दिल्ली विधानसभा का एक दिन का मानसून सत्र 14 सितंबर को

कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर सत्र के लिए कुछ व्यवस्थाएं की गईं, मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना जरूरी होगा

दिल्ली विधानसभा का एक दिन का मानसून सत्र 14 सितंबर को

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) का एक दिन का मानसून सत्र (Monsoon session) 14 सितंबर को होगा. कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर सत्र के लिए कुछ व्यवस्थाएं की गई हैं. विधानसभा सत्र में मास्क अनिर्वाय होगा. विधानसभा सदस्यों के लिए अनिवार्य होगा कि वे मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें. विधानसभा परिसर में पहचान के लिए मास्क के साथ-साथ आईकार्ड भी जरूरी होगा

सत्र में हिस्सा लेने के लिए RTPCR टेस्ट रिपोर्ट जरूरी होगी. सत्र से 48 घंटे पहले कोरोना टेस्ट कराना होगा. विधायक अपने स्तर पर अपना कोरोना टेस्ट करा सकते हैं या इसके लिए 11 सितम्बर को अपने आधारकार्ड के साथ विधानसभा आ सकते हैं, जहां सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे के बीच कोरोना टेस्ट कराया जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बदली हुई होगी बैठने की व्यवस्था
कोरोना के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए विधानसभा हॉल के भीतर बैठने की व्यवस्था में बदलाव किया गया है. पुरानी व्यवस्था नहीं रहेगी. मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, सभी मंत्री, विधानसभा उपाध्यक्ष, चीफ व्हिप और नेता विपक्ष के लिए सीटें रिजर्व रहेंगी. इनके अलावा, बाकी सभी विधायकों के लिए सीट की व्यवस्था, पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर होगी.