नीतीश कुमार के 'आखिरी चुनाव' ऐलान के बाद आया कांग्रेस का रिएक्शन, सुरजेवाला ने कही ये बात

बिहार के जनता दल यूनाइटेड के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी का कहना है कि नीतीश कुमार के आज के इस कथन को तीसरे चरण के चुनाव से नहीं जोड़ा जाना चाहिए.

नीतीश कुमार के 'आखिरी चुनाव' ऐलान के बाद आया कांग्रेस का रिएक्शन, सुरजेवाला ने कही ये बात

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार - फाइल फोटो

पटना:

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) का प्रचार गुरुवार को समाप्त होने से कुछ घंटे पहले ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने अपने आखिरी चुनाव का बड़ा ऐलान किया. 

इस पर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा, ''शुक्र है कि बिहार चुनाव के तीसरे चरण से पहले नीतीश जी ने हार मान ली. नीतीश जी और मोदी जी ने अतीत में किसी और की तुलना में बिहार को अधिक नुकसान पहुंचाया है. नीतीश बाबू को रिटायर होना चाहिए, वह महागठबंधन के सीएम उम्मीदवार के साथ अपने अच्छे अनुभव साझा कर सकते हैं.''

बिहार के सीमांचल में मुकाबला दिलचस्प, मतदाताओं में RJD और AIMIM को लेकर असमंजस

बता दें कि सीएम नीतीश कुमार ने पूर्णिया जिले के धमदाहा में जेडीयू की चुनावी रैली में कहा कि ये उनका आखिरी चुनाव है. नीतीश कुमार यहां जेडीयू प्रत्याशी लेसी सिंह के लिए प्रचार करने पहुंचे थे. इस दौरान नीतीश कुमार ने कहा कि सब लोग मिलकर लेसी सिंह को भारी मतों से विजय बनाइएगा. 

नीतीश कुमार ने कहा, "आज चुनाव प्रचार का अंतिम दिन है और ये मेरा आखिरी चुनाव है...अंत भला तो सब भला..बताइये जिताइयेगा ना लेसी सिंह को?"

इससे पहले किशनगंज की रैली में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा है कि किसी में इतना दम नहीं है कि वो हमारे लोगों को देश से बाहर कर दे. इसी दिन योगी आदित्यनाथ ने एक चुनावी सभा में बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर फेंकने की बात कही थी.


बिहार चुनाव : नीतीश कुमार पर हुए "प्याज हमले" को लेकर भी नरम नहीं पड़े चिराग

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


तीसरे चरण के चुनाव प्रचार के दौरान किशनगंज में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए नीतीश ने ये बात कही, जहां मुसलमानों की अच्छी खासी आबादी है. मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिये उनकी सरकार द्वारा किये गए कार्यों का भी उल्लेख किया. उनका इशारा नागरिकता संशोधन कानून की तरफ था. उन्होंने कहा कि सबको साथ लेकर चलना ही हमारा धर्म है. उन्होंने भाषण के एक अंश का वीडियो क्लिप साझा करते हुए ट्वीट किया है, "सब को साथ ले कर चलना ही हमारा धर्म है.. यही हमारी संस्कृति है.. सब साथ चलेंगे तो बिहार आगे बढ़ेगा.."