विज्ञापन
Story ProgressBack

Happy Birthday Sunil Gavaskar: 1983 वर्ल्ड कप में खामोश था सुनील गावस्कर का बल्ला, फिर भी कैसे जीता रहे थे मैच? जानें राज की बात

Happy Birthday Sunil Gavaskar: सुनील गावस्कर 1983 वर्ल्ड कप विजेता टीम के हिस्सा हैं. टूर्नामेंट के दौरान जरुर वह अपने कद के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकामयाब रहे, लेकिन टूर्नामेंट के दौरान उन्हें ब्लू टीम के लिए लकी चार्म माना जाता था. 

Read Time: 3 mins
Happy Birthday Sunil Gavaskar: 1983 वर्ल्ड कप में खामोश था सुनील गावस्कर का बल्ला,  फिर भी कैसे जीता रहे थे मैच? जानें राज की बात
Happy Birthday Sunil Gavaskar

Happy Birthday Sunil Gavaskar: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर आज (10 जुलाई) अपना 75वां जन्मदिन मना रहे हैं. गावस्कर का जन्म आज ही के दिन यानी 10 जुलाई 1949 को बॉम्बे (मुंबई) में हुआ था. सुनील गावस्कर के माता-पिता का नाम मीनल गावस्कर और मनोहर गावस्कर है. इसके अलावा उनके भाई बहन का नाम कविता विश्वनाथ और नूतन गावस्कर है. दिग्गज बल्लेबाज ने 1974 में मार्शनील गावस्कर से शादी रचाई थी. उनक एक बेटा है. जिसका नाम रोहन गावस्कर है. रोहन भी भारतीय टीम के लिए शिरकत कर चुके हैं, लेकिन अपने पिता के जैसे कामयाब होने में नाकामयाब रहे.

आपको बता दें सुनील गावस्कर 1983 वर्ल्ड कप विजेता टीम के हिस्सा हैं. टूर्नामेंट के दौरान जरुर वह अपने कद के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकामयाब रहे, लेकिन टूर्नामेंट के दौरान उन्हें ब्लू टीम के लिए लकी चार्म माना जाता था. 

दरअसल, वर्ल्ड कप के दौरान गावस्कर के बल्ले से कुछ खास योगदान देखने को नहीं मिला था. उनके खराब प्रदर्शन का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि टूर्नामेंट के दौरान उन्होंने कुल 6 मैचों में शिरकत की थी. इस बीच वह 59 रन ही बना पाए थे.

गावस्कर के कद के अनुसार इस प्रदर्शन को कुछ खास नहीं कहा जा सकता है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि गावस्कर ब्लू टीम की तरफ से जिन मुकाबलों में शिरकत करने के लिए मैदान में नहीं उतरे. उस मैच में टीम इंडिया को शिकस्त का सामना करना पड़ा था.

1983 वर्ल्ड कप के दौरान गावस्कर के बल्ले से सर्वश्रेष्ठ पारी सेमीफाइनल मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ देखने को मिली थी. उन्होंने श्रीकांत के साथ पारी का आगाज करते हुए पहले विकेट के लिए 46 रन जोड़े थे. 

उनके इस उम्दा पारी के बदौलत ब्लू टीम 214 रनों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल करने में कामयाब हुई थी. गावस्कर इस रोमांचक मुकाबले में 25 रन बनाने में कामयाब हुए थे. 

यही नहीं फाइनल मुकाबले में उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2 बेहतरीन कैच पकड़ते हुए टीम इंडिया को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी. ये दोनों कैच किसी और के नहीं बल्कि लैरी गोम्स और मैल्कम मार्शल

टीम इंडिया के लिए 1983 वर्ल्ड कप में लकी थे गावस्कर

1983 वर्ल्ड कप में गावस्कर टीम इंडिया के लिए लकी साबित हो रहे थे. दरअसल, उन्होंने जिन मुकाबलों में ब्लू टीम के लिए शिरकत किया. वह मैच टीम इंडिया जितने में कमायाब रही. 

गावस्कर पहले 2 मैचों में 19 और 4 रन बनाकर आउट हुए. इसके बावजूद भारत, वेस्टइंडीज और जिम्बाब्वे के खिलाफ जीत हासिल करने में कामयाब रहा. 

हालांकि, इसके बाद टीम से उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया एवं उनकी जगह दिलीप वेंगसकर की एंट्री हुई. मगर इन दोनों मैचों में ब्लू टीम को शिकस्त का सामना करना पड़ा. ये दोनों मैच ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के खिलाफ थे. 

दिलीप वेंगसकर के मैल्कम मार्शल की बाउंसर गेंद पर चोटिल होने के बाद गावस्कर की एक बार फिर टीम में एंट्री हुई. इसके बाद टीम इंडिया फिर अपने शेष मुकाबलों को जितने में कामयाब रही.

यह भी पढ़ें- गौतम गंभीर के हेड कोच बनते ही इन 3 खिलाड़ियों का टीम इंडिया से बाहर होना तय!

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Gautam Gambhir salary: कोच बनने पर गंभीर को कितनी मिलेगी सैलरी, क्या राहुल द्रविड़ से ज्यादा होगी, जानिए पूरी डिटेल
Happy Birthday Sunil Gavaskar: 1983 वर्ल्ड कप में खामोश था सुनील गावस्कर का बल्ला,  फिर भी कैसे जीता रहे थे मैच? जानें राज की बात
Jasprit Bumrah vs Shaheen Afridi, who is the best fast bowler in the world Shahid Afridi react on it
Next Article
"निस्संदेह इस समय ..", बुमराह या शाहीन, कौन है दुनिया का बेस्ट तेज गेंदबाज, शाहिद अफरीदी ने बताया
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;