Ganesh Jayanti: माघ मास में है गणेश जयंती, जानिए आज पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

विघ्नहर्ता श्री गणेश जी के भक्तों को गणेश चतुर्थी की तरह ही उनके जन्मदिन का भी इंतजार रहता है. माघ माह में मनाए जाने वाली गणेश चतुर्थी को माघी गणेश चतुर्थी या माघी गणेश जयंती भी कहते है. साल 2022 में गणेश जयंती आज 04 फरवरी दिन, शुक्रवार को मनाई जा रही है. आइए जानते हैं गणेश जयंती के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व.

Ganesh Jayanti: माघ मास में है गणेश जयंती, जानिए आज पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व

Ganesh Jayanti: आज है विघ्नहर्ता श्री गणेश जयंती, जानें शुभ मुहूर्त

नई दिल्ली:

हिंदू धर्म (Hindusim) में माघ के महीने (Magha Month) का विशेष महत्व है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, माघ मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी (Magh Month Chaturthi) तिथि के दिन विघ्नहर्ता श्री गणेश जी का जन्मदिन (Ganesh Ji Janamdin) मनाया जाता है. साल 2022 में आज गणेश जयंती 4 फरवरी दिन, शुक्रवार को मनाई जा रही है. विघ्नहर्ता श्री गणेश जी (Ganesh Ji) के भक्तों को गणेश चतुर्थी की तरह ही उनके जन्मदिन का भी इंतजार रहता है. माघ माह में मनाए जाने वाली गणेश चतुर्थी (Ganesh Jayanti Vrat) को माघी गणेश चतुर्थी या माघी गणेश जयंती भी कहते है.

हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार, माघ शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को सर्वप्रथम गणेश तरंगें धरती पर आईं थीं. कहते हैं गौरी गणेश को समर्पित गणेश जयंती पर उपवास करने से जीवन में सुख, समृद्धि और खुशहाली आती है. आइए जानते हैं गणेश जयंती के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त और महत्व.

vf5v2tp

गणेश जयंती तिथि और शुभ मुहूर्त | Ganesh Jayanti Tithi And Shubh Muhurat

  • चतुर्थी तिथि का आरंभ-  04 फरवरी, शुक्रवार, प्रात: 04: 38 मिनट से,
  • चतुर्थी तिथि का समाप्त- 05 फरवरी, शनिवार, प्रात: 03: 47 मिनट तक.
  • शुभ मुहूर्त- 04 फरवरी, शुक्रवार, सुबह 11: 30 मिनट से दोपहर 01: 41 मिनट मध्य तक का समय पूजा के लिए उत्तम है. इस दौरान गणेश जन्मोत्सव मनाया जा सकता है. इस दिन शुक्रवार होने के कारण गणेश जी के साथ मां लक्ष्मी भी का भी आशीर्वाद मिलेगा, क्योंकि गणेश जी मां लक्ष्मी के दत्तक पुत्र हैं.
  • कुल अवधि- 02 घंटा 11 मिनट.

lord ganesha

गणेश जयंती का महत्व |Importance Of Ganesh Jayanti

गणेश जयंती के दिन का विशेष धार्मिक महत्व होता है. पौराणिक कथाओं के अनुसार, माता पार्वती ने उबटन से श्री गणेश जी की रचना कर, उनमें प्राण प्रतिष्ठा की थी. उस समय माघ मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी थी. इस वजह से इस दिन गणेश जयंती मनाई जाती है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, जो व्यक्ति गणेश जयंती के दिन विधि-विधान से गौरी गणेश का पूजन करते हैं, उन्हें पूरे साल के गणेश चतुर्थी व्रत का फल मिलता है. उस व्यक्ति की उन्नति में भाग्य सहायक बन जाता है, जीवन में शुभता बढ़ती है और मृत्यु के बाद मोक्ष की प्राप्ति होती है.

r16h4658

बता दें कि माघ मास की विनायक चतुर्थी (Vinayak Chaturthi 2022) के दिन गणेश जयंती मनाई जाती है. विनायक चतुर्थी के दिन चंद्रमा के दर्शन नहीं किए जाते. इस दिन भूलकर भी चंद्रमा के दर्शन न करें. गणेश जयंती के दिन मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर समेत देशभर के गणेश मंदिरों में गणपति का जन्मोत्सव हर्षोल्लास से मनाया जाता है. इस दिन मंदिर में मंत्रोउच्चारण कर भगवान गणेश का आह्वान किया जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)