Navratri 5th Day: कल है नवरात्रि का पांचवां दिन, नोट करें पूजन विधि, मंत्र और प्रसाद रेसिपी

Chaitra Navratri 2022 5th Day: नवरात्रि के पांचवें दिन मां दुर्गा की स्कंदमाता के रूप में पूजा की जाती है. इन्हें पद्मासनादेवी भी कहते हैं. कुमार कार्तिकेय की माता होने के कारण इनका नाम स्कंदमाता पड़ा.

Navratri 5th Day: कल है नवरात्रि का पांचवां दिन, नोट करें पूजन विधि, मंत्र और प्रसाद रेसिपी

Navratri 5th Day: माना जाता है कि स्कंदमाता अपने भक्तों से बहुत जल्द प्रसन्न हो जाती है.

खास बातें

  • नवरात्रि के पांचवें दिन स्कंदमाता की पूजा की जाती है.
  • स्कंदमाता मोक्ष प्रदान करने वाली देवी हैं.
  • स्कंदमाता को केले का भोग लगाया जाता है.

Navratri 2022 Day 5 In Hindi: नवरात्रि के पांचवें दिन मां दुर्गा की स्कंदमाता के रूप में पूजा की जाती है. इन्हें पद्मासनादेवी भी कहते हैं. कुमार कार्तिकेय की माता होने के कारण इनका नाम स्कंदमाता पड़ा. माना जाता है कि इस दिन स्कंदमाता की पूजा (Chaitra Navratri 2022) करने से जीवन मे सुख और शांति आती है. स्कंदमाता (Skandamata) मोक्ष प्रदान करने वाली देवी हैं. स्कंदमाता की चार भुजाएं हैं, इनके दाहिनी तरफ की नीचे वाली भुजा, जो ऊपर की ओर उठी हुई है, उसमें कमल पुष्प है. बाईं तरफ की ऊपर वाली भुजा में वरमुद्रा में तथा नीचे वाली भुजा जो ऊपर की ओर उठी है उसमें भी कमल पुष्प ली हुई हैं. ये कमल के आसन पर विराजमान रहती है. माना जाता है कि स्कंदमाता अपने भक्तों से बहुत जल्द प्रसन्न हो जाती है. ऐसी मान्यता है कि स्कंदमाता की पूजा करने से मोक्ष के द्वार खुल जाते हैं. वहीं नि:संतान को माता के आर्शीवाद से संतान प्राप्ति होती है. इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनें जाते हैं. स्कंदमाता को केले और केले से बनी चीजों का भोग लगाया जाता है.

स्कंदमाता को लगाएं केले के हलवे का भोग- How To Make Banana Halwa On Navratri 5th Day:

नवरात्रि के पांचवें दिन आदिशक्ति मां दुर्गा की स्कंदमाता के रूप में पूजा की जाती है. इन्हें पद्मासनादेवी भी कहते हैं. कुमार कार्तिकेय की माता होने के कारण इनका नाम स्कंदमाता पड़ा. मां स्कंदमाता को केले या केले से बनी रेसिपी का भोग लगाया जाता है. आप माता को केले के हलवे भोग लगा सकते हैं. केले का हलवा बनाना बहुत ही आसान है. 

2dhnjg5o

सामग्री-

  • केला 
  • घी
  • चीनी
  • इलाइची पाउडर

विधि-

  1. केले का हलवा बनाने के लिए सबसे पहले केलों को छीलकर गोलाई में काट लें.
  2. फिर पैन में घी को गर्म करें और उसमें केले डालें.
  3. घी में केले तब तक भूनें जब तक नरम न हो जाए.
  4. फिर चीनी और जरूरत के मुताबिक पानी डालें.
  5. धीमी आंच पर मिश्रण गाढ़ा होने तक पकाएं. 
  6. इसके बाद इलाइची पाउडर डालें, ठंडा करके भोग में चढ़ाएं. 

मां स्कंदमाता पूजा विधि- Skandamata Pujan Vidhi:

नवरात्रि के पांचवें दिन स्नान आदि से निवृत होकर, पीले रंगे के कपड़े पहनकर माता की पूजा करें. स्कंदमाता का स्मरण करें. इसके पश्चात स्कंदमाता को अक्षत्, धूप, गंध, पुष्प अर्पित करें. माना जाता है स्कंदमाता की पूजा करने से भगवान कार्तिकेय भी प्रसन्न होते हैं. माता को बताशा, पान, सुपारी, लौंग का जोड़ा, किशमिश, कमलगट्टा, कपूर, गूगल, इलायची आदि भी चढ़ाएं. फिर स्कंदमाता की आरती करें. 

मां स्कंदमाता मंत्र- Skandamata Mantra:

या देवी सर्वभूतेषु मां स्कन्दमाता रूपेण संस्थिता.
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:

Ashwagandha: Uses, Side Effects, Interactions, Dosage | सावधान! अश्वगंधा खाने के खतरनाक नुकसान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
       

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.
फूड की और खबरों के लिए जुड़े रहें.
Masala Rava Idli: क्लासिक रवा इडली को इस मसाला रवा इडली के साथ दें एक मसालेदार ट्विस्ट
Vrat-Friendly Tikki: नवरात्रि व्रत में कुछ चटपटा खाने का कर रहा है मन तो ट्राई करें व्रत फ्रेंडली आलू टिक्की
How To Beat The Heat: गर्मी से बचने के लिए इन चीजों को डाइट में करें शामिल
Sabudana Dal Khichdi: ब्रेकफास्ट के लिए झटपट बनाएं यह टेस्टी साबूदाना दाल खिचड़ी