बासी रोटी Diabetes रोगियों के लिए है कमाल! क्या बासी रोटी खाने से ब्लड प्रेशर भी हो सकता है कंट्रोल?

Basi Roti For Diabetes: डायबिटीज में रोजाना घटते-बढ़ते ब्लड शुगर लेवल को मैनेज (Manage Blood Sugar Level) करना सबसे बड़ी चुनौती होता है. क्या बासी रोटी खाने से डायबिटीज (Diabetes) को कंट्रोल किया जा सकता है? क्या बासी रोटी का सेवन ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को भी नॉर्मल कर सकता है? यहां हम बता रहे हैं इन्हीं सवालों का जवाब...

बासी रोटी Diabetes रोगियों के लिए है कमाल! क्या बासी रोटी खाने से ब्लड प्रेशर भी हो सकता है कंट्रोल?

Baasi Roti For Diabetes: बासी रोटी डायबिटीज में ब्लड शुगर को मैनेज करने में मदद कर सकती है.

खास बातें

  • बासी रोटी को डायबिटीज में कर सकते हैं शामिल!
  • बासी रोटी ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में फायदेमंद!
  • यहां जानें बासी रोटी का सुबह कैसे करें सेवन.

Stale Roti For Diabetes: डायबिटीज में रोजाना घटते-बढ़ते ब्लड शुगर लेवल को मैनेज (Manage Blood Sugar Level) करना सबसे बड़ी चुनौती होता है. बासी रोटी डायबिटीज के लिए (Basi Roti For Diabetes) फायदेमंद हो सकती है. बासी रोटी को डायबिटीज डाइट (Diabetes Diet) में शामिल किया जा सकता है. साथ ही बासी रोटी का सेवन ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को भी नॉर्मल कर सकता है. क्या आप भी अक्सर बासी रोटी (Stale Chapati) को फेंक देते हैं? या जानवरों को खिलाते हैं. रोटी आपकी डाइट में डेली रुटीन का अहम हिस्सा हो सकती है, लेकिन क्या आप बासी रोटी खाने के फायदे (Benefits Of Basi Roti) जानते हैं. हमारे घर में रोजाना कई सारी रोटियां बच जाती हैं लेकिन हम उनका दुबारा इस्तेमाल करना पसंद नहीं करते हैं. आपको जानकर हैरान होगी कि बासी रोटी खाने से डायबिटीज कंट्रोल (Control Diabetes) करने में फायदा हो सकता है. हालाकि कई घंटो तक बासी खाना (Stale Food) खाने से आपको दस्‍त, फूड पॉइजनिंग, एसिडिटी और भी कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं हो सकती हैं, लेकिन कम ही लोगों को यह बात पता है कि बासी रोटी खाने से आपको नुकसान नहीं, फायदे हो सकते हैं. बासी रोटी खाने से न सिर्फ डायबिटीज (Diabetes) को कंट्रोल किया जा सकता है बल्कि ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को भी नॉर्मल किया जा सकता है. बासी रोटी स्वास्थ्य लाभों (Stale Chapati Health Benefits) में पोहा, ओट्स को भी टक्कर दे सकती है. यहां जानें बासी रोटी खाने के फायदों के बारे में...

बासी रोटी ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने में फायदेमंद | Basi Roti Is Beneficial In Managing Blood Sugar Level

वैसे कई सारे आटे हैं जिनकी रोटियां स्वास्थ्य के लिए बेहतरीन हो सकती हैं, लेकिन गेहूं के आटे से बनी बासी रोटी पोषक तत्वों से भरपूर होती है. इसमें हाई फाइबर, लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स और सोडियम की मात्रा कम होती है, जो इसे नाश्ते के लिए एकदम सही और स्‍वस्‍थ बनाता है.

1. बासी रोटी डायबिटीज में फायदेमंद 

रात की बची हुई बासी रोटी को सुबह खाने से आपका ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल हो सकता है. बासी रोटी आपके ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करके डायबिटीज कंट्रोल करने में मददगार हो सकता है. अगर आप डायबिटीक हैं तो आप रोजाना सुबह दूध के साथ बासी रोटी खा सकते हैं. दिन में किसी भी समय बासी रोटी को 10 से 15 मिनट दूध में भीगो कर खाने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल हो सकता है.

ail6hop8Stale Chapati For Diabetes: बासी रोटी खाने से डायबिटीज को कंट्रोल कर सकते हैं

2. पाचन लिए भी फायदेमंद है बासी रोटी

कई लोगों अक्सर पेट में दर्द या अपच की शिकायत रहती है. ऐसे में बासी रोटी आपके पेट के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद हो सकती है. अगर आपको कब्ज या एसिडिटी की समस्या रहती है तो आप रात को सोने से पहले बासी रोटी को दूध के साथ खा सकते हैं.

3. बासी रोटी ब्‍लड प्रेशर करेगी कंट्रोल 

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए न जाने आप क्या-क्या करते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं बासी रोटी से ब्लड प्रेशर को नॉर्मल किया जा सकता है. ठंडे दूध के साथ बासी रोटी खाने से हाई ब्‍लड प्रेशर के रोगियों में ब्‍लड प्रेशर लेवल कंट्रोल किया जा सकता है. इसके लिए दूध में आधे घंटे तक बासी रोटी को भिगोएं और फिर खाएं. बासी रोटी को एक हेल्‍दी स्नैक्‍स के रूप में भी खाया जा सकता है. 

3o1bvti8BasiRoti For BP: बासी रोटी खाने से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है!

4. वर्कआउट के लिए लाभदायक


अगर आप वर्कआउट करने जा रहे हैं तो बासी रोटी आपके लिए लाभकारी हो सकती हैं. इससे आपकी मसल्स मजबूत हो सकती हैं और आपको एनर्जी मिल सकती है. इसके अलावा शरीर का तापमान भी कंट्रोल करने में यह फायदेमंद हो सकती है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.