UP के महोबा में किशोरी से दुष्कर्म के तीन दोषियों को 20-20 साल कैद, जुर्माना भी लगा

पॉक्सो अदालत में विशेष लोक अभियोजक पुष्पेंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि जिले की चरखारी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की 15 साल की लड़की मार्च 2019 में शौच के लिए खेत गयी थी, तभी गांव का लखनलाल राजपूत उसे बहलाकर नाले की तरफ ले गया.

UP के महोबा में किशोरी से दुष्कर्म के तीन दोषियों को 20-20 साल कैद, जुर्माना भी लगा

प्रतीकात्मक तस्वीर

महोबा:

उत्तर प्रदेश के महोबा (UP Mahoba Rape Case)जिले की पॉक्सो अधिनियम की एक विशेष अदालत ने शनिवार को 15 साल की किशोरी से बलात्कार करने का दोष सिद्ध होने पर तीन दोषियों को 20-20 साल कैद की सजा सुनाई है. इसके अलावा दोषियों पर 32-32 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है. यह घटना जिले की चरखारी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की है. 

ग्रेटर नोएडा : घुड़चढ़ी का समारोह झगड़े में बदला, दो गुटों ने एक-दूसरे को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, जांच शुरू

पॉक्सो अदालत (Pocso Court) में विशेष लोक अभियोजक पुष्पेंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि जिले की चरखारी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की 15 साल की लड़की मार्च 2019 में शौच के लिए खेत गयी थी, तभी गांव का लखनलाल राजपूत उसे बहलाकर नाले की तरफ ले गया, वहां अपने साथी कल्लू राजपूत उर्फ बृजेश व पंचू कुशवाहा को भी बुला लिया और तीनों ने उसके साथ बलात्कार किया.

मिश्रा ने बताया कि सामूहिक बलात्कार की इस घटना के बाद तीनों आरोपी तीन माह तक पीड़िता को डरा-धमकाकर उससे दुष्कर्म करते रहे, जिससे किशोरी गर्भवती हो गयी. उन्होंने बताया कि लड़की के गर्भवती होने के बाद आरोपियों ने 14 जुलाई 2019 को उसे गर्भ गिराने की गोलियां खिला दी, जिसके प्रभाव से लड़की बेहोश हो गयी और होश में आने के बाद परिजनों को पूरी घटना बताई.


यूपी RERA एक मई से घर खरीदारों की शिकायतों की आमने-सामने सुनवाई करेगा, रखी यह 'शर्त'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एडीजीसी ने बताया कि दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अपर जिला एवं सत्र न्यायालय (पॉक्सो) के विशेष न्यायाधीश सन्तोष कुमार यादव की अदालत ने शनिवार को लखनलाल राजपूत, कल्लू उर्फ बृजेश और पंचू कुशवाहा को किशोरी के साथ सामूहिक बलात्कार करने का दोषी करार दिया. अदालत ने उन्हें 20-20 साल कैद की सजा सुनाई और तीनों पर 32-32 हजार रुपये का जुर्माना लगाया.