भूमि घोटाले में पूछताछ के बाद शिवसेना नेता संजय राउत गिरफ़्तार, पार्टी की बड़े विरोध-प्रदर्शन की तैयारी : 10 बड़ी बातें

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुंबई के एक ‘चॉल’ के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े धन शोधन के एक मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को गिरफ्तार कर लिया है.

मुंबई: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुंबई के एक ‘चॉल’ के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े धन शोधन के एक मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि संजय राउत के घर से बेहिसाब नकदी बरामद की गई है. साथ ही कई दस्तावेज भी ईडी के हाथ लगे हैं. वहीं आज उन्हें रिमांड के लिए कोर्ट में पेश किया जाएगा. पार्टी अपने नेता की गिरफ्तारी के खिलाफ बड़े विरोध-प्रदर्शन की तैयारी कर रही है. पार्टी ने केंद्र सरकार पर उद्धव ठाकरे टीम को कमजोर करने के आरोप लगाए हैं.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. अधिकारियों ने बताया कि राउत (60) को दक्षिण मुंबई के बलार्ड एस्टेट में ईडी के मंडल कार्यालय में छह घंटे से अधिक समय तक चली पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया.जांच एजेंसी का एक दल रविवार सुबह 7 बजे मुंबई के भांडुप इलाके में राउत के आवास पहुंचा, जहां उन्होंने तलाशी ली, राउत से पूछताछ की और शाम तक उन्हें एजेंसी के स्थानीय कार्यालय में पूछताछ के लिए पेश होने का समन दिया.

  2. वहीं राउत को धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत रविवार देर रात 12 बजकर 40 मिनट पर हिरासत में लिया गया, क्योंकि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे.

  3. शिवसेना के सांसद संजय राउत ने रविवार को दक्षिण मुंबई में स्थित प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कार्यालय में प्रवेश करने से पहले कहा कि वह झुकेंगे नहीं और न ही पार्टी छोड़ेंगे.

  4. दरअसल राउत को भांडुप में उनके घर से ईडी कार्यालय ले जाया गया, जिसके बाहर उन्होंने पत्रकारों कहा, ''वे (ईडी) मुझे गिरफ्तार करने जा रहे हैं. मैं गिरफ्तार होने जा रहा हूं.''

  5. शिवसेना के राज्यसभा सदस्य राउत को मुंबई की एक विशेष पीएमएलए अदालत में पेश किया जाएगा. उनकी पेशी सुबह 11.30 बजे होगी. ईडी कोर्ट से उनकी हिरासत मांगेगी.

  6. जांचकर्ता राउत से मुंबई में एक चॉल के पुनर्विकास और उनकी पत्नी और करीबी सहयोगियों से संबंधित लेनदेन के संबंध में पूछताछ करना चाहते हैं.

  7. अप्रैल में, प्रवर्तन निदेशालय ने राउत की पत्नी वर्षा राउत और उनके दो सहयोगियों की 11.15 करोड़ से अधिक की संपत्ति कुर्क की थी. संपत्तियों में वर्षा राउत के दादर में एक फ्लैट और अलीबाग में किहिम समुद्र तट पर आठ प्लॉट शामिल हैं, जो संयुक्त रूप से वर्षा राउत और संजय राउत के "करीबी सहयोगी" सुजीत पाटकर की पत्नी स्वप्ना पाटकर के पास हैं.

  8. एजेंसी राउत से उनके करीबी सहयोगियों प्रवीण राउत और सुजीत पाटकर के साथ उनके "व्यापार और अन्य संबंधों" के बारे में और उनकी पत्नी से जुड़े संपत्ति सौदों के बारे में जानना चाहती है.

  9. गौरतलब है कि राउत इस मामले में अपना बयान दर्ज करवाने के लिए एक जुलाई को मुंबई में एजेंसी के समक्ष पेश हुए थे. इसके बाद एजेंसी ने उन्हें दो बार तलब किया था, लेकिन मौजूद संसद सत्र में व्यस्त रहने का हवाला देते हुए वो पेश नहीं हुए थे. (भाषा इनपुट के साथ)