Delhi Rains : दिल्ली ने 100 mm बारिश के साथ बनाई सेंचुरी, 18 साल का रिकॉर्ड टूटा

Delhi Weather : बारिश के मामले में दिल्ली ने सेंचुरी मार दी है. यहां कुछ इलाकों में 100 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है, जोकि 2013 के बाद का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है. एक दशक में यह तीसरी बार है, जब यहां तीन डिजिट में बारिश दर्ज की गई हो.

Delhi Rains : दिल्ली ने 100 mm बारिश के साथ बनाई सेंचुरी, 18 साल का रिकॉर्ड टूटा

Delhi Rainfall : दिल्ली में 2013 के बाद ऐसी भारी बारिश ने बनाया रिकॉर्ड.

नई दिल्ली:

मॉनसून (Monsoon 2021) का इंतजार करते-करते राजधानी दिल्ली (Delhi Weather Today) की आंखें तरस गई थीं, लेकिन पिछले एक हफ्ते से मौसम मेहरबान लग रहा है. पिछले हफ्ते लगातार दो दिनों की बारिश के बाद मंगलवार की सुबह राजधानी और आसपास के इलाकों में जबरदस्त बारिश (Delhi Rainfall Today) हुई है. सोमवार को रात साढ़े 8 बजे से मंगलवार की सुबह साढ़े 8 बजे तक राजधानी में तेज बारिश हुई है. दिल्ली में मानसून इस बार करीब 15 दिन की देरी से आया था, लेकिन जोरदार बारिश को देखते हुए लग रहा है कि यह दुरुस्त आय़ा है. 

सबसे बड़ी बात कि बारिश के मामले में दिल्ली ने सेंचुरी मार दी है. यहां कुछ इलाकों में 100 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है, जोकि 2013 के बाद का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है. एक दशक में यह तीसरी बार है, जब यहां तीन डिजिट में बारिश दर्ज की गई हो. अब तक सबसे बड़ा रिकॉर्ड 266.2 mm का है, जब 1958 में 21 जुलाई को दिल्ली में इतनी बारिश दर्ज हुई थी.

मौसम विशेषज्ञों का अनुमान है कि दिल्ली में मंगलवार को भी अच्छी बारिश होगी. दिन में बारिश रुक सकती है, लेकिन रात में फिर से बारिश होने की संभावना है. वहीं, मौसम अगले दो दिनों तक ऐसा ही बना रह सकता है.

महाराष्ट्र : बारिश से जुड़े हादसों में मरने वालों की संख्या 164 हुई, 100 लोग अब भी लापता

दिल्ली में भारी बारिश से जलजमाव की स्थिति बनी

भारी बारिश के कारण शहर के कई हिस्सों में जलजमाव हो गया. धौला कुआं, मथुरा रोड, मोती बाग, विकास मार्ग, रिंग रोड, रोहतक रोड, संगम विहार, किराड़ी और प्रगति मैदान के पास तथा कई अन्य स्थानों पर जलभराव के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा.  बारिश के कारण सड़कों पर पानी भरने से यातायात भी प्रभावित हुआ. आईटीओ, मोती बाग मेट्रो स्टेशन के नीचे, धौला कुआं अंडरपास, प्रगति मैदान के पास, मथुरा रोड, विकास मार्ग, आईपी फ्लाईओवर के पास रिंग रोड, रोहतक रोड सहित कई स्थानों पर यातायात काफी धीमा रहा.

कहां कितनी हुई बारिश

दिल्ली के सफदरजंग में 10 सेंटीमीटर बारिश दर्ज हुई, वहीं, पालम और आयानगर में 7 सेंटीमीटर हुई. राजस्थान के गुना और चुरु में 9 सेंटीमीटर, महाबलेश्वर और ग्वालियर में 8 सेंटीमीटर और कोलकाता, दार्जिलिंग में 7 सेंटीमीटर बारिश दर्ज हुई है.

मौसम विभाग ने बताया है कि पिछली रात से आज सुबह तक दिल्ली, पश्चिमी मध्य प्रदेश, पश्चिमी राजस्थान, मध्य महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भारी बारिश दर्ज हुई है.


16 दिन देरी से दिल्ली पहुंचा है मानसून

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आईएमडी के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसून अपने आगमन की सामान्य तिथि से 16 दिन की देरी से, 13 जुलाई को राष्ट्रीय राजधानी पहुंचा. आम तौर पर मानसून 27 जून तक दिल्ली पहुंच जाता है. 8 जुलाई तक मानसून पूरे देश में छा जाता है. पिछले साल दिल्ली में मानसून 25 जून को पहुंचा था और 29 जून तक देशभर में छा गया था.