विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 15, 2023

AIIMS के डॉक्टरों ने 90 सेकंड में मां के पेट में ही कर डाली बच्चे की सफल Heart Surgery, डॉक्टर बोले, काफी रिस्की था काम

एम्स दिल्ली ने मां के गर्भ में अंगूर के आकार के बच्चे के दिल में सफल बैलून डाइलेशन किया. प्रक्रिया के बाद बच्चा और मां दोनों ठीक हैं.

Read Time: 5 mins
AIIMS के डॉक्टरों ने 90 सेकंड में मां के पेट में ही कर डाली बच्चे की सफल Heart Surgery, डॉक्टर बोले, काफी रिस्की था काम
प्रक्रिया कार्डियोथोरेसिक साइंसेज सेंटर, एम्स में की गई थी.

पिछली 3 प्रेगनेंसी लॉस (Pregnancy Loss) के बाद एक 28 वर्षीय गर्भवती महिला (Pregnant Woman) को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. जांच के बाद डॉक्टरों ने बच्चे की हार्ट (Heart) कंडिशन के बारे में माता-पिता को बताया. वे गर्भावस्था को जारी रखना चाहते थे. माता-पिता भी पूरी प्रक्रिया के लिए तैयार हो गए. प्रक्रिया कार्डियोथोरेसिक साइंसेज सेंटर, एम्स में की गई थी. इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट और फेटल मेडिसिन स्पेशलिस्ट की टीम ने एक सफल प्रक्रिया की.

रिसर्च में हुआ खुलासा यूरिन टेस्ट से bladder cancer का चल सकता है पता! 

प्रक्रिया के बाद बच्चा और मां दोनों ठीक हैं:

एम्स के ऑब्सट्रक्टिव और गायनेकोलॉजी (फेटल मेडिसिन) विभाग के साथ कार्डियोलॉजी और कार्डियक एनेस्थीसिया विभाग के डॉक्टरों की टीम के अनुसार, "प्रक्रिया के बाद बच्चा और मां दोनों ठीक हैं. डॉक्टरों की टीम हार्ट चेंबर की ग्रोथ की निगरानी कर रही है.

Advertisement

टीम ने आगे कहा, "बच्चे की मां के गर्भ में होने पर कुछ प्रकार की गंभीर हार्ट डिजीज को डायग्नोस किया जा सकता है. कभी-कभी गर्भ में उनका इलाज करने से जन्म के बाद बच्चे की हेल्थ में सुधार हो सकता है और सामान्य ग्रोथ हो सकती है."

गर्मियों में इन 3 कारणों से सबसे बेहतरीन और हाइड्रेटिंग ड्रिंक है जलजीरा, न्यूट्रिशनिष्ट ने बताए फायदे

इस प्रक्रिया को बच्चे के हार्ट में ऑब्सट्रक्टेड वाल्ब में बैलून डाइलेशन कहा जाता है.

प्रक्रिया अल्ट्रासाउंड मार्गदर्शन में की जाती है, "हमने मां के पेट के जरिए बच्चे के दिल में एक सुई डाली. फिर, एक बैलून कैथेटर का उपयोग करके हमने ब्लड फ्लो में सुधार के लिए ऑब्सट्रक्टेड वाल्व खोल दिया. हम उम्मीद करते हैं कि बच्चे के हार्ट की बेहतर ग्रोथ होगी " सर्जरी करने वाले सीनियर डॉक्टर ने बताया.

डॉक्टर ने कहा कि इस तरह की प्रक्रिया से बच्चे के जीवन का खतरा हो सकता है और इसे अत्यंत सावधानी से किया जाना चाहिए.

"इस तरह की प्रक्रिया बहुत चुनौतीपूर्ण होती है क्योंकि इससे भ्रूण के जीवन को भी खतरा हो सकता है. सब कुछ सभी अल्ट्रासाउंड के तहत किया जाना है. आमतौर पर सभी प्रक्रियाएं हम एंजियोग्राफी के तहत करते हैं, लेकिन इस मामले मे ऐसा नहीं किया जा सकता था."एम्स में कार्डियोथोरेसिक साइंसेज सेंटर की टीम के सीनियर डॉक्टर ने कहा.

"हमने समय को माप लिया था, यह केवल 90 सेकंड था," उन्होंने कहा.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
ब्रश करने से नहीं हटता दांतों का पीलापन, तो दही में ये चीज मिलाकर 2 मिनट तक रगड़ें, मददगार है ये घरेलू नुस्खा
AIIMS के डॉक्टरों ने 90 सेकंड में मां के पेट में ही कर डाली बच्चे की सफल Heart Surgery, डॉक्टर बोले, काफी रिस्की था काम
क्या चावल का पानी चेहरे को ग्लोइंग और जवां दिखाता है? जानिए त्वचा पर चावल का पानी लगाने के फायदे
Next Article
क्या चावल का पानी चेहरे को ग्लोइंग और जवां दिखाता है? जानिए त्वचा पर चावल का पानी लगाने के फायदे
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;