लाल किला हिंसा : आरोपी गैंगस्टर लक्खा सिधाना पर एक लाख रुपये का इनाम, ढूंढ रही SIT

लक्खा ने 25 जनवरी को मंच से भाषण दिया था कि युवा जहां परेड चाहते हैं, परेड वहीं से निकलेगी. उस पर आरोप है कि लाल किले पर उसने भीड़ को भड़काया और वो खुद हिंसा में शामिल था.

नई दिल्ली:

26 January Violence : 26 जनवरी को कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की ट्रैक्टर रैली (Kisan Tractor Rally) के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा के एक आरोपी गैंगस्टर लक्खा सिधाना को ढूंढ़ा जा रहा है. इसके लिए दिल्ली पुलिस ने उस पर एक लाख रुपये का इनाम रखा है. पंजाब के बठिंडा के रहने वाले लख्खा को ढूंढ़ने के लिए एसआईटी की टीमें कई जगह छापेमारी कर रही हैं. उस पर 20 से ज्यादा आपराधिक केस दर्ज हैं. खुद को अब समाजसेवी कहने वाले लक्खा ने रामपुरा सीट से विधान सभा चुनाव भी लड़ चुका है, लेकिन चुनाव में उसकी जमानत जब्त हो गयी थी.

लक्खा ने 25 जनवरी को मंच से भाषण दिया था कि युवा जहां परेड चाहते हैं, परेड वहीं से निकलेगी. उस पर आरोप है कि लाल किले पर उसने भीड़ को भड़काया और वो खुद हिंसा में शामिल था. कुछ दिन पहले ही उसने वीडियो जारी कर कहा कि उसके दीप सिद्दू से कितने भी मतभेद हों, लेकिन हमें उसके साथ खड़ा होना चाहिए. उसने 10 फरवरी को यह वीडियो अपलोड किया था.

दीप सिद्धू और उसके साथी को लाल किला ले गई SIT, 26 जनवरी की घटना पर कर रही पूछताछ

बता दें, लाल किला हिंसा के आरोपी दीप सिद्धू और इकबाल सिंह को पहले ही दिल्ली पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है.दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इकबाल सिंह को पंजाब के होशियारपुर से गिरफ्तार किया था. इकबाल सिंह पर 50 हज़ार रुपये का इनाम था. इकबाल सिंह (Iqbal Singh) पर आरोप है कि 26 जनवरी को लाल किले में मौजूद था और लोगों को लाल किले (Red Fort) का गेट तोड़ने और झंडा फहराने के लिए उकसा रहा था. इकबाल सिंह लुधियाना का रहने वाला है और हिंसा के वक्त फेसबुक लाइव कर रहा था.

डर के कारण दीप सिद्धू ने फेंक दिया था मोबाइल, सिंघू बॉर्डर से आगे ले रखा था किराये पर कमरा

Video : दीप सिद्धू और इकबाल सिंह को लेकर लाल किला पहुंची दिल्ली पुलिस, जोड़े कड़ियों के तार


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com