Shravan 2021: श्रावण मास में क्या नहीं खाना चाहिए? उपवास करते समय इन चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए

Shravan 2021: श्रावण को हिंदू कैलेंडर के सबसे पवित्र महीनों में से एक माना जाता है. यहां उन फूड्स की लिस्ट दी गई है जिनसे श्रावण के दौरान परहेज करने की सलाह दी जाती है.

Shravan 2021: श्रावण मास में क्या नहीं खाना चाहिए? उपवास करते समय इन चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए

Shravan 2021: श्रावण का महीना हिंदू कैलेंडर के सबसे पवित्र महीनों में से एक माना जाता है.

खास बातें

  • फास्टिंग के दौरान डेयरी प्रोडक्ट का सेवन नहीं करने का सुझाव दिया जाता है.
  • यह उपवास के दौरान शरीर में अम्लीय प्रतिक्रिया का कारण बन सकता है.
  • उपवास शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है.

Shravan 2021: श्रावण का महीना, जिसे सावन के नाम से भी जाना जाता है, हिंदू कैलेंडर के सबसे पवित्र महीनों में से एक माना जाता है. इस साल श्रावण 2021, 23 जुलाई से शुरू हो गया है. यह हिंदू कैलेंडर का पांचवां महीना है जिसका किसानों और भगवान शिव के भक्तों को बेसब्री से इंतजार रहता है. श्रावण सोमवार व्रत शिव भक्तों द्वारा मनाया जाता है. इसके साथ ही लोग पूरे एक महीने का उपवास भी रखते हैं और मांसाहारी भोजन का त्याग कर देते हैं. यहां उन फूड्स की सूची दी गई है जिन्हें श्रावण के दौरान परहेज करने की सलाह दी जाती है.

श्रावण के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए? | What Should Not Be Eaten During Shravan?

1. बैंगन

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार व्रत के मौसम में बैगन से पूरी तरह परहेज करना चाहिए. इस मान्यता का समर्थन करने वाला एक और कारण यह है कि श्रवण का तूफानी मौसम इस सब्जी को खराब कर देता है. इसलिए, कई लोग श्रावण के महीने में बैगन का सेवन नहीं करते हैं.

2. डेयरी प्रोडक्ट्स

उपवास और आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करते समय दूध और दूध से बने प्रोडक्ट थोड़ा असंतुलन पैदा कर सकते हैं. फास्टिंग के दौरान डेयरी प्रोडक्ट का सेवन नहीं करने का सुझाव दिया जाता है क्योंकि यह उपवास के दौरान शरीर में अम्लीय प्रतिक्रिया का कारण बन सकता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, डेयरी से बचना चाहिए क्योंकि वे जानवरों से प्राप्त होते हैं.

3. मांसाहारी भोजन

पौराणिक कथाओं के अनुसार श्रावण व्रत का पालन करने से भगवान शिव को प्रसन्न करने में मदद मिलती है. हालांकि, वैज्ञानिक रूप से यह किसी को अपने शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है और मांस से बचने से केवल उसके स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलेगा. शरीर में मांस द्वारा उत्पन्न गर्मी क्लीनिंग प्रोसेस से रोक सकती है. इसलिए इससे बचना चाहिए.

4. शराब

शराब जैसे नशीले पदार्थ कभी भी मानव शरीर के लिए अच्छे नहीं होते, यह लीवर और किडनी जैसे अंगों की कार्यप्रणाली को खराब कर देता है. कई भक्त पवित्र महीने का सम्मान करने के लिए शराब और मांस दोनों से परहेज करते हैं. साथ ही, आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करते समय शराब का सेवन समस्याग्रस्त हो सकता है.

श्रावण व्रत के लाभ | Benefits Of Shravan Vrat

उपवास शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है. यह पाचन प्रक्रिया में भी सुधार करता है. मानसून के दौरान संक्रमण और बीमारियों का खतरा अधिक होता है, उपवास शरीर में संतुलन बनाए रखने में मदद करता है. उपवास शरीर में जमा अनावश्यक वसा से छुटकारा पाने में भी मदद करता है. उपवास के दौरान पानी का सेवन बढ़ जाता है जो शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद करता है.

क्या और किसे होता है सारकोमा कैंसर?


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.