साइबर ठगी का नायाब तरीका! महिला इंजीनियर को डिजिटल अरेस्ट कर ऐंठे 11 लाख रुपए

पुलिस अधिकारी ने बताया कि महिला इंजीनियर को डिजिटल अरेस्ट (Cyber Fraud By Digital Arrest) के दौरान किसी व्यक्ति को उसके मोबाइल फोन पर डाउनलोड ऐप से जोडा़ गया. इस दौरान उसे डरा धमकाकर पैसे वसूले गए.

साइबर ठगी का नायाब तरीका! महिला इंजीनियर को डिजिटल अरेस्ट कर ऐंठे 11 लाख रुपए

नोएडा पुलिस (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली से सटे नोएडा में साइबर ठगी (Noida Cyber Fraud) का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. साइबर ठगों ने डिजिटल अरेस्ट के नाम पर नोएडा की एक महिला इंजीनियर को 8 घंटे तक निगरानी कर उसे बंधक बनाया और उससे 11 लाख रुपए ठग लिए. महिला की शिकायत पर क्राइम थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर मामेल की जांच शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें-मेक्सिको की महिला डीजे से मुंबई के शख्‍स ने किया कई बार रेप, ऑनलाइन हुई थी मुलाकात

खुद को अधिकारी बताकर ठगे 11 लाख 

नोएडा के साइबर पुलिस स्टेशन की इंस्पेक्टर रीता यादव ने बताया कि मामला 13 नवंबर का है, जब सेक्टर 34 धवलगिरी अपार्टमेंट में रहने वाली सीजा टीए के पास एक फोन कॉल आया. कॉलर ने खुद को टेलीफोन रेगुलेटरी ऑफ इंडिया का अधिकारी बताया. उसने सीजा को बताया कि उसके आधार कार्ड का इस्तेमाल कर एक सिम कार्ड खरीदा गया है, जिसका इस्तेमाल मनी लॉन्ड्रिंग के लिए किया गया है. इस सिम के जरिए 2 करोड़ रुपए निकाले गए हैं.

महिला को 8 घंटे तक बनाया डिजिटल बंधक

इंस्पेक्टर रीता यादव ने बताया कि कॉलर की बात सुनकर सीजा टीए घबरा गई. साइबर ठग ने उसे जांच का हवाला देते हुए कॉल को स्काइप ट्रांसफर कर दिया. जांच अधिकारी बने साइबर ठग ने महिला इंजीनियर को स्काइप कॉल पर क्राइम ब्रांच और कस्टम के अधिकारी बनकर डराया धमकाया और 8 घंटे तक डिजिटल निगरानी करके उसे बंधक बनाए रखा. इसके बाद महिला से कई सवाल पूछे गए और उसे किसी से बात तक करने की अनुमति नहीं दी. आखिर में इन साइबर ठगों ने महिला इंजीनियर के खाते से 11 लाख 11000 रुपए ट्रांसफर कर लिए.

पुलिस और थाने का सेटअप कर ठगी रकम

हैरानी की बात यह है कि स्काइप पर महिला इंजीनियर को बैकग्राउंड में पुलिस स्टेशन दिखाई दे रहा था और पुलिस भी नजर आ रही थी.साइबर थाना प्रभारी रीता यादव ने बताया कि ठगी का शिकार होने के बाद सीजा टीए ने इस मामले की शिकायत की. पुलिस इंस्पेक्टर के मुताबिक महिला इंजीनियर को डिजिटल अरेस्ट के दौरान किसी व्यक्ति को उसके मोबाइल फोन पर डाउनलोड ऐप से जुड़े रहने को कहा गया था.इस दौरान उसे डरा धमकाकर पैसे वसूले गए.  मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें-दिल्ली एयरपोर्ट पर खराब मौसम की वजह से 18 विमानों को किया गया डायवर्ट : रिपोर्ट