नीतीश कुमार के 'पीएम मटेरियल' होने संबंधी JDU के प्रस्‍ताव पर सियासी बयानबाजी तेज, जानें किस पार्टी ने क्‍या कहा..

बीजेपी सांसद अजय निषाद ने कहा, 'केंद्र में बीजेपी के नेतृत्व में बहुमत की सरकार है अगर कोई पार्टी, NDA से अलग होना चाहती है तो इससे बीजेपी पर कोई असर नहीं पड़ेगा.'

नीतीश कुमार के 'पीएम मटेरियल' होने संबंधी JDU के प्रस्‍ताव पर सियासी बयानबाजी तेज, जानें किस पार्टी ने क्‍या कहा..

नई दिल्‍ली :

Bihar:'बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) में प्रधानमंत्री बनने की योग्यता और क्षमता है .' जनता दल यूनाइटेड की नेशनल काउंसिल की बैठक में पारित इस प्रस्ताव पर एक बड़ी राजनीतिक बहस छिड़ गई है. हालांकि पार्टी ने स्पष्टीकरण दिया है की 2024 के लोकसभा चुनाव में एनडीए के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) होंगे, लेकिन विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा. जेडीयू नेशनल काउंसिल के इस प्रस्ताव पर स्पष्टीकरण देते हुए जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने सोमवार को कहा, 'पीएम मटेरियल का मतलब है कि उनमें क्षमता है, देश का नेतृत्व कर सकते हैं. दावेदारी हम नहीं कर रहे क्‍योंकि हमें पता है हम छोटी पार्टी हैं लेकिन नीतीश कुमार में विजन है सोच है. 2005 से आज तक कई ऐसी योजनाएं हैं जो नीतीश कुमार जी ने शुरू की और अब केंद्र सरकार की योजना बन गई है.' हालांकि जेडीयू की ओर से आए स्‍पष्‍टीकरण के बावजूद नीतीश को लेकर प्रस्‍ताव पर सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है. 

पीएम पद के लिए पूछे गए सवाल पर सीएम नीतीश कुमार बोले- ''ये फालतू बात है, ना इच्छा है ना अपेक्षा''

बीजेपी सांसद अजय निषाद ने जेडीयू के इस प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देने में देर नहीं लगाई. अजय निषाद ने कहा, 'केंद्र में बीजेपी के नेतृत्व में बहुमत की सरकार है अगर कोई पार्टी, NDA से अलग होना चाहती है तो इससे बीजेपी पर कोई असर नहीं पड़ेगा.' कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने एनडीटीवी से कहा, जनता दल यूनाइटेड (JDU)के प्रस्ताव से स्पष्ट है कि एनडीए में सब कुछ ठीक नहीं है. पहले शिवसेना, फिर अकाली दल और अब जेडीयू के भी निकलने के आसार दिखाई दे रहे है.' पुनिया ने कहा, 'एक तरफ नीतीश कुमार] बीजेपी के साथ सरकार चला रहे हैं और दूसरी तरफ उनकी महत्वाकांक्षा है कि वह मोदी जी को रिप्लेस करें.नीतीश कुमार नया रास्ता ढूंढ रहे हैं. वे यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि इधर जाना है या उधर.' 


 बाढ़ ग्रस्त इलाकों में नीतीश सरकार के दावों की खुली पोल, शवों को ले जाने के लिए नहीं है एंबुलेंस सुविधा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) नेता और राज्यसभा सांसद मनोज झा कहते हैं, 'यह नीतीश कुमार की Ambiguity (संदिग्‍धता) की राजनीति है .वह हमेशा एक कार्ड जेब में और एक का टेबल पर रखते हैं.बीजेपी और जेडीयू में रस्साकशी शुरू हो गई है. इसकी वजह से बिहार में गवर्नेंस पर असर पड़ रहा है. झा ने कहा, 'प्रधानमंत्री आसमान से नहीं टपकता. बंद कमरे में आप कुछ भी घोषित कर दें इससे प्रधानमंत्री नहीं बनता है. प्रधानमंत्री एक विशेष कालखंड में बनता है.'