असम सरकार में एक शकुनी मामा जैसे और एक धृतराष्‍ट्र जैसे, दोनों ने लोगों से छल किया: प्रियंका गांधी वाड्रा

प्रियंका गांधी वाड्रा ने राज्य एवं केंद्र में सत्तारूढ़ दल पर अपना हमला जारी रखते हुए दावा किया, ‘‘भाजपा यह फैसला नहीं कर पा रही है कि मुख्यमंत्री पद के लिए उसकी ओर से उम्मीदवार कौन होगा.

असम सरकार में एक शकुनी मामा जैसे और एक धृतराष्‍ट्र जैसे, दोनों ने लोगों से छल किया: प्रियंका गांधी वाड्रा

Assam polls: प्रियंका ने कहा, बीजेपी फैसला नहीं कर पा रही कि सीएम पद के लिए उसकी ओर से उम्मीदवार कौन होगा

सरुपथार (असम):

Assam Assembly Elections 2021: कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने असम (Assam)में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर आरोप लगाया कि वह माफिया की तरह काम कर रही और सिंडिकेट चला रही है. कांग्रेस महासचिव ने सोमवार को यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘राज्य में भगवा पार्टी के दो गुट हैं, दोनों ने ही लोगों के साथ विश्वासघात किया है.'' कांग्रेस नेता ने असम के भाजपा नेतृत्व की तुलना महाकाव्य महाभारत के पात्र ‘‘धृतराष्ट्र'' और ‘‘शकुनी'' से की. हालांकि, उन्होंने भगवा पार्टी के उस नेता का नाम नहीं लिया. धृतराष्ट्र को एक दृष्टिहीन शासक के रूप में, जबकि शकुनी को राजनीतिक प्रपंच करने वाले के रूप में जाना जाता है. 

यूपी में निषाद समाज को 'लुभाने' की होड़, प्रियंका के प्रयागराज दौरे के बाद BJP और SP भी 'मैदान' में 

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘...असम सरकार में, एक शकुनी मामा जैसे नेता हैं और एक धृतराष्ट्र हैं. दोनों ने ही और भाजपा ने असम के लोगों के साथ छल किया है.'' प्रियंका ने आरोप लगाया, ‘‘कभी जातीय नायक (जनता के नेता) कहलाने वाले ‘धृतराष्ट्र' ने छह जातीय समुदायों के साथ छल किया, जिन्हें उन्होंने अनुसूचित जनजाति (एसटी) समुदाय में शामिल कराने का वादा किया था.'' उन्होंने आरोप लगाया कि एक अन्य नेता ‘शकुनी मामा' हैं, जो एक भ्रष्ट सरकार चला रहे हैं और जिसने सिर्फ लोगों को ठगा ही है. 


प्रियंका गांधी के चाय बागान की तस्वीर पर केंद्रीय मंत्री का तंज, कहा- जैसे लग रहा है किसी फिल्‍म... 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रियंका ने राज्य एवं केंद्र में सत्तारूढ़ दल पर अपना हमला जारी रखते हुए दावा किया, ‘‘भाजपा यह फैसला नहीं कर पा रही है कि मुख्यमंत्री पद के लिए उसकी ओर से उम्मीदवार कौन होगा. वह अपने ही (भाजपा के ही) मुख्यमंत्री का सम्मान नहीं कर पा रही है और नाम नहीं बता रही है. यदि पार्टी (भाजपा) में कोई स्थिरता या एकजुटता नहीं है, तो फिर वह असम में स्थिरता कैसे ला पाएगी और लोगों को स्थिर सरकार वह कैसे दे सकती है?''



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)