अखिलेश यादव का मोदी सरकार पर तंज- अहंकार ने दिल्ली के शासकों को अंधा और बहरा बना दिया

समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सत्ता के अहंकार ने दिल्ली में बैठे शासकों को ‘अंधा और बहरा’ बना दिया है.

अखिलेश यादव का मोदी सरकार पर तंज- अहंकार ने दिल्ली के शासकों को अंधा और बहरा बना दिया

अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • अखिलेश यादव का सरकार पर तंज
  • अहंकार ने सरकार को अंधा-बहरा बनाया
  • किसान आंदोलन के पूरे हुए 100 दिन
लखनऊ:

समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सत्ता के अहंकार ने दिल्ली में बैठे शासकों को ‘अंधा और बहरा' बना दिया है और उन्‍हें देश के लाखों किसानों की पीड़ा का भान नहीं है. केंद्र के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) के समर्थन में टप्‍पल की किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए यादव ने कहा कि आंदोलन के दौरान 200 से अधिक किसानों ने अपनी जान गंवाई है लेकिन मोदी सरकार अभी भी अपने किसानों के साथ ऐसा व्‍यवहार कर रही है कि मानों वे देश की सीमाओं पर खड़े दुश्‍मन हों. उन्‍होंने कहा, ‘‘सरकार इस बात से बेखबर है कि इन विनम्र किसानों के पास सत्ता की कुर्सी से अहंकारी शासकों को हटाने की शक्ति है.''

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने किसान समुदाय से आग्रह किया कि वे इतिहास की घटनाओं को देखें और जानें कि कैसे ब्रिटिश संसद ने एक एकल कानून के जरिए ईस्‍ट इंडिया कंपनी को अंधाधुंध शक्तियां दीं, जिसने भारत की संपत्ति को अपने लाभ के लिए लूटा और आज इतिहास खुद को दोहरा रहा है. उन्‍होंने आरोप लगाया कि सरकार कॉरपोरेट घरानों को सशक्‍त बना रही है. उन्‍होंने कहा कि किसान विरोधी कानूनों के बाद अब सरकार किसानों और आम लोगों के घावों पर नमक रगड़ रही है. यादव ने चेतावनी दी कि सरकार किसानों को जितना अधिक अपमानित करेगी, किसान उतना ही अधिक दृढ़सं‍कल्पित हो रहे हैं.

सदन में जो भाषा मुख्यमंत्री बोलते हैं, वह किसी योगी द्वारा नहीं बोली जा सकती : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के प्रदेश मुख्‍यालय से जारी बयान के अनुसार यादव ने कहा है कि किसान आंदोलन को 100 दिन हो गए हैं और किसानों की घोषणा है कि यह ‘संघर्ष'' तब तक जारी रहेगा, जब तक तीन काले कृषि कानून वापस नहीं होते.
उन्‍होंने आरोप लगाया, 'देश की अर्थव्यवस्था की हालत पतली है. भाजपा के लोग खेती नहीं करते हैं और किसान का धान 900 से 1100 रुपये में लूट लिया गया.' पूर्व मुख्‍यमंत्री ने कहा, 'भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार कई रूप में जनता को दिख रहा है. पुलिस और तहसील के भ्रष्टाचार से जनमानस त्रस्त है. कोरोना काल से उपजे आर्थिक संकट की मार से जनता की कमर टूट गई है. डीजल-पेट्रोल के दाम बेलगाम है. रसोई गैस की बढ़ी कीमतों ने लोगों का बजट खराब कर दिया है. नौजवानों के सामने रोजगार का संकट बना हुआ है.'

अखिलेश यादव का मोदी सरकार पर तंज- जो 70 साल में नहीं हुआ वो BJP ने...


अखिलेश यादव ने कहा, 'भाजपा सरकार को यह जान लेना चाहिए कि किसानों का उत्पीड़न कर कोई सत्ता में नहीं टिक सकता. जनता परिवर्तन के लिए बस 2022 के विधानसभा चुनावों का इंतजार बेसब्री से कर रही है और सबकी निगाहें समाजवादी पार्टी पर लगी हैं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: NDTV से बोले सपा प्रमुख अखिलेश यादव - हम किसानों की लड़ाई आखिर तक लड़ेंगे



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)