Bhabanipur Bypoll: 'बंगाल में चुनाव और हिंसा एक-दूसरे के पर्याय', दिलीप घोष पर हमले के बाद चुनाव आयोग से मिले BJP नेता 

भवानीपुर विधानसभा में हुई हिंसा को लेकर बीजेपी के नेता मंगलवार को चुनाव आयोग पहुंचे. इनकी मांग है कि भवानीपुर में चुनाव निष्पक्ष हो. साथ ही बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और बंगाल बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष के साथ चुनाव प्रचार के दौरान हुई धक्का-मुक्की और दुर्व्यवहार की जांच करने की मांग की गई है.

Bhabanipur Bypoll: 'बंगाल में चुनाव और हिंसा एक-दूसरे के पर्याय', दिलीप घोष पर हमले के बाद चुनाव आयोग से मिले BJP नेता 

भवानीपुर में चुनाव निष्पक्ष हो : BJP प्रतिनिधिमंडल की मांग

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल की भवानीपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव (Bhabanipur Bypoll) में सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी (BJP) आमने-सामने हैं. भवानीपुर से बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) चुनाव मैदान में हैं. भवानीपुर विधानसभा में हुई हिंसा को लेकर बीजेपी के नेता मंगलवार को चुनाव आयोग पहुंचे. बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल में केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव, मुख्तार अब्बास नकवी और अनुराग ठाकुर शामिल थे. इनकी मांग है कि भवानीपुर में चुनाव निष्पक्ष हो. साथ ही बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और बंगाल बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष के साथ चुनाव प्रचार के दौरान हुई धक्का-मुक्की और दुर्व्यवहार की जांच करने की मांग की  गई है. भाजपा नेताओं की मांग है कि भवानीपुर में चुनाव के दौरान धारा 144 लगाई जाए.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद कहा, "बंगाल में चुनाव और हिंसा एक दूसरे के पर्याय बन गए हैं. उनको (तृणमूल कांग्रेस को) हिंसा में विश्वास है. दिलीप घोष पर हमला हुआ उससे लगता है टीएमसी हिंसा को लोकतंत्र मान चुकी है.  राज्य  सरकार से आयोग ने रिपोर्ट मांगी है. 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, वह काफी नहीं है. माइक्रो आब्जर्वर तैनात किए जाएंगे. दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि पिछली बार भी तत्कालीन सरकार के इशारे पर हिंसा हुई थी. 

बीजेपी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि भवानीपुर में तत्काल प्रभाव से पेट्रोलिंग तेज की जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि मतदान वाले दिन इसे और बढ़ाया जाए. भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में  केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल की कम से कम 40 या उससे ज्यादा कंपनियां तैनात की जाए ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि हर बूथ पर केंद्रीय बल मौजूद हो. राज्य की पुलिस और होम गार्ड को चुनाव ड्यूटी के लिए तैनात नहीं किया जाए. 

उपद्रवी और असामाजिक तत्वों को राउंड अप पर लिया जाए. ऐसे बूथों, क्षेत्रों और तत्वों की सूची स्थानीय अधिकारियों को सौंप दी गई है. हर बूथ खासकर वार्ड 77 तथा वार्ड 63 और 82 के कुछ हिस्सों में बुर्का पहने महिलाओं की पहचान के लिए महिला सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाए. 

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष को भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस के कथित समर्थकों ने सोमवार को धक्का दिया और उनसे दुर्व्यवहार किया, जिसके बाद उनके सुरक्षा अधिकारियों को पिस्तौल निकालनी पड़ी. चुनाव प्रचार के अंतिम दिन यहां का राजनीतिक तापमान काफी गर्म नजर आया. बीजेपी उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल के लिए प्रचार करते समय भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के खिलाफ सत्तारूढ़ तृणमूल के कार्यकर्ताओं ने ‘‘वापस जाओ'' के नारे लगाए. 


- - ये भी पढ़ें - -
* रद्द नहीं होगा भवानीपुर उपचुनाव, जिसमें ममता बनर्जी भी लड़ रही हैं : कलकत्ता हाईकोर्ट
* प्रचार के आखिरी दिन BJP नेता दिलीप घोष के साथ धक्का-मुक्की, सुरक्षाकर्मियों को निकालने पड़े हथियार
* भवानीपुर उपचुनाव में प्रशासन, पुलिस, माफिया और मनीपावर से भी हमें करना होगा मुकाबला : शुभेंदु अधिकारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: दिलीप घोष के साथ धक्कामुक्की, सुरक्षाकर्मियों को निकालने पड़े हथियार