सोशल मीडिया पर छाई ये सब-इंस्पेक्टर, देती हैं साइबर फ्रॉड से बचने के टिप्स, लाखों बच्चों को दे रहीं मुफ्त शिक्षा

आरती सिंह सब-इंस्पेक्टर होने के साथ ही सोशल मीडिया पर भी काफी चर्चित हैं और अपने लुक और वर्किंग स्टाइल को लेकर उनके इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर भी लाखों फॉलोअर्स हैं.

सोशल मीडिया पर छाई ये सब-इंस्पेक्टर, देती हैं साइबर फ्रॉड से बचने के टिप्स, लाखों बच्चों को दे रहीं मुफ्त शिक्षा

सोशल मीडिया पर छाई ये सब-इंस्पेक्टर, देती हैं साइबर फ्रॉड से बचने के टिप्स

इंटरनेट सेंसेशन बनने के लिए आजकल लोग कुछ भी करने को तैयार हो जाते हैं, या फिर कुछ भी ऐसा करने लगते हैं, जिससे वो लोगों का ध्यान अपनी ओर खींच सकें या फिर लोगों के बीच सुर्खियां बटोर सकें. लेकिन, क्या आपने कभी सुना कि कोई इंसान लोगों के बीच अपने किसी ऐसे काम को लेकर सुर्खियां बटोर रहा हो, जिससे लोगों के बीच जागरुकता फैले या फिर लोगों की मदद हो सके. अगर नहीं सुना, तो अब हम आपको जिनके बारे में बताने जा रहे हैं, उनके बारे में जानने के बाद आप भी इस बात को मान लेंगे कि लोगों के बीच सुर्खियां बटोरने और इंटरनेट सेंसेशन बनने के लिए इंस्टाग्राम रील्स में डांस करना और गाना ही जरूरी नहीं बल्कि आप किसी नेक और सामाजिक कार्य के जरिए भी लोगों के बीच अपनी खास पहचान बना सकते हैं.

pd7s4

इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर लाखों फॉलोअर्स

हम बात करे रहे हैं राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) में सब-इंस्पेक्टर "आरती सिंह तंवर" (Sub Inspector Arti Singh Tanwar) , जो आज कल लोगों के बीच चर्चा में छाई हैं. आरती सिंह सब-इंस्पेक्टर होने के साथ ही सोशल मीडिया पर भी काफी चर्चित हैं और अपने लुक और वर्किंग स्टाइल को लेकर उनके इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर भी लाखों फॉलोअर्स हैं.

आरती सिंह तंवर के सभी कार्य लोगों को आश्चर्यचकित करने के साथ ही लोगों के लिए मिसाल भी पेश करते हैं. आरती के वीडियो, उनके मोटिवेशन, उनके साइबर अवेयरनेस के टिप्स इन दिनों सुर्खियों में हैं. पुलिस विभाग में काम करने के साथ-साथ एक आइडियल कोच एवं साइबर अपराधों से बचने के लिए टिप्स देने वाली आरती सिंह सोशल मीडिया पर लाखों लोगों के लिए उम्मीद की एक किरण बन गईं हैं. सब-इंस्पेक्टर होने के दायित्वों को निभाने के साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में आरती सिंह द्वारा किए गए सभी कार्य सराहनीय हैं.

0st3a6o8

पिता और बड़ी बहन से मिली प्रेरणा

दिलचस्आप बात ये है कि आरती के परिवार के ज़्यादातर सदस्य पुलिस में ही सेवारत हैं. वो साल 2012 में राजस्थान पुलिस में भर्ती हुई और साल 2014 में सब-इंस्पेक्टर बनी. सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं और मोटिवेशन और साइबर अवेयरनेस के टिप्स देती हैं, ताकि किसी के साथ फ्रॉड न हो.

आरती सिंह के पिता भी राजस्थान पुलिस के रिटायर्ड ऑफिसर हैं, और आरती की बड़ी बहिन वर्तमान में राजस्थान पुलिस में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत है. इन्हें देखकर ही आरती सिंह के मन में भी पुलिस ऑफिसर बनने का विचार आया.

gk40cqf8

ऑनलाइन एजुकेशन के माध्यम से लाखों बच्चों को देती हैं गाइडेंस

अपने यूट्यूब चैनल एवं ऑफिसियल वेबसाइट के माध्यम से आरती सिंह तंवर लाखों बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रही हैं और समय-समय पर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए टिप्स भी देती हैं. विभिन्न यूट्यूब वीडियो के जरिए से सटीक जानकारी उपलब्ध कराती हैं और आज के प्रतियोगी युग में कैसे तैयारी करें, इन सभी बातों के लिए अपना अनुभव शेयर करती हैं. आरती सिंह आज लाखों बच्चों के लिए एक गाइड की तरह हैं, जो उन्हें ये बताने में मदद कर रही हैं, कि कठिन से कठिन परीक्षा में भी सफलता कैसे पाई जा सकती है. कुछ बच्चे ऐसे भी हैं, जिन्हें परिवार का सपोर्ट नहीं मिल पाता है, उन बच्चों के लिए आरती सिंह एक हिम्मत और सहारा हैं और साथ ही समय-समय पर उन्हें करियर के लिए टिप्स भी देती है. प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए. पढ़ने के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं. रोज़ाना सिलेबस की तैयारी कैसे करें. किस सब्जेक्ट को कब और कैसे पढ़ें ताकि कंटेंट को आसानी से याद किया जा सके. आरती ऐसे वीडियो बनाकर स्टूडेंट्स को गाइड करती है.

gvqrdku

साइबर अपराधों के प्रति जागरूकता फैलाने की मुहिम

आज के समय में साइबर अपराध दिनोंदिन बढ़ते ही जा रहे हैं. हमारी जरा सी लापरवाही उन साइबर अपराधियों के लिए एक पहल बन जाती है. ऐसे में राजस्थान पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के पद पर तैनात वन वूमैन आर्मी के नाम से विख्यात "आरती सिंह तंवर" साइबर क्राइम के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए एक मुहिम चला रही हैं, जिसमें वे यूट्यूब शॉर्ट वीडियो के जरिए विभिन्न साइबर अपराधों के बारे में जानकारी एवं उनसे बचने के लिए ऑनलाइन टिप्स देती हैं. आरती सिंह का कहना है कि वे अपने ऑफिस टाइम एवं अपनी दैनिक गतिविधियों में से कुछ समय निकालकर वीडियो बनाती हैं और उनको यूट्यूब पर अपलोड करती हैं. आरती सोशल मीडिया अकाउंट्स पर अक्सर लाइव करके साइबर फ्रॉड से बचने के टिप्स देती हैं. आरती का कहना है कि पीड़ित लोग वहीं कमेंट में या डायरेक्ट मैसेज करके आपबीती बताते हैं. ज़्यादा गंभीर मामलों पर तुरंत मदद की कोशिश की जाती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com