Yoga For Strong Bones: अपनी हड्डियों को मजबूत करने के लिए 5 सबसे प्रभावी और क्विक योग आसान

Yoga Poses To Strengthen Bone: हर दिन योग का अभ्यास करने से हड्डियों को मजबूत करने में मदद मिल सकती है. यहां 5 योगासन हैं जो आपकी हड्डियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं.

Yoga For Strong Bones: अपनी हड्डियों को मजबूत करने के लिए 5 सबसे प्रभावी और क्विक योग आसान

Yoga For Strong Bones: हड्डियां शरीर को कैल्शियम और फॉस्फोरस की आपूर्ति का भंडार हैं.

खास बातें

  • हड्डियां शरीर को कैल्शियम और फॉस्फोरस की आपूर्ति का भंडार हैं.
  • हर दिन योग का अभ्यास करने से हड्डियों को मजबूत करने में मदद मिल सकती है.
  • 5 योगासन जो आपकी हड्डियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं.

Yoga For Bone Strengthening: ऑस्टियोपोरोसिस एक सामान्य हड्डी की स्थिति है जो दुनिया भर में 200 मिलियन से अधिक लोगों को प्रभावित करती है. हड्डियां शरीर को बुनियादी स्ट्रक्चर देती है जो हमें समर्थन करते हुए खड़े होने, चलने-फिरने की अनुमति देती हैं. हड्डियों में महत्वपूर्ण खनिज होते हैं और ये जीवित ऊतक होते हैं जो मस्तिष्क और हृदय जैसे हमारे कई महत्वपूर्ण अंगों की रक्षा करते हैं. हड्डियां शरीर को कैल्शियम और फॉस्फोरस की आपूर्ति का भंडार हैं. योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करने का एक और कारण यह है ये आपकी हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार करता है. हर दिन योग का अभ्यास करने से हड्डियों को मजबूत करने में मदद मिल सकती है. यहां 5 योगासन हैं जो आपकी हड्डियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं.

हड्डियों को मजबूत करने में योग कैसे मदद करता है? | How Does Yoga Help Strengthen Bones?

यह एक ऐसी स्थिति है जिसे योग प्रथाओं की मदद से मैनेज और ठीक किया जा सकता है. वज्रासन, त्रिकोणासन और पश्चिमोत्तानासन जैसे आसनों को अपने डेली रूटीन में शामिल करें. इस अभ्यास के लाभों का अनुभव करने के लिए 4-6 महीने तक अपनी एक्सरसाइज रूटीन के अनुरूप बने रहें. आप पृथ्वी मुद्रा, प्राण मुद्रा और वरुण मुद्रा जैसी मुद्राओं का भी अभ्यास कर सकते हैं.

1. प्राण मुद्रा में वज्रासन

कैसे करें: धीरे से अपने घुटनों को नीचे करें. अपने श्रोणि को अपनी एड़ी पर आराम दें. अपनी एड़ियों को एक दूसरे के करीब रखें. प्राण मुद्रा बनाए रखें.

2. प्राण मुद्रा

कैसे करें: यह दोनों हाथों की मदद से किया जाता है. अंगूठी की टिप्स और छोटी उंगली को अंगूठे की नोक से जोड़ना होता है. अन्य सभी उंगलियों को सीधा बढ़ाया जाना चाहिए.

3. पश्चिमोत्तानासन

कैसे करें: अपने पैरों को आगे की ओर फैलाकर शुरुआत करें. अपनी बाहों को ऊपर की ओर फैलाएं और अपनी रीढ़ को सीधा रखें. सांस छोड़ें और कूल्हे पर आगे झुकें और अपने ऊपरी शरीर को अपने निचले शरीर पर रखें. अपनी बाहों को नीचे करें और अपने बड़े पैर की उंगलियों को अपनी उंगलियों से पकड़ें. अपने घुटनों को अपनी नाक से छूने की कोशिश करें.

4. वृक्षासन

कैसे करें: समस्तीथि में शुरू करें. अपने दाहिने पैर को फर्श से उठाएं और अपने वजन को अपने बाएं पैर पर संतुलित करें. प्रणाम मुद्रा में अपनी हथेलियों को मिलाएं. इस मुद्रा को लंबे समय तक बनाए रखें.

5. वीरा भद्रासन

कैसे करें: अपनी हथेलियों के बीच में अपने दाहिने पैर के साथ अश्वसंचलानासन करें. अपनी बाहों को ऊपर उठाएं, हथेलियां एक दूसरे के सामने हों. अपनी पीठ को सीधा करें. अपनी आर्म्स को कान के संपर्क में रखें. सीधे आगे देखें. दूसरी तरफ दोहराएं.

6. त्रिकोणासन

कैसे करें: अपनी हथेलियों के बीच में अपने दाहिने पैर के साथ अश्वसंचलानासन करें. अपनी बायीं एड़ी को नीचे करें और दोनों घुटनों को सीधा करें. दाहिने हाथ को ऊपर उठाएं और दोनों हाथों को एक लाइन में लाएं. अपनी दाहिनी हथेली पर सीधे आगे देखें. दूसरी तरफ दोहराएं.

खतरनाक है विटामिन डी की ओवरडोज! हो सकते हैं ये नुकसान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.