दिल्ली में प्रदूषण क्यों, अब IIT कानपुर के वैज्ञानिक पता करके देंगे रिपोर्ट

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि दीवाली नज़दीक आ रही है. दिल्ली सरकार ने पटाखों पर प्रतिबंध लगाया है कई जगहों पर अवैध तरीक़े से पटाखे रखे गाए हैं. आज सभी को निर्देशित किया गया है कि दिल्ली में एंटी क्रैकर अभियान शुरू करें.

दिल्ली में प्रदूषण क्यों,  अब IIT कानपुर के वैज्ञानिक पता करके देंगे रिपोर्ट

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने दिल्ली के प्रदूषण को लेकर कही ये बात

नई दिल्ली:

 दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि अंदर प्रदूषण के खिलाफ अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में जो अभियान चल रहा है, युद्ध प्रदूषण के विरुद्ध, उस लड़ाई को और प्रभावशाली बनाने के लिए एक तरफ़ जन भागीदारी को सुनिस्चित किया जा रहा तो तकनीक के सहारे कैसे इसे सफल किया जाए इस पर भी काम हो रहा है. CP में सरकार की और से स्मॉग टावर लगाया गया, जो पाइलट तौर पर चल रहा है. आईआईटी के वैज्ञानिक इस पर अपनी रिपोर्ट देंगे कि ये कितना कारगर है. आज डीपीसीसी और आईआईटी कानपुर के बीच एक MOU साइन हुआ है. दिल्ली के अंदर कई स्टडी हैं, लेकिन रियल टाइम प्रदूषण का क्या कारण है, ये नहीं पता. हाल ही में प्रदूषण का स्तर बढ़ा. लगता है कि पराली से ही प्रदूषण होता है, लेकिन एक ही फेक्टर नहीं, इसकी स्टडी आईआईटी कानपुर करेगी. 

इसके लिए 23 महीने समय लिया गया है. इसकी स्टडी के बाद सरकार को सुझाव दिए जाएंगे. इसके लिए दिल्ली में एक सुपर साइट इस्टैब्लिश करने का प्रस्ताव है. साथ ही मोबाइल वैन के माध्यम से अलग-अलग इलाकों में स्टडी का काम किया जाएगा. आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिकों ने फरवरी में प्रेजेंटेशन दी थी. ऐसा पहली बार है कि भारत में ऐसी स्टडी होने जा रही है. विभाग ने आज एमओयू साइन किया है. हमें उम्मीद है कि इसके बाद हम टारगेटेड तरीके से इस लड़ाई को पूरा कर पाएंगे. इस बार सरकार फोकस कर रही है कि जन भागीदारी को कैसे बढ़ाया जाए. इसके लिए दिल्ली के लोगों से अपने स्तर पर प्रदूषण कम करने का आह्वान किया था. SDMs के साथ मीटिंग हुई. हम दिल्ली में 4 मोर्चों पर काम कर रहे हैं. डस्ट के लिए एंटीडस्ट कैम्पेन, रेड लिंग ऑन गाड़ी ऑफ़, bio decomposer और ग्रीन ऐप…dpcc के साथ अब दिल्ली के 33 एसडीएम को पावर दिया जा रहा है. वो इस लड़ाई को तेज करने में सरकार की मदद करेंगे.


ज़न भागीदारी अभियान को तेज करने के लिए 28 और 29 अक्टूबर को आरडबल्यूए और अन्य संगठनों के साथ मीटिंग करेंगे और बताएंगे कि कैसे प्रदूषण कम हो सकता है. एक्शन प्लान के विषय में बताया जाएगा साथ ही मुख्यमंत्री ने जो 3 अपील की थीं उसके विषय में बताया जाएगा. 31 oct को रविवार के दिन ये आरडबल्यूए और एनजीओ पूरी दिल्ली के अंदर अवेयरनेस मीटिंग ऑर्गेनाइज की जाएगी और ये लोग लोगों को अवेयर करेंगे. पार्कों में कूड़ा जलाने और डस्ट को लेकर… पीयूसी को लेकर.. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दीवाली नज़दीक आ रही है. दिल्ली सरकार ने पटाखों पर प्रतिबंध लगाया है कई जगहों पर अवैध तरीक़े से पटाखे रखे गाए हैं. आज सभी को निर्देशित किया गया है कि दिल्ली में एंटी क्रैकर अभियान शुरू करें. पुलिस के साथ उन्हें भी ये पावर दी गई है. पब्लिक को परेशान ना करें. 25 को पुलिस के साथ भी हम मीटिंग करेंगे ताकि दीपावली पर प्रदूषण ना हो. लोग कहते हैं सरकार दीवाली नहीं मनाने देती लेकिन दीवाली दीयों से होती है. खूब दीये जलाएं, पटाखे नहीं.