जम्मू-कश्मीर में जल्द ही होगा विधानसभा का गठन : बीजेपी

भाजपा महासचिव राम माधव ने रविवार को कहा कि अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने के केंद्र के निर्णय को वापस नहीं लिया जाएगा और जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा का गठन “शीघ्र ही” किया जाएगा.

जम्मू-कश्मीर में जल्द ही होगा विधानसभा का गठन : बीजेपी

भाजपा महासचिव राम माधव (फाइल फोटो).

श्रीनगर:

भाजपा महासचिव राम माधव ने रविवार को कहा कि अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने के केंद्र के निर्णय को वापस नहीं लिया जाएगा और जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा का गठन “शीघ्र ही” किया जाएगा. माधव ने कश्मीर घाटी में राजनीतिक कार्यकर्ताओं के लिये पर्याप्त सुरक्षा की मांग की. भाजपा के बांदीपोरा जिला अध्यक्ष वसीम बारी, उनके पिता और भाई की आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी. 

माधव, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और अन्य नेताओं के साथ बारी के शोक संतप्त परिवार से मिलने गए. यहां टैगोर हॉल में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए माधव ने कहा, “राजनीतिक विमर्श हो सकता है. (यहां के नेता) लोगों के बीच जाकर कहें कि हमें अनुच्छेद 370 वापस चाहिए. हम राजनीतिक बहस के विरोध में नहीं हैं लेकिन दृढ़ता से हम यह मानते हैं कि अनुच्छेद 370 एक रोड़ा था और हमने उसे हटा दिया.” 

भाजपा नेता ने नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर उन्हें राजनीति करनी है तो उन्हें ट्वीट करने की बजाय लोगों के बीच जाना चाहिए. उन्होंने कहा, “आप (नेकां और पीडीपी) लोगों से कह रहे हैं कि अनुच्छेद 370 लाभकारी था, यह राजनीति है. लेकिन यहां आपको वो लोग मिलेंगे जो या तो इस पर (अनुच्छेद 370) दूसरों की जान ले सकते हैं या ऐसे नेता जो घर से ट्वीट कर रहे हैं. सभी नेता मुक्त हैं… , कुछ कश्मीर में हैं लेकिन वे केवल ट्वीट करते हैं. वे सड़कों पर नहीं आते.” 


माधव ने कहा कि जम्मू कश्मीर की पार्टियां कितना भी मातम मना लें लेकिन अनुच्छेद 370 वापस नहीं आने वाला. उन्होंने कहा, “एक साल बीत चुका है, अगर नेकां और पीडीपी (अनुच्छेद 370 का) मातम एक और साल मनाना चाहते हैं और ट्वीट करना चाहते हैं तो करते रहें.” जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव की ओर इशारा करते हुए माधव ने कहा कि जल्दी ही विधानसभा का गठन किया जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, “बहुत जल्दी केंद्र शासित प्रदेश की विधानसभा का गठन किया जाएगा. विधानसभा के प्रतिनिधि शीघ्र ही चुने जाएंगे और केंद्र शासित प्रदेश विकास के पथ पर आगे बढ़ेगा.” माधव ने संवाददाताओं से कहा कि परिसीमन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद विधानसभा का गठन किया जाएगा.