टेस्ट और वनडे टीम में चयन का पैमाना नहीं हो सकता है आईपीएल : एमएस धोनी

टेस्ट और वनडे टीम में चयन का पैमाना नहीं हो सकता है आईपीएल : एमएस धोनी

टीम इंडिया के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

टीम इंडिया के वनडे और टी-20 कप्तान एमएस धोनी ने कहा है कि आईपीएल के प्रदर्शन को टेस्ट और टी-20 टीम चयन का आधार नहीं बनाया जा सकता है। धोनी ने साफ़ कर दिया कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के दबाव को झेलने के लिए आईपीएल को आधार नहीं बनाया जाना चाहिए। हालांकि कप्तान ने ये स्वीकार किया कि आईपीएल नए खिलाड़ियों के लिए हुनर दिखाने का एक सही प्लेटफ़ॉर्म ज़रूर है।

धोनी ने कहा, 'मैंने हमेशा से कहा है आईपीएल हुनर दिखाने का एक अच्छा प्लेटफ़ॉर्म है जिसके बाद घरेलू क्रिकेट में उनके प्रदर्शन को देखना चाहिए।
आईपीएल में खिलाड़ियों की कई खामियां छुप जाती है। टेस्ट और 50 ओवर के मैच के लिए आईपीएल के प्रदर्शन पर टीम चुनना ठीक नहीं है।'

आईपीएल की नीलामी शनिवार को ख़त्म हुई है जहां कई नए खिलाड़ियों को करोड़ों की रकम में टीमों ने ख़रीदा। कप्तान के बयान के बाद ये सवाल उठता है कि फिर टीमें क्यों बड़ी-बड़ी रकम युवा खिलाड़ियों पर खर्च कर रही हैं।
 
अगर आईपीएल के कुछ नामी घरेलू खिलाड़ियों के नाम पर नज़र डालें तो टी सुमन, सिद्धार्थ त्रिवेदी, वेणुगोपाल राव, कामरान ख़ान, स्वपनिल आसनोडकर और पॉल वल्थाटी जैसे चेहरे आज कहां हैं ये किसी को नहीं पता।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


खिलाड़ियों को पैसे अच्छे मिलने चाहिए इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन नए नवेलों को बड़ी रकम देकर क्या इनसे इंसाफ़ किया गया है। क्या 8.5 करोड़ में बिके पवन नेगी पर दिल्ली के लिए अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव नहीं होगा?