चीन में अब रहस्यमय निमोनिया के मरीजों से भरे हॉस्पिटल, डब्ल्यूएचओ ने चाइना को कहा...

डब्ल्यूएचओ ने चीन से निमोनिया के मामलों के बारे में ज्यादा डेटा शेयर करने को कहा है और कुछ गाइडलाइन्स शेयर की हैं.

चीन में अब रहस्यमय निमोनिया के मरीजों से भरे हॉस्पिटल, डब्ल्यूएचओ ने चाइना को कहा...

प्रभावित बच्चों में फेफड़ों में सूजन और तेज़ बुखार सहित कई लक्षण बताए गए हैं.

चीन में रहस्यमय निमोनिया फैलने की खबर ने सभी को एक बार फिर डरा दिया है. चीन में अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या में बढ़ोत्तरी देखी जा रही है. इस महीने की शुरुआत में नेशनल हेल्थ कमिशन के चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान देश भर में सांस की बीमारियों के बढ़ते मामलों की जानकारी दी थी. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी चीन से निमोनिया के मामलों के बारे में और ज्यादा डेटा शेयर करने को कहा है. डब्ल्यूएचओ ने भी देश से ऐसे कदम उठाने का आग्रह किया है जिससे इंफेक्शन के खतरे को कम करने में मदद मिल सके. दुनिया ने कोविड-19 महामारी देखी जो चीन से भी उभरी. क्या यह रहस्यमयी निमोनिया एक और महामारी को निमंत्रण देगा?

ये भी पढ़ें: सिर्फ 15 दिन पी लीजिए ये घरेलू जूस, चेहरे पर आएगा निखार, नेचुरल ग्लो देख लोग पूछेंगे अचानक ऐसे चमक कैसे आई

अब तक का पूरा मामला...

  • स्कूलों और अन्य एजुकेशनल इंस्टिट्यूशन्स में रहस्यमय निमोनिया का प्रकोप बच्चों को प्रभावित कर रहा है, खासकर नॉर्थ चाइना में.
  • देश भर में अस्पताल में एडमिट होने की संख्या में बढ़ोत्तरी देखी गई है.
  • प्रभावित बच्चों में फेफड़ों में सूजन और तेज बुखार सहित लक्षण बताए गए हैं.

डब्ल्यूएचओ ने क्या कहा?

  • 22 नवंबर को WHO ने एक बयान जारी कर चीनी अधिकारियों से बच्चों में निमोनिया के समूहों के बारे में विस्तृत जानकारी साझा करने का अनुरोध किया.
  • WHO के अनुसार, चीनी अधिकारियों ने इस प्रकोप के लिए कोविड-19 प्रतिबंध हटाए जाने को जिम्मेदार ठहराया है. इसके अलावा, इन्फ्लूएंजा, माइकोप्लाज्मा न्यूमोनिया (एक सामान्य जीवाणु संक्रमण जो आमतौर पर छोटे बच्चों को प्रभावित करता है), रेस्पिरेटरी सिंकाइटियल वायरस (आरएसवी), और SARS-CoV-2 (वायरस जो COVID-19 का कारण बनता है) जैसे ज्ञात रोगजनकों का प्रसार.
  • WHO ने अधिकारियों से मरीजों के प्रबंधन के लिए स्वास्थ्य प्रणाली की क्षमता को मजबूत करने के लिए भी कहा है.

डब्ल्यूएचओ के दिशानिर्देश जिनको चीन में लोगों को इस रेस्पिरेटरी डिजीज के रिस्क को कम करने के लिए फॉलो करना चाहिए.

  • समय पर टीकाकरण.
  • जो लोग बीमार हैं उनसे दूरी बनाकर रखें.
  • बीमार होने पर सेल्फ आइसोलेशन.
  • समय पर टेस्ट और मेडिकल हेल्प लें.
  • मास्क पहनें
  • रेगुलर हाथ धोएं


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)