विजय हजारे में त्रिपुरा ने सितारों से सजी मुंबई को चौंकाया, तो इस पेसर ऑलराउंडर ने खींचा सेलेक्टरों का ध्यान

Vijay Hazare Trophy में मुंबई का त्रिपुरा जैसी टीम से हारना बहुत कुछ कहता है. खासकर अजिंक्य रहाणे और सरफराज खान जैसे बल्लेबाजों के होते हुए

विजय हजारे में त्रिपुरा ने सितारों से सजी मुंबई को चौंकाया, तो इस पेसर ऑलराउंडर ने खींचा सेलेक्टरों का ध्यान

नई दिल्ली:

भारत की शीर्ष घरेलू वनडे ट्रॉफी विजय हजारे क्रिकेट टूर्नामेंट में रविवार को बहुत ही बड़ा उलटफेर देखने को मिला, जब अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) की अगुवाई  वाली मुंबई को कहीं छोटी टीम त्रिपुरा ने 53 रन के  विशाल अंतर से हरा दिया. भारत के खेल चुके और कप्तानी कर रहे ऋद्धिमान साहा (1) की कप्तानी में त्रिपुरा ने पहले बल्लेबाजी करेत हुए 50 ओवरों में 5 विकेट पर 288 रन बनाए, तो जवाब में कई बड़े नामों के साथ खेल रही  मुंबई की टीम  40.1 ओवरों में 211 रन बनाकर ही आउट हो गई.दक्षिण अफ्रीका दौरे से बाहर रखे हए कप्तान अजिंक्य रहाणे (78) ने अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन पिछले दिनों रिलीज कर दिए हए सरफराज खान (26) फायदा नहीं उठा सके. वहीं, शारदूर ठाकुर भी प्रभावित करने में नाकाम रहे. और अगर ऐसा हुआ, तो इसकी बड़ी वजह रहे मणिशंकर मुरासिंह (MuraSingh) का  ऑलराउंड प्रदर्शन, जिन्होंने  सेलेक्टरों का ध्यान खींचते हुए दिखाया कि त्रिपुरा जैसी टीम में भी एक मीडियम पेसर-ऑलराउंडर है. 

माय नेम इज मणिशंकर मुरासिंह

मुरा सिंह ने पहले बल्लेबाजी में हाथ दिखाते हुए नंबर छह पर 26 गेंदों पर पांच चौकों और तीन छक्कों से नाबाद 55 रन बनाए, तो वहीं उन्होंने बाद में चार विकेट चटकाकर मुंबई को हैरान कर दिया. एक ऐसे समय जब टी20 World Cup अगले साल होने जा रहा है, तो मुरासिंह सेलेक्टरों को अपनी ओर गंभीरता से देखने पर मजबूर कर सकते हैं

अच्छा अनुभव है मुरासिंह के पास

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

करियर के 31वें साल में चल रहे मुरासिंह के पास के अच्छा खासा 81 फर्स्ट-क्लास मैचों का अनुभव है. इसमें उन्होंने 27.01 के औसत से चार शतक और 14 अर्द्धशतकों से 3350 रन बनाए हैं, तो वहीं उन्होंने 245 विकेट भी चटकाए हैं. अब देखते हैं कि सेलेक्टर उन्हें आगे कैसे देखते हैं.