GT vs RR: बटलर अपनी फॉर्म से निराश, तो अश्विन ने क्वालीफायर से पहले बताया "रिटायर्ड आउट" का महत्व

GT vs RR: सरी बार पूर्ण सत्र के लिए फ्रेंचाइजी की अगुआई कर रहे कप्तान संजू सैमसन ने कहा कि वह कभी सीखना नहीं छोड़ेंगे और संवाद उनकी कप्तानी के अहम बिंदुओं में से एक है. सैमसन ने कहा, ‘मुझे लगता है कि बल्लेबाज और कप्तान के रूप में मैंने विकास किया है और सीखना जारी रखा है.

GT vs RR: बटलर अपनी फॉर्म से निराश, तो अश्विन ने क्वालीफायर से पहले बताया

GT vs RT: पहले क्वालीफायर पर जोस बटलर पर सबसे ज्यादा नजरें रहेंगी

कोलकाता,:

राजस्थान रॉयल्स के स्टार बल्लेबाज जोस बटलर पिछले कुछ मुकाबलों में अपने प्रदर्शन से ‘निराश'हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि वह प्ले-आफ में जगह बनाने से पहले टूर्नामेंट के शुरुआती चरण में अपनी बड़ी पारियों से आत्मविश्वास हासिल करेंगे. इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज बटलर ने मौजूदा सत्र में तीन शतक और तीन अर्धशतक  से 147 के स्ट्राइक रेट के साथ 629 रन बनाए हैं, लेकिन पिछले तीन मैच में वह दो, दो और सात रन की पारियों के साथ केवल 11 रन बना पाए हैं. बटलर ने मंगलवार को ईडन गार्डेन में टाइटंस के खिलाफ होने वाले पहले क्वालीफायर से पूर्व कहा, ‘बेशक मैं आईपीएल में अपनी फॉर्म को लेकर रोमांचित था, लेकिन पिछले कुछ मैच के प्रदर्शन से निराश हूं.'

यह भी पढ़ें:आकाश चोपड़ा ने चुन ली दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टी20 मैच में अपनी भारतीय फाइनल XI

उन्होंने कहा, ‘टूर्नामेंट के पहले हाफ में मैं संभवत: अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट में से कुछ खेल रहा था और प्ले-आफ से पहले उस प्रदर्शन से आत्मविश्वास हासिल कर रहा हूं. वहीं, मौजूदा सत्र में गेंद और बल्ले दोनों से अपने प्रदर्शन से प्रभावित करने वाले अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि ‘रिटायर्ड आउट' जैसे कुछ फैसले टीम को प्रतिस्पर्धी रूप से फायदा पहुंचा सकते हैं बशर्ते सही तरह से लिए जाएं. रिटायर्ड आउट में बल्लेबाज अपनी मर्जी से पवेलियन लौट जाता है और उसे आउट माना जाता है.


मौजूदा सत्र में रॉयल्स के सबसे किफायती गेंदबाज अश्विन ने कहा, ‘यह समझना महत्वपूर्ण है कि यह फैसला कैसे अहम लम्हों पर आपको फायदे की स्थिति में ला सकता है. मुझे लगता है कि यह (रिटायर्ड आउट) भविष्य में टी20 क्रिकेट का हिस्सा होगा और मुझे लगता है कि यह बरकरार रहेगा. उन्होंने कहा, ‘लोग समझेंगे कि यह जोखिम भरा है क्योंकि बल्लेबाज रिटायर्ड आउट होने के बाद दोबारा खेलने नहीं आ सकता और अगर.चीजें आपके पक्ष में नहीं रहीं तो आपको इस पर सफाई देनी पड़ सकती है. लेकिन अगर इसे सही तरह से लागू किया गया तो यह आपके लिए फायदे वाली स्थिति हो सकती है.' अश्विन ने मौजूदा सत्र में 183 रन बनाने के अलावा 11 विकेट भी चटकाए हैं और इस दौरान उनकी इकॉनॉमी रेट 7.14 रही है.

यह भी पढ़ें:  आयरलैंड दौरे के लिए बीसीसीआई वीवीएस लक्ष्मण को अतिरिक्त जिम्मेदारी देने के लिए तैयार

वहीं, राजस्थान के एक और अहम खिलाड़ी  युजवेंद्र चहल ने अपनी सफलता का श्रेय टीम के एकजुट होकर खेलने को दिया और कहा कि पहले सत्र में टीम की अगुआई करने वाले दिवंगत शेन वार्न के कारण रॉयल्स के लिए खेलना विशेष है. मौजूदा टूर्नामेंट के सबसे सफल गेंदबाज चहल ने कहा, ‘मुझे पता है कि रॉयल्स के साथ यह मेरा पहला सत्र है लेकिन ऐसा लगता है कि मैं वर्षों से टीम के साथ खेल रहा हूं. यहां मैं मानसिक रूप से सहज हूं और मुझे लगता है कि इसका श्रेय यहां टीम के साथ जुड़े लोगों को जाता है.' उन्होंने कहा, ‘दूसरी तरफ टीम के साथ खेलना मेरे लिए विशेष है क्योंकि वार्न रॉयल्स के लिए खेले और मुझे लगता है कि उनका आशीर्वाद मेरे साथ है. मुझे लगता है कि वह मुझे देख रहे हैं.'

यह भी पढ़ें: क्या होगा अगर फाइनल मैच बारिश की वजह से धुल जाए, BCCI ने प्लेऑफ के लिए बनाया ये प्लान

दूसरी बार पूर्ण सत्र के लिए फ्रेंचाइजी की अगुआई कर रहे कप्तान संजू सैमसन ने कहा कि वह कभी सीखना नहीं छोड़ेंगे और संवाद उनकी कप्तानी के अहम बिंदुओं में से एक है. सैमसन ने कहा, ‘मुझे लगता है कि बल्लेबाज और कप्तान के रूप में मैंने विकास किया है और सीखना जारी रखा है. मैं इस टीम की अगुआई करने की जिम्मेदारी का लुत्फ उठा रहा हूं विशेषकर टीम में इतने सारे अनुभवी खिलाड़ियों की मौजूदगी में.' उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि जब आप एक टीम की अगुआई कर रहे होते हैं तो यह बेहद महत्वपूर्ण है कि आपका नजरिया इस तरह हो कि आप दबाव की स्थिति में लोगों को अपने पास आकर बात करने की स्वीकृति दें और अपने विचार रखने दें.'

हमारे स्पोर्ट्स यू-ट्यूब चैनल को जल्दी से करें सब्सक्राइब

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


 



अन्य खबरें