शूटर दादी ने कू पर कहा "देश की बेटियों को आगे बढ़ाओ ताकि पुरुष समाज उन्हें बोझ ना समझे"

हर साल सितंबर महीने में वर्ल्‍ड डाटर्स डे  (World Daughters Day) मनाया जाता है. यह दिन बेटियों को धन्यवाद व उनके प्रति प्यार जताने का है. बात करें भारत देश की तो हमारे देश में बेटी दिवस सबसे खास इसलिए है.

शूटर दादी ने कू पर कहा

शूटर दादी प्रकाशी तोमर ने खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से Daughter Day पर की खास अपील

शूटर दादी ने सोशल मीडिया (Social Media) के प्लेटफॉर्म कू (koo) पर बेटियों के लिए एक ख़ास संदेश दिया है. यह संदेश वर्ल्‍ड डाटर्स डे  (World Daughters Day) पर दिया है. यह दिन बेटियों को धन्यवाद व उनके प्रति प्यार जताने का है. बात करें भारत देश की तो हमारे देश में बेटी दिवस सबसे खास इसलिए है क्योंकि समाज में बेटियों के प्रति लोगों को यह समझाना है कि बेटियां बोझ नहीं, घर को रोशन करने वाला चिराग होती हैं. आज इस खास मौके पर बड़े-बड़े नेता और सेलिब्रिजीट सोशल मीडिया पर अलग-अलग तरह से बेटियों को मुबारकबाद पेश कर रहे हैं. इन्हीं में से एक "शूटर दादी" के नाम से मशहूर बागपत (उत्तर प्रदेश) की प्रकाशी तोमर (Prakashmi Tomar) ने भी अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म के ज़रिए से देश की बेटियों के लिए बड़ा सन्देश दिया है.

प्रकाशी तोमर ने अपने सोशल मीडिया पर हाल ही बने खेलमंत्री अनुराग ठाकुर से भी विनती की है कि वो भी देश की बेटियों को पूरा मौका देने की कोशिश करें, जिससे की वो अपनी ज़िन्दगी में भी आगे बढ़ें और उनसे प्रभावित होकर समाज की सोच में भी एक बदलाव देखने को मिलेगा. उन्होंने खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के नाम पैगाम लिखते हुए लिखा है, "अंजुम मुद्गिल, अपूर्वी  चंदेला, मनु भाकर,  पी वी सिद्धू ,साइना नेहवाल, आपका खेल और आपकी जीत 135 करोड़ भारतीयों के चेहरे पर ना सिर्फ एक मुस्कान लाती है, बल्कि परिवार को एहसास भी दिलाती है कि वो भी अपनी बेटी को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें और उनकी जीत के ताज़  पर नाज़ करें . मैं खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से कहना चाहती हूं कि बेटियों को ज़्यादा से ज़्यादा मौका दीजिये! हैप्पी #daughtersday.

कौन हैं शूटर दादी प्रकाशी तोमर?
बॉलीवुड फिल्म "सांड की आंख" दादी चंद्रो तोमर और प्रकाशी तोमर की सच्ची जिंदगी पर ही आधारित है. इससे पहले भी अभिनेता आमिर खान ने दोनों शूटर दादी की कहानी से प्रभावित होकर उन्हें अपने शो सत्यमेव जयते (Satyamev Jayate) में भी बुलाया था. बागपत में घर के पुरुषों ने उनकी दोनों निशानेबाजी पर आपत्ति जतायी, लेकिन उनके बेटों, बहुओं और पोते- पोतियों ने उनका पूरा साथ दिया. इसके बाद वह घर से निकलकर पास के रेंज में अभ्यास करने के लिए जा सकीं. शूटर दादी ने वरिष्ठ नागरिक वर्ग में कई पुरस्कार भी हासिल किये, जिनमें स्त्री शक्ति सम्मान भी शामिल है जिसे स्वयं राष्ट्रपति ने भेंट किया था.


जेठानी चंद्रो तोमर का हो गया देहांत
हाल ही में प्रकाशी तोमर की की जेठानी और और उनकी शूटर साथी चंद्रो तोमर का कोरोना से निधन हो गया था. इसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा में स्थापित शूटिंग रेंज का नाम ख्यातिप्राप्त निशानेबाज चंद्रो तोमर (शूटर दादी) के नाम पर रखे जाने की घोषणा की थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com