लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन पर रांची पहुंचे तेजस्वी यादव, पिता से मिलने के बाद लिखी ये भावुक पोस्ट

लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन पर तेजस्वी यादव ने एक वीडियो संदेश व पिता संग एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, 'प्रिय बिहारवासियों, आज पिता जी से उनके अवतरण दिवस पर मिलने रांची आया हूं.'

खास बातें

  • लालू प्रसाद यादव का आज जन्मदिन
  • पिता से मिलने रांची पहुंचे तेजस्वी यादव
  • आज 73वां जन्मदिन मना रहे RJD चीफ
पटना:

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) का आज (गुरुवार) जन्मदिन है. आज वह अपना 73वां जन्मदिन मना रहे हैं. उनके छोटे बेटे और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने एक वीडियो संदेश व पिता संग एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, 'प्रिय बिहारवासियों, आज पिता जी से उनके अवतरण दिवस पर मिलने राँची आया हूँ. उनके जन्मदिवस पर अलग-अलग तरह के भाव मन में आ रहे हैं. मन थोड़ा व्यथित है कि वो हमसे दूर अकेले संघर्ष कर रहें हैं और थोड़ा सशक्त भी क्यूंकि उनका जन्मदिन मुझे और अधिक प्रेरणा देता है उनकी तरह ही मुखरता से गरीब, गुरबों, शोषित, पीड़ित, उपेक्षित और वंचितों की लड़ाई बिना सिद्धांतों से समझौता किए लड़ूँ.'

तेजस्वी यादव ने आगे लिखा, 'अपने पिता के जीवन की यात्रा पर जब भी नज़र डालता हूँ, ऐसा लगता है क्या अद्भुत और बिरला जज्बा लिए हैं. आदरणीय लालू जी, ऊंच-नीच के विरुद्ध लड़ाई लड़े, बिहार की तमाम सामाजिक विसंगतियों को ख़त्म किया. गरीब के हक़ का झंडा बुलंद किया और चाहे कितनी भी विषम परिस्थिति आई, कभी घुटने नहीं टेके, कभी अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं किया.'

तेजस्वी ने आगे लिखा, 'विषम हालात अच्छे-अच्छों को तोड़ देते हैं. षड़यंत्र व समर्पण करने को मजबूर कर देते हैं. वर्षों का दुष्प्रचार इंसान का आत्मविश्वास छीन लेता है लेकिन ये भी अनुकरणीय है कि विषम हालात, अनगिनत षड़यंत्र और लगातार दुष्प्रचार भी लालू जी के हौसले को तोड़ नहीं पाए, उनके सिद्धांतों को झुका नहीं पाए, जनसेवा के लिए समर्पित उनके क़दमों को रोक नहीं पाए अपितु उनके हौसलों को मजबूत ही किया.'

वह लिखते हैं, 'वो लड़ रहे हैं आज भी, बिना थके , बिना झुके और मुझे गर्व है कि बिहार के लोगों के हक़ के लिए उनकी इस लड़ाई में मैं भी भागी बना हूँ, इसलिए आज उनके जन्मदिन पर में यह प्रण लेता हूँ कि बिहार के युवाओं और गरीबों को हर हालत में न्याय दिला कर रहूँगा. बस बहुत हो चुका जातिवाद, सम्प्रदायवाद. बहुत हो चुकी बीमारी के दौरान फैली अव्यवस्था से मौतें. बहुत देख ली गरीब ने रोटी की भूख. बहुत रह लिया हमारा युवा बेरोजगार. बहुत सह लिया हमारे भाइयों ने, उनके परिवारों ने पलायन का दर्द, कुशासन ने छिन ली बहुत जानें, सड़कों पर बहुत बेहाल हो चुका बिहारी. सरकार ने 15 साल राज करते-करते बहुत ठीकरा फोड़ लिया दूसरों पर. अब और नहीं होने दूंगा. भुखमरी से, अपराध से, अव्यवस्था से, अन्याय से अब जान नहीं खोने दूंगा.'

उन्होंने आगे लिखा, 'आज पिता जी के 73वें जन्मदिन पर हम कम से कम 73000 गरीबों को खाना खिलाएंगे, उनके माथे से चिंता हटाएंगे और फिर पिता की प्रेरणा से ही बिहार को इस कठिन समय से निजात दिलाएंगे. लालू जी की प्रेरणा से जो कदम बिहार की सेवा के लिए चल पड़े हैं. वो कदम रुकेंगे नहीं, कभी थकेंगे नहीं. आपका बेटा, आपका भाई. तेजस्वी यादव.'

एक ट्वीट में तेजस्वी यादव ने लिखा, 'आज आदरणीय पिता जी के जन्मदिवस पर उनकी कही बात याद आ रही है. संघर्ष लम्बा होगा, परीक्षा कड़ी होगी तुम घबराना मत, हमें बिहार के विकास और ग़रीबों की ख़ुशियों के लिए लड़ना-मरना है. सामाजिक न्याय हमने किया अब तुम आर्थिक न्याय करना. हमारी ख़ुशियों का त्याग भी हो तो फ़िक्र नहीं करना.'


VIDEO: बिहार में गोपालगंज मर्डर केस मामले पर तेजस्वी ने नीतीश पर साधा निशाना

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com