Arthritis Diet: गठिया में हाई यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए कमाल हैं ये 5 चीजें, बस इन फूड्स से बना लें दूरी!

Foods To Avoid In Uric Acid: गठिया की बीमारी में कई लोग हमेशा के लिए बिस्तर पकड़ लेते हैं. ऐसे में अगर खानपान पर ध्यान दिया जाए तो गठिया से लड़ा जा सकता है. गठिया में क्या खाना चाहिए? ये सवाल हर पीड़ित व्यक्ति के जहन में आता होगा. क्योंकि गठिया में यूरिक एसिड को घटाने के लिए कुछ फूड्स काफी फायदेमंद हो सकते हैं.

Arthritis Diet: गठिया में हाई यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए कमाल हैं ये 5 चीजें, बस इन फूड्स से बना लें दूरी!

How To Reduce Uric Acid: यूरिक एसिड को घटाने के लिए गठिया में क्या खाएं और क्या नहीं?

खास बातें

  • गठिया के मरीजों को यूरिक एसिड कंट्रोल करने के उपाय करने चाहिए.
  • यहां जानें यूरिक एसिड घटाने के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?
  • रोजाना एक सेब खाने से कई कमाल के फायदे मिल सकते हैं.

What To Eat In Arthritis: गठिया की बीमारी में कई लोग हमेशा के लिए बिस्तर पकड़ लेते हैं. ऐसे में अगर खानपान पर ध्यान दिया जाए तो गठिया से लड़ा जा सकता है. गठिया में क्या खाना चाहिए? ये सवाल हर पीड़ित व्यक्ति के जहन में आता होगा. क्योंकि गठिया में यूरिक एसिड (Uric Acid) को घटाने के लिए कुछ फूड्स काफी फायदेमंद हो सकते हैं. अर्थराइटिस की बीमारी शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने से होती है. यानि कि सबसे पहले यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के उपाय करने जरूरी है. अर्थराइटिस डाइट में ऐसे फूड्स को शामिल करना चाहिए जो यूरिक एसिड को घटाने में मदद कर सकें साथ ही शरीर की सूजन और जोड़ों के दर्द को दूर करने में कारगर हों. वहीं यूरिक एसिड में फूड्स से परहेज करना चाहिए जो गठिया का खतरा बढ़ा सकते हैं. अर्थराइटिस इंसान को चलने-फिरने में भी लाचार कर देती है.

ऐसे में कई लोग सवाल करते हैं कि यूरिक एसिड को कैसे घटाएं? आपको कुछ ऐसी चीजों को डाइट में शामिल करना चाहिए जो गठिया में यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद करें. इससे गठिया में होने वाले दर्द, अकड़न और सूजन की समस्या को काफी हद तक कम किया जा सकता है. यहां बताया गया है कि आपको यूरिक एसिड घटाने के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

यूरिक एसिड को घटाने के क्या खाएं और क्या नहीं | What To Eat And What Not To Reduce Uric Acid

1. डेयरी

दूध, दही और पनीर कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर होते हैं. इन पोषक तत्वों से हड्डियों की शक्ति बढ़ती है, जिससे दर्दनाक लक्षण ठीक हो सकते हैं. डेयरी में प्रोटीन भी होता है जो मांसपेशियों के निर्माण में मदद कर सकता है. जो लोग अपना वेट मैनेज करना चाहते हैं, वे कम वसा वाले विकल्प चुन सकते हैं.

2. गठिया में सेब खाएं

सेब एक ऑर्गेनिक फल है. रोजाना सेब का सेवन कर आप खुद को एनर्जेटिक तो रख ही सकते हैं इसके साथ ही यह कई एंटी ऑक्सीडेंट्से से भी भरपूर होता है. ऐसे में रोजाना एक सेब खाने से गठिया में यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है. गठिया के मरीज रोजाना सेब खा सकते हैं. सेब पाचन को बेहतर बनाने के लिए काफी लाभदायक माना जाता है.

3un7kdscWhat To Eat In Arthritis: अर्थराइटिस में यूरिक एसिड को घटाने के लिए सेब खाएं

3. अलसी के बीज घटाएंगे यूरिक एसिड

रोजाना अलसी के बीजों का सेवन करने से न सिर्फ आप पेट को हेल्दी रख सकते हैं बल्कि ये यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में भी आपकी मदद कर सकते हैं. आप हर दिन एक छोटा चम्मच अलसी के बीजों का सेवन कर सकते हैं. इन बीजों का सेवन सुबह खाली पेट भी किया जा सकता है. रात को अलसी के बीजों को भिगो दें और सुबह खाली खाने से काफी फायदा हो सकता है. आप इनको स्मूदी में भी शामिल कर सकते हैं.

4. विटमिन-सी का सेवन करें

खट्टे फलों में विटामिन सी की मात्रा काफी होती है. कई लोग जोड़ों में दर्द के कारण खट्टी चीजों को खाने से परहेज करते हैं, लेकिन अगर आप विटामिन सी से भरपूर चीजों का सेवन करते हैं तो ये शरीर से यूरिक एसिड को कम करने में मददगार हो सकता है. आप जैसे संतरा, मौसमी, नींबू, अनानास, कीवी और बेरीज का रोजाना सेवन कर सकते हैं. 

5. बथुआ को डाइट में शामिल करें

गठिया से परेशान लोगों को बथुए का सेवन जरूर करना चाहिए. बथुआ गठिया के रोगियों के लिए किसी औषधि की तरह काम कर सकता है. आप बथुए के जूस का सेवन नियमित रूप से कर सकते हैं. हर दिन बथुए का जूस पीने से आपको यूरिक एसिड घटाने में काफी मदद मिल सकती है. बथुए का सेवन सिर्फ सीजन में ही करें तो बेहतर होगा.

mcum53mo

गठिया में इन फूड्स को खाने से करें परहेज | Avoid Eating These Foods In Arthritis

- गठिया के रोगियों को ऐसा भोजन खाने से बचना चाहिए जिसमें प्रोटीन काफी मात्रा में हो. बहुत ज्यादा प्रोटीन शरीर में यूरिक एसिड को बढ़ा सकता है.

- गठिया के मरीजों को दही के सेवन से दूरी बनानी चाहिए. यह भी शरीर में दर्द और सूजन को बढ़ा सकती है.

- डीप फ्राइड चीजों के सेवन से बचें. ये न सिर्फ गठिया में आपके लिए नुकसादायक हो सकती है बल्कि कई और समस्याओं को भी जन्म दे सकती हैं.

- मैदा के सेवन से भी बचना चाहिए, क्योंकि मैदा फैट बढ़ाने और पेट में गैस बनाने का काम करता है. गठिया में हेल्दी वजन बनाए रखना जरूरी होता है.

- मछली के सेवन भी परहेज करें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.