशंकर प्रसाद, स्मृति ईरानी और हरदीप सिंह पुरी के नाम शामिल हैं.

प्रकाश जावड़ेकर के पास सूचना प्रसार, भारी उद्योग, पर्यावरण मंत्रालय का जिम्मा है. पीयूष गोयल के पास रेल, वाणिज्य और खाद्य आपूर्ति मंत्रालय है. धर्मेंद्र प्रधान के पास इस्पात और पेट्रोलियम मंत्रालय है. नितिन गडकरी के पास भूतल परिवहन और एमएसएमई विभाग है. डॉक्टर हर्षवर्धन के पास स्वास्थ्य और विज्ञान तथा तकनीक मंत्रालय है.


नरेंद्र सिंह तोमर के पास कृषि, ग्रामीण विकास पंचायती राज और फूड प्रोसेसिंग मंत्रालय है. रविशंकर प्रसाद के पास कानून, आईटी और संचार मंत्रालय है. स्मृति ईरानी के पास महिला बाल विकास और टेक्सटाइल मंत्रालय है. हरदीप सिंह पुरी (राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार) के पास हाउसिंग और नागरिक उड्डयन मंत्रालय है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि संभावित मंत्रियों में ज्योतिरादित्य सिंधिया और सर्वानंद सोनोवाल के नाम प्रमुख हैं. वहीं उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव हैं, लिहाजा प्रदेश से 5 मंत्री बनाए जा सकते हैं. इनमें वरुण गांधी, रीता बहुगुणा जोशी, अनिल जैन, रामशंकर कथेरिया और जफर इस्लाम के नाम शामिल हैं. वहीं उत्तराखंड में भी अगले साल विधानसभा चुनाव होंगे. माना जा रहा है कि नैनीताल से सांसद अजय भट्ट या फिर राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी को मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है. दिल्ली से बीजेपी सांसद परवेश वर्मा या मीनाक्षी लेखी का नाम मंत्रिमंडल के लिए सामने आ रहा है.