Char Dham Yatra 2022: चार धाम के लिए यात्रियों की संख्या हुई सीमित, अब एक दिन में इतने श्रद्धालु कर सकते हैं दर्शन

Char Dham Yatra 2022: चार धाम की यात्रा के लिए श्रद्धालुओं की संख्या को सीमित कर दिया गया है. सरकारी निर्देशों के मुताबिक जानिए संख्या और आवागमन से जुड़े नियम.

Char Dham Yatra 2022: चार धाम के लिए यात्रियों की संख्या हुई सीमित, अब एक दिन में इतने श्रद्धालु कर सकते हैं दर्शन

Char Dham Yatra 2022: चार धाम की यात्रा 3 मई 2022 से शुरू होगी.

खास बातें

  • अक्षय तृतीया से शुरू होगी चार धाम की यात्रा.
  • दर्शन के लिए यात्रियों की संख्या की गई है सीमित.
  • जानिए एक दिन में कितने श्रद्धालु कर सकेंगे बद्रीनाथ के दर्शन.

Char Dham Yatra 2022: उत्तराखंड सरकार ने 3 मई 2022 यानी अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) के दिन शुरू होने वाली चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra) के लिए गाइडलाइन जारी की हैं. दरअसल, चार धाम की यात्रा के लिए श्रद्धालुओं की संख्या को सीमित कर दिया गया है. सरकारी निर्देशों के मुताबिक अब रोजाना सिर्फ 15 हजार श्रद्धालु ही बाबा बद्रीनाथ के दर्शन के लिए जा सकेंगे. वहीं, केदारनाथ दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की संख्या 12 हजार प्रतिदिन निर्धारित की गई है. इसके अलावा गंगोत्री (Gangotri) और यमुनोत्री जाने वाले यात्रियों की संख्या को भी सीमित कर दिया गया है. 

श्रद्धालु सीमित संख्या में कर सकेंगे चार धाम की यात्रा
 

गंगोत्री धाम के दर्शन के लिए रोजाना सिर्फ 7,000 श्रद्धालु ही जा सकते हैं जबकि यमुनोत्री (Yamunotri) के दर्शन के लिए रोजाना 4,000 श्रद्धालुओं को ही जाने की अनुमति होगी. बता दें कि चार धाम की यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए ऐसी व्यवस्था अगले 45 दिनों तक लागू रहेगी. श्रद्धालुओं को आगमन से पहले राज्य सरकार के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा. 

वाहनों के आवागमन की रहेगी ऐसी व्यवस्था

चार धाम की यात्रा में जाने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए रात 10 बजे से सुबह 4 बजे तक वाहनों के आवागमन पर भी रोक लगा दी गई है. यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को कोविड के अनुरूप व्यवहार का पालन करना होगा. 


चार धाम यात्रा के लिए क्या है रजिस्ट्रेशन की प्रकिया

चार धाम की यात्रा के लिए श्रद्धालु पर्यटन विभाग के आधिकारिक पोर्टल https://uttarakhandtourism.gov.in पर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. बता दें कि बीते दो वर्षों से कोरोना महामारी के कारण चार धाम की यात्रा प्रभावित थी. इस साल भारी संख्या में श्रद्धालुओं के जाने की संभावना है. इसके लिए उत्तराखंड सरकार ने यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था की है. इसके अलावा श्रद्धलुओं के खान-पान और पार्किंग की भी व्यवस्था की गई है.  

सिटी सेंटर: हनुमान मंदिर के सेवादार यूसुफ पेश कर रहे भाईचारे की मिसाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)