कोरोना की वजह से गई नौकरी, तो खोला ‘इंदु का ढाबा’, सिर्फ 30 रुपए में देती है थाली, सोशल मीडिया पर छाई महिला की कहानी

कोरोना वायरस की वजह से इंदु नाम की इस महिला की नौकरी चली गई थी. लेकिन, उसने हिम्मत नहीं हारी. ने अपना खुद का एक ढाबा खोला. धीरे-धीरे ‘इंदु का ढाबा’ (Indu da Dhaba) लोगों के बीच फेमस हो गया.

कोरोना की वजह से गई नौकरी, तो खोला ‘इंदु का ढाबा’, सिर्फ 30 रुपए में देती है थाली, सोशल मीडिया पर छाई महिला की कहानी

कोरोना की वजह से गई नौकरी, तो खोला ‘इंदु का ढाबा’, सिर्फ 30 रुपए में देती है थाली

कानपुर:

कोरोना महामारी (Coronavirus pandemic) ने देशभर में बहुत से लोगों को बेरोजगार बना दिया. लोगों के लिए अपने परिवार की रोजीरोटी के लिए बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. न जाने कितने लोगों की नौकरी चली गई. जिसकी वजह से बहुत से लोग अब नए-नए तरह का काम शुरु करने में लगे हैं, जिससे वो अपने परिवार का पेट भर सकें. ऐसे में सोशल मीडिया पर लोगों के बीच इंदु काढाबा काफी वायरल हो रहा रहा. इससे भी ज्यादा दिलचस्प है इस ढाबे को खोलने वाली महिला की कहानी. आइए जानते हैं क्या है इसकी कहानी...

देश में फैली इस महामारी ने उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur, Uttar Pradesh) की रहने वाली इंदु (Indu) नाम की महिला की जिंदगी को भी बदल दिया. जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस की वजह से इंदु नाम की इस महिला की नौकरी चली गई थी. लेकिन, उसने हिम्मत नहीं हारी. ने अपना खुद का एक ढाबा खोला. धीरे-धीरे ‘इंदु का ढाबा' (Indu da Dhaba) लोगों के बीच फेमस हो गया. वहीं अब इस ढाबे कि एक तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की गई है, जिसकी लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं. फोटो में आप थाली देख सकते हैं, जिसमें राजमा, चावल, रोटी, रायता और कटे हुए प्याज दिख रहे हैं. इस पूरी थाली की कीमत महज 30 रुपए है.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ट्विटर पर इंदु नाम के पेज से एक थाली की तस्वीर शेयर की गई है, जिसके साथ लिखा गया है, ‘ मेरी नौकरी चली गई थी. मैंने अपना काम शुरू किया. इंदु का ढाबा थाली केवल 30 रुपए में. मुझे दुआ दें.' अब सोशल मीडिया पर यह तस्वीर काफी वायरल हो रही है और हर तरफ इंदु के ढाबे की चर्चा हो रही है. इस फोटो पर अबतक 40 हजार से ज्यादा लाइक्स आ चुके हैं. लोग लगातार इसे रिट्वीट भी कर रहे हैं. साथ ही लोग इस तस्वीर पर मजेदार कमेंट्स भी कर रहे हैं.