Sl vs Ind: पूर्व सीमर वेंकटेश प्रसाद का खुलासा, जब चैपल ने दीपक चाहर को क्रिकेट छोड़कर दूसरा काम करने की दी सलाह

Sl vs Ind: प्रसाद ने लिखा कि यहां कुछ अपवाद भी होते हैं, लेकिन भारत में ऐसे बेहतरीन टैलेंट के साथ यह वह समय है, जब टीमें और फ्रेंचाइजी ज्यादा से ज्यादा भारतीय कोचों और मेंटरों को अपने साथ नियुक्त करें. और वेंकी की इस बात में बहुत ज्यादा दम है और हालिया सालों में बीसीसीआई ने भी अपनी नीति में बदलाव करते हुए घरेलू दिग्गज कोचों को बढ़ावा दिया है.

Sl vs Ind: पूर्व सीमर वेंकटेश प्रसाद का खुलासा, जब चैपल ने दीपक चाहर को क्रिकेट छोड़कर दूसरा काम करने की दी सलाह

Sl vs Ind: दीपक चाहर के नाम की हर तरफ गूंज है

खास बातें

  • वेंकी ने ट्वीट कर खोली चैपल की बोल
  • तब चैपल आरसीए अकदामी के निदेशक थे
  • फ्रेंचाइजी विदेशियों की जगह भारतीयों को जोड़ें
नई दिल्ली:

Sri Lanka vs India: एक दिन पहले ही श्रीलंका पर दूसरे वनडे में दर्ज तीन विकेट से जीत के बाद हर ओर पुछल्ले दीपक चाहर (Deepak Chahar) की चर्चा है, जिन्होंने नंबर-8 पर बैटिंग करते हुए नाबाद अर्द्धशतक जड़ते हुए श्रीलंका के मुंह से निवाला छीन लिया था. चाहर ने इस मैच जिताऊ पारी से साबित किया कि वह सिर्फ महज गेंदबाज भर नहीं हैं और कप्तान उनके बल्ले पर भी भरोसा कर सकते हैं. बहरहाल, अब पूर्व क्रिकेटर वेंकटेश प्रसाद्ध ने चाहर को लेकर बड़ा खुलासा किया है. पूर्व सीमर ने कहा कि समय ऐसा भी था जब दिग्गज ग्रेग चैपल ने चाहर से क्रिकेट छोड़ने के लिए कहा था.  प्रसाद ने बताया कि यह वह समय था जब चैपल के भारतीय टीम से बतौर कोच इस्तीफे के बाद ललित मोदी ने उन्हें राजस्थान क्रिकेट अकादमी का निदेशक नियुक्त किया था. 

सुरेश रैना ने कमेंट्री के दौरान की यह टिप्पणी, तो चेन्नई के फैंस हुए खफा, लेकिन....

प्रसाद ने ट्वीट करते हुए कहा कि एक समय चैपल ने राजस्थान क्रिकेट अकादमी में चाहर को उनकी लंबाई के कारण खारिज करते हुए उन्हें दूसरा पेशा चुनने की सलाह दी थी. और अब हालात ऐसे हैं कि  चाहर ने भारत को मैच जिताया है और वह भी अपने मुख्य काम के कारण नहीं बल्कि दूसरी भूमिका के चलते. वेंकी ने आगे लिखा कि कहानी का सार यह है कि आप खुद के भीतर भरोसा बनाए रखें और विदेशी कोचों को ज्यादा गंभीरता से न लें. चाहर ने मंगलावर को 82 गेंदों पर नाबाद 69 रन की पारी खेलते हुए श्रीलंका से मैच ही नहीं, बल्कि सीरीज भी छीन ली थी. 

कोविड-19 को मात देकर ऋषभ पंत टीम के साथ जुड़े, बीसीसीआई ने किया युवा विकेटकीपर का स्वागत


प्रसाद ने लिखा कि यहां कुछ अपवाद भी होते हैं, लेकिन भारत में ऐसे बेहतरीन टैलेंट के साथ यह वह समय है, जब टीमें और फ्रेंचाइजी ज्यादा से ज्यादा भारतीय कोचों और मेंटरों को अपने साथ नियुक्त करें. और वेंकी की इस बात में बहुत ज्यादा दम है और हालिया सालों में बीसीसीआई ने भी अपनी नीति में बदलाव करते हुए घरेलू दिग्गज कोचों को बढ़ावा दिया है. और अब एक बार फिर से राहुल द्रविड़ को बड़ी भूमिका देने की तैयारी हो चली है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: हाल ही में मोहम्मद कैफ ने श्रीलंका सीरीज को लेकर एनडीटीवी से खास बात की थी. ​