राजधानी दिल्ली में प्रदूषण रोकने के लिए कल से लागू होगा GRAP

कूड़े के निस्तारण के लिए दीर्घकालिक (long term) उपाय किए जाएं, जिससे जगह-जगह कूड़ा जलाने की घटनाओं पर लगाम लगाई जा सके. वायु प्रदूषण में एक बड़ा हिस्सा कूड़ा जलने से है.

राजधानी दिल्ली में प्रदूषण रोकने के लिए कल से लागू होगा GRAP

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गुरुवार से प्रदूषण (Delhi Pollution) को लेकर ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (GRAP) लागू कर दिया जाएगा. बता दें कि दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी ने जिम्मेदार संस्थाओं को प्रदूषण को रोकने के लिए पर्यावरणीय प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (EPCA) के प्लान को सही से लागू कराने को कहा है. ग्रैप (GRAP) के तहत यह सुनिश्चित किया जाए कि वायु प्रदूषण वाले सभी हॉटस्पॉट्स पर ईपीसीए के प्लान को ठीक से लागू किया जाए और इसके नियमों का अनुपालन हो रहा है या नहीं इसके लिए भी निगरानी की जाए.

वायु प्रदूषण के खिलाफ जीरो टॉलेरेंस (zero tolerance) अपनाते हुए रात के समय पेट्रोलिंग की जाए कि हॉटस्पॉट वाले इलाकों में कहीं भी किसी प्रकार का वायु प्रदूषण ना हो, जिसमें कूड़ा जलाना और धूल से होने वाला प्रदूषण मुख्य है.

यह भी पढ़ें- दिल्ली सहित इन राज्यों में प्रदूषण रोकने के लिए EPCA का ये प्लान लागू करने का आदेश

ईपीसीए के चेयरमैन ने हॉटस्पॉट का दौरा किया और पाया कि सर्दियों से पहले वायु की गुणवत्ता में सुधार के लिए वायु प्रदूषण के श्रोतों पर लगाम लगाना ज़रूरी है और इसके लिए ज़मीनी स्तर पर निगरानी ज़रूरी है और धूल से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए स्मॉग गन जैसी तकनीकों को बढ़ावा दिया जाए.

कूड़े के निस्तारण के लिए दीर्घकालिक (long term) उपाय किए जाएं, जिससे जगह-जगह कूड़ा जलाने की घटनाओं पर लगाम लगाई जा सके. वायु प्रदूषण में एक बड़ा हिस्सा कूड़ा जलने से है.

जहां संभव हो सड़कों और गलियों में मशीनों के ज़रिए दिन और रात में झाड़ू लगाने की व्यवस्था की जाए. सड़कों पर पानी का छिड़काव किया जाए और धूल से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए संभव कदम उठाए जाएं.

दिल्ली में प्रदूषण की स्तिथि के मद्देनजर पर्यावरण मंत्री गोपाल राय को केवल प्रदूषण पर फोकस करने के लिए कहा गया है. श्रम मंत्रालय का ज़िम्मा उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को दिया गया. अभी तक गोपाल राय पर्यावरण मंत्रालय और श्रम मंत्रालय दोनों संभाल रहे थे लेकिन अब केवल पर्यावरण मंत्रालय पर फोकस करने के लिए कहा गया है.


पिछले कई दिनों से गोपाल राय दिल्ली में अलग-अलग जगह जाकर प्रदूषण संबंधित नियमों की जांच कर रहे हैं और जुर्माना लगा रहे हैं.

देस की बात: दिल्ली की हवा में घुलने लगा जहर, बढ़ता प्रदूषण का खतरा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com