मां ने संघर्ष कर नन्ही बेटी को किडनैपरों से बचाया, CCTV में कैद हुई घटना, देखें VIDEO

मामले में बच्ची के चाचा और उसके एक साथी को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, फिरौती वसूलने के लिए किया जा रहा था अपहरण

मां ने संघर्ष कर नन्ही बेटी को किडनैपरों से बचाया, CCTV में कैद हुई घटना, देखें VIDEO

दिल्ली के शकरपुर इलाके में सीसीटीवी कैमरे में अपहरण की कोशिश की घटना कैद हुई है.

नई दिल्ली:

पूर्वी दिल्ली (East Delhi) के शकरपुर इलाके में चार साल की बच्ची की सीसीटीवी कैमरे में कैद एक सनसनीखेज किडनैपिंग (Kidnapping) के मामले को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने सुलझा लिया है. इस मामले में बच्ची के चाचा और उसके एक साथी को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि सीसीटीवी में दिख रहे दो किडनैपरों की तलाश जारी है. अपहरण की कोशिश की यह घटना 21 जुलाई को शाम करीब 4:00 बजे की है. 

वारदात के सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि एक काले रंग की पल्सर बाइक में सवार दो नकाबपोश और हेलमेट पहने दो लड़के एक घर के बाहर रुकते हैं. पीछे बैठा एक शख्स लाल रंग का बैग निकालकर उसको खोलता है, फिर घर का दरवाजा खटखटाकर पानी मांगता है. एक महिला पानी लेकर आती है. वह पानी बाहर खड़े शख्स की बोतल में डाल देती है. जैसे ही महिला अंदर जाती है, बाहर खड़े लड़के महिला की चार साल की बेटी को घर से खींच लेते हैं. बच्ची रोने लगती है और इसी बीच उसकी मां दिलेरी दिखाते हुए झपटकर अपनी बेटी को पकड़ लेती है. 

इस छीनाझपटी में किडनैपर बाइक से नीचे गिर जाते हैं. एक किडनैपर आगे की तरफ भागता है, जबकि दूसरा बाइक उठाने की कोशिश करता है. इसी बीच महिला अपनी बेटी को न सिर्फ दोनों किडनैपर के चंगुल से बचा लेती है बल्कि बाइक का पहिया भी पकड़ लेती है जिससे कुछ देर तक एक किडनैपर बाइक को आगे नहीं ले जा पाता है. महिला शोर मचाती है और फिर पड़ोसी किडनैपरों का पीछा करते हैं. 

एक दूसरे सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि आगे उसी गली में किडनैपरों को आते हुए देख एक शख्स गली के बीच में खड़ा हो जाता है और एक स्कूटी को गली के बीचोंबीच लगा देता है जिससे किडनैपर्स की बाइक न निकल पाए. जैसे ही किडनैपर आते हैं दो पड़ोसी मिलकर उनकी बाइक नीचे गिरा देते हैं. फिर दोनों को पकड़ भी लेते हैं, लेकिन इसके बाद भी दोनों किडनैपर पड़ोसियों की पकड़ से छूटकर भाग जाते हैं.

इसके बाद दिल्ली पुलिस को इस पूरी वारदात की सूचना दी गई. पुलिस ने मौके से एक काले रंग की पल्सर बाइक, एक काले बैग से एक देशी कट्टा और चार कारतूस बरामद किए. जब बाइक की नम्बर प्लेट फर्जी पाई गई, पूर्वी दिल्ली के डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक जांच की गई तो पता चला कि यह बाइक धीरज नाम के शख्स की है. धीरज को काफी मशक्कत के बाद जगतपुरी से गिरफ्तार किया गया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


धीरज ने बताया कि बच्ची की किडनैपिंग की पूरी प्लानिंग बच्ची के सगे चाचा उपेंद्र उर्फ बिट्टू ने रची थी और कहा था कि काम पूरा होने के बाद उसे एक लाख रुपये दिए जाएंगे. इसके बाद पुलिस ने उपेंद्र को भी गिरफ्तार कर लिया. उपेंद्र ने बताया कि वह काफी तंगी में जी रहा रहा था जबकि उसका भाई कपड़े का व्यापारी है. उसके पास ठीकठाक पैसा है. इसीलिए उसने सोचा कि भाई की बेटी को अगवाकर 30-35 लाख रुपये की फिरौती मांगी जाए. उपेंद्र ने बताया कि बच्ची की किडनैपिंग करने के लिए उसने दो लोग और हायर किए थे जो सीसीटीवी में दिख रहे हैं. पुलिस सीसीटीवी में दिख रहे दोनों लोगों की तलाश कर रही है.