"धीरज बनाए रखने के लिए कम से कम ऑक्सीजन तो जरूरी है": प्रशांत किशोर ने PM मोदी पर साधा निशाना

देश भर में मेडिकल ऑक्सीजन, कोरोना वैक्सीन और रेमडेसिविर जैसी दवाओं की किल्लत के बीच प्रशांत किशोर ने कहा कि देश के लोगों को धैर्य बनाए रखने के लिए कम से कम ऑक्सीजन की तो जरूरत है ही.

Oxygen shortage इस वक्त कोरोना मरीजों के लिए सबसे बड़ा संकट (File)

नई दिल्ली:

देश में कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी पर मचे हाहाकार के बीच चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. देश भर में मेडिकल ऑक्सीजन, कोरोना वैक्सीन और रेमडेसिविर जैसी दवाओं की किल्लत के बीच प्रशांत किशोर ने कहा कि देश के लोगों को धैर्य बनाए रखने के लिए कम से कम ऑक्सीजन की तो जरूरत है ही. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के एक ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने उन पर तंज कसा है.

किशोर ने कोरोना के रिकॉर्डतोड़ मामलों के बीच अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन (oxygen supply in hospitals )की  कमी का मुद्दा उठाया है. किशोर ने लिखा कि जनता को धीरज बनाए रखने के लिए कम से कम ऑक्सीजन की जरूरत तो है ही.प्रशांत किशोर ने हिन्दी में ट्वीट किया, "नरेंद्र मोदी सर, हजारों लोग कह रहे हैं कि वे सांस नहीं ले पा रहे हैं. #wecantbreathe, धीरज बनाए रखने के लिए कम से कम ऑक्सीजन की तो दरकार है"


दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) द्वारा केंद्र सरकार को अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर लगाई गई फटकार की NDTV की खबर को भी किशोर ने टैग किया. हाईकोर्ट ने कहा था, हम मरीजों को मरता नहीं देख सकते. यह सरकार की जिम्मेदारी है. भीख मांगिए, उधार लीजिए या चोरी करिए. यह आपकी जिम्मेदारी है. कोर्ट ने बुधवार को यह बेहद कठोर टिप्पणी की थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. गुरुवार 22 अप्रैल को भारत में एक दिन में 3 लाख से ज्यादा केस सामने आए हैं, जो एक दिन में दर्ज होने वाले मामलों में दुनिया में किसी भी देश से ज्यादा हैं. भारत में पिछले 24 घंटों के दौरान 3,14,835 नए COVID-19 केस दर्ज किए गए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या एक करोड़ 59 लाख पार कर 1,59,30,965 हो गई है. पिछले एक दिन में 2,104 मरीज़ों की मौत हुई. यह भी एक दिन में कोरोनावायरस से मौत का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. देश में कोरोना से जान गंवाने वालों की कुल तादाद 1,84,657 हो गई है.