दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर ओवैसी की पार्टी AIMIM का 'वार', कहा-आप राम मंदिर के लिए चांदी की ईंट भेजिए, लेकिन..

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के एक ट्वीट को लेकर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM (आल इंडिया मजलिस-ए-इत्‍तेहादुल मुसलमीन) ने तीखी प्रतिक्रिया दी है.

दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर ओवैसी की पार्टी AIMIM का 'वार', कहा-आप राम मंदिर के लिए चांदी की ईंट भेजिए, लेकिन..

Digvijaya singh के एक ट्वीट पर Asaduddin Owaisi की पार्टी एआईएमआईएम ने तीखी प्रतिक्रिया जताई है

खास बातें

  • दिग्विजय ने AIMIM और संघ को एक सिक्‍के के दो पहलू बताया था
  • लिखा था, फूट डालो राज करो, गोरे चले गए लेकिन चेले छोड़ गए
  • AIMIM ने कहा, आप भोपाल का चुनाव आतंक के आरोपी से हारे..
नई दिल्ली:

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय सिंह के एक ट्वीट को लेकर असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी AIMIM (आल इंडिया मजलिस-ए-इत्‍तेहादुल मुसलमीन) ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. हाल के समय में विवादित कमेंट को लेकर चर्चा में रहने वाले दिग्विजय (Digvijaya singh) ने एक ट्वीट में ओवैसी की पार्टी AIMIM और संघ और बीजेपी की तुलना करते हुए इन्‍हें एक ही सिक्‍के के दो पहलू करार दिया था. यह ट्वीट ओवैसी और उनकी पार्टी को पसंद नहीं आया. AIMIM ने लिखा-आप अयोध्या में राम मंदिर के लिए चांदी की ईंट भेजिए, लेकिन मज़हब के नाम पर सियासत करने का ठप्पा हम पर लगा दीजिए,ये भी ठीक है.AIMIM के इस जवाब को इसके अध्‍यक्ष ओवैसी ने रीट्वीट किया है.

'बीजेपी के साथ कांग्रेस भी माफी मांगे,' दिल्ली हिंसा मामले में युवाओं की रिहाई पर बोले असदुद्दीन ओवैसी

दरअसल दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा था, 'आज़ादी के पहले जिन्ना मुस्लिम लीग एक तरफ़ हिंदू महासभा व संघ एक तरफ़. आज़ादी के बाद ओवेसी MIM एक तरफ़, संघभाजपा एक तरफ़. दोनों एक सिक्के के दो पहलू हैं.फूट डालो राज करो. गोरे चले गए, चेले छोड़ गए.' अपने ट्वीट के आखिर में दिग्विजय ने We Are Indians First हैशटैग का इस्‍तेमाल किया है. इस ट्वीट पर AIMIM की ओर से जवाबी ट्वीट आया, इसमें कहा गया हैं, 'भोपाल से लोकसभा का चुनाव आतंक के आरोपी से हार गए, वहाँ तो मजलिस नहीं थी] आपके नेता अमेठी की पुश्तैनी सीट हार गए, क्या उस हार का ठीकरा भी हमारे सर फोड़ेंगे? आप अयोध्या में राम मंदिर के लिए चांदी की ईंट भेजिए, लेकिन मज़हब के नाम पर सियासत करने का ठप्पा हम पर लगा दीजिए,ये भी ठीक है.'


दिग्विजय  का आलोचकों को जवाब- अनपढ़ जमात को Shall और Consider में फर्क समझ नहीं आता

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब कि कश्‍मीर में धारा 370 को लेकर भी दिग्विजय सिंह का एक और बयान भी हाल में चर्चा में रहा था, इसे लेकर बीजेपी ने न केवल दिग्विजय बल्कि कांग्रेस पार्टी पर भी निशाना साधा था. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया था कि दिग्विजय सिंह ने क्लबहाउस चैट में कहा था कि अगर कांग्रेस पार्टी सत्ता में आती है, तो वे जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को फिर से बहाल करेंगे. इस बयान को लेकर बीजेपी ने पूछा था कि कांग्रेस नेतृत्व स्थिति स्पष्ट करे कि क्या वह धारा 370 की बहाली चाहती है. बीजेपी नेता ने तंज कसा है कि कांग्रेस नेतृत्व इस मामले पर संदेहास्पद चुप्पी क्यों साधे हुए हैं.