Foods For Fatty Liver: फैटी लीवर की समस्या से छुटकारा पाने के लिए कमाल हैं ये 2 फूड्स, अद्भुत हैं इनके फायदे!

How To Get Rid Of Fatty Liver: फैटी लीवर की समस्या होने पर लीवर सामान्य रूप से कार्य करने में असमर्थ हो जाता है. ऐसे में फीटी लीवर के लिए आंवला (Amla For Fatty Liver) काफी लाभकारी माना जाता है. साथ ही फैटी लीवर के लिए गिलोय (Giloy For Fatty Liver) भी कमाल है. यहां जानें ये दोनों सुपरफूड्स लीवर की किन-किन समस्याओं से निजात दिलाने में मदद कर सकते हैं.

Foods For Fatty Liver: फैटी लीवर की समस्या से छुटकारा पाने के लिए कमाल हैं ये 2 फूड्स, अद्भुत हैं इनके फायदे!

Foods For Fatty Liver: गिलोय और आंवला का सेवन कर लीवर को हेल्दी रखा जा सकता है

खास बातें

  • फैटी लीवर से निजात पाने के लिए कारगर हैं ये दो फूड्स.
  • आंवला फैटी लीवर की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है.
  • यह लीवर से विषाक्त पदार्थों को दूर करने में भी सहायक है.

What To Eat In Fatty Liver: मानव शरीर में अतिरिक्त वसा कोशिकाएं त्वचा के नीचे बस सकती हैं और मोटापे का कारण बनती हैं. इसके अलावा, वे विशिष्ट अंगों में भी बस सकती हैं और लीवर (Liver) उनमें से एक है. जब लीवर में फैट जमा होने लगता है, तो फैटी लीवर की समस्या (Fatty Liver Problems) हो जाती है. खराब जीवनशैली और खानपान की वजह से कई लोगों को फैटी लीवर की बीमारी हो जाती है. हालांकि फैटी लीवर के लिए फूड्स (Foods For Fatty Liver) काफी फायदेमंद हो सकते हैं. वैसे तो कई फूड्स हैं जो फैटी लीवर में कमाल के फायदे दे सकते हैं, लेकिन यहां ऐसे दो फूड्स के बारे में बताया गया है जो इस समस्या से लड़ने के लिए चमत्कार कर सकते हैं. जी हां! ये दो फूड्स फैटी लीवर के लिए आयुर्वेदिक उपाय (Ayurvedic Remedy For Fatty Liver) का काम कर सकते हैं. आयुर्वेद में, लीवर एक पित्त अंग है, जो सामान्य पाचन और उन्मूलन के लिए बहुत जरूरी है. इसलिए, पित्त दोष हमेशा संतुलन में होना चाहिए ताकि शरीर से लीवर द्वारा विषाक्त पदार्थों को समाप्त किया जाए. कई लोग सवाल करते हैं कि फैटी लीवर से छुटकारा पाने के उपाय (Ways To Get Rid Of Fatty Liver) क्या है? या फैटी लीवर को कैसे ठीक करें? तो आपको बता दें डाइट और लाइफस्टाइल में बदलाव कर इस समस्या से राहत मिल सकती है.

फैटी लीवर के लिए डाइट (Diet For Fatty Liver) में आपको सिर्फ आंवला और गिलोय शामिल करना है. औषधीय गुणों से भरपूर ये दोनों चीजों फैटी लीवर के इलाज (Fatty Liver Treatment) में मददगार हो सकती हैं. फैटी लीवर की समस्या होने पर लीवर सामान्य रूप से कार्य करने में असमर्थ हो जाता है. ऐसे में फीटी लीवर के लिए आंवला (Amla For Fatty Liver) काफी लाभकारी माना जाता है. यह लीवर की कार्यक्षमता में भी सुधार कर सकता है. साथ ही फैटी लीवर के लिए गिलोय (Giloy For Fatty Liver) भी कमाल है. यहां जानें ये दोनों सुपरफूड्स लीवर की किन-किन समस्याओं से निजात दिलाने में मदद कर सकते हैं.

लीवर को हेल्दी रखता है गिलोय | Giloy Keeps The Liver Healthy

1. महामारी के दौरान इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने के लिए कई लोगों ने गिलोय का काढ़ा के रूप में खूब सेवन किया, लेकिन क्या आप जानते हैं कि गिलोय का सेवन कर आप लीवर की समस्याओं को भी दूर रख सकते है. यह आयुर्वेदिक औषधि लीवर को हेल्दी रखने में काफी कारगर मानी जाती है.

ael3vu2gWhat To Eat In Fatty Liver: फैटी लीवर की समस्या को दूर करने के लिए करें गिलोय का सेवन

2. गिलोय न केवल डायजेशन सिस्टम को मजबूत करती है, बल्कि फैटी लीवर की समस्या से भी राहत दिला सकती है. गिलोय लीवर से टाक्सिस को बाहर निकालने में मददगार मानी जाती है.

3. गिलोय के कुछ तने लें और उन्हें एक गिलास पानी में तब तक उबालें जब तक कि पानी कम मात्रा में न रह जाए. पानी को छान लें और रोजाना इसका सेवन करें. यह आपके रक्त को शुद्ध करने, विषाक्त पदार्थों को हटाने और रोग पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में मदद कर सकता है.

आंवाला है लीवर के लिए वरदान | Amla Is A Boon For Liver

1. आंवला एक सुपरफूड है, जो कई कमाल के स्वास्थ्य लाभों के लिए जाना जाता है. आंवले में एंटी आक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं. इस वजह से यह लीवर को तेजी से काम करने में मदद करता है और लीवर की कार्यप्रणाली में सुधार कर लीवर की समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकता है.

cjgom7fgFoods For healthy Liver: आंवला लीवर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद कर सकता है

2. कच्चे आंवले खाने से फैटी लीवर से परेशान लोगों को आराम मिल सकता है. इसके साथ ही आंवले की चटनी और जूस का सेवन भी काफी फायदेमंद हो सकता है. जो लोग फैटी लीवर की बीमारी से लंबे समय से परेशान हैं, उनके लिए आंवला का जूस भी काफी फायदेमंद हो सकता है. आंवला लीवर में जमा होने वाले वसा को कम करने में मदद कर सकता है.

3. इस आश्चर्य फल में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट शरीर से विषाक्त पदार्थों को साफ करने में मदद करते हैं और परिणामस्वरूप क्षति से लीवर की रक्षा करते हैं.

4 आंवला का उपयोग लीवर सिरोसिस, शराबियों के लीवर की गंभीर क्षति और हेपेटाइटिस से पीड़ित लोगों के उपचार में भी किया जाता है. अध्ययनों से यह भी साबित हुआ है कि आंवला लीवर फाइब्रोसिस की शुरुआत को रोक सकता है.

5. यह फैटी लीवर की बीमारी को रोकने के लिए प्राकृतिक उपचार के रूप में भी काम करता है. आंवला च्यवनप्राश के महत्वपूर्ण घटकों में से एक है जो प्रतिरक्षा बढ़ाने और पाचन क्रिया के साथ-साथ यकृत-सुरक्षात्मक क्रिया भी करता है.

VIDEO: Covid-19 Vaccination: टीकाकरण आज से, किसे नहीं लगवाना चाहिए कोरोना का टीका, जान लें जरूरी बातें | एनडीटीवी सेहत वेहत चैनल को लाइक और सबस्‍क्राइब करें.



Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है