कैंसर मरीज ने कीमोथैरेपी के दौरान दिया जॉब इंटरव्यू, सोशल मीडिया पर हो गया वायरल, बोला- खुद को साबित करना चाहता हूं

“जब आप इंटरव्यूज में अपना बेस्ट देते हैं, लेकिन केवल इस वजह से नहीं चुने जाते हैं क्योंकि आप जीवन में एक कठिन दौर से गुजर रहे हैं."

कैंसर मरीज ने कीमोथैरेपी के दौरान दिया जॉब इंटरव्यू, सोशल मीडिया पर हो गया वायरल, बोला- खुद को साबित करना चाहता हूं

कैंसर मरीज ने कीमोथैरेपी के दौरान दिया जॉब इंटरव्यू

अपने एक कीमोथेरेपी सेशन (chemotherapy sessions) के दौरान नौकरी के लिए इंटरव्यू देने वाले एक कैंसर मरीज (cancer patient) ने कई इंटरनेट यूजर्स को प्रेरित किया है. लिंक्डइन पर एक पोस्ट शेयर करते हुए, आईटी प्रोफेशनल अर्श नंदन प्रसाद (IT professional Arsh Nandan Prasad) ने अपनी चिकित्सा स्थिति के कारण नौकरी पाने के अपने संघर्ष को शेयर किया. उन्होंने कहा कि उन्हें सहानुभूति की जरूरत नहीं है बल्कि वो खुद को साबित करना चाहते हैं.

एक मेडिकल गाउन पहने अस्पताल के बिस्तर पर अपनी एक तस्वीर शेयर करते हुए, प्रसाद ने साक्षात्कारकर्ताओं द्वारा अस्वीकार किए जाने की बात कही. कीमोथेरेपी के परिणामस्वरूप अपने बाल खोने वाले आईटी प्रोफेशनल ने बताया कि क्यों उनका चयन सिर्फ इसलिए नहीं किया जा रहा था क्योंकि वह अपने जीवन के सबसे कठिन समय से गुजर रहे थे.

प्रसाद ने लिखा, “जब आप इंटरव्यूज में अपना बेस्ट देते हैं, लेकिन केवल इस वजह से नहीं चुने जाते हैं क्योंकि आप जीवन में एक कठिन दौर से गुजर रहे हैं, तो निश्चित रूप से यह दर्शाता है कि ये कंपनियां कितनी उदार हैं. जैसे ही भर्ती करने वालों को पता चलता है कि मैं कैंसर से लड़ रहा हूं, मैं उनके भावों में बदलाव देखता हूं. ”

उन्होंने कहा, "मुझे आपकी सहानुभूति की आवश्यकता नहीं है !! मैं यहां खुद को साबित करने के लिए हूं. मेरे कीमोथैरेपी सेशन के दौरान एक इंटरव्यू देते हुए मेरी हाल ही की एक तस्वीर. ”

आईटी प्रोफेशनल की पोस्ट पर लोग ढेरों कमेंट्स कर रहे हैं. कुछ लोग उन्हें "योद्धा" बता रहे हैं. उनका पोस्ट तुरंत वायरल हो गया, जिसमें कई लोगों ने उनके साहस की प्रशंसा की और अन्य लोगों ने प्रोत्साहन और समर्थन के शब्दों लिख. आईटी प्रोफेशनल ने महाराष्ट्र स्थित टेक कंपनी एप्लाइड क्लाउड कंप्यूटिंग के सीईओ और संस्थापक नीलेश सतपुते से नौकरी की ऑफर भी मिली.

सतपुते ने प्रसाद को नौकरी की तलाश बंद करने और अपना इलाज जारी रखने के लिए कहा, उन्होंने उन्हें एक "योद्धा" कहा और कहा कि जब भी वह इसमें शामिल होने के लिए उपयुक्त हो, तो वह उनकी कंपनी ज्वाइन कर सकते हैं. सतपुते ने कहा, "कोई साक्षात्कार नहीं होगा."

कई यूजर्स ने भी प्रसाद को खुश करने के लिए लिंक्डइन पोस्ट पर कमेंट किए. एक यूजर ने कहा, 'यह फाइटिंग स्पिरिट है. आपको सलाम." दूसरे ने लिखा, "आपके लिए उपचार की प्रार्थना. मैं वास्तव में आपके तप की प्रशंसा करता हूं."

शेयर किए जाने के बाद से प्रसाद की पोस्ट को लगभग 600 से ज्यादा बार शेयर किया गया है. इसे 98 हजार से ज्यादा लाइक्स और 3 हजार से ज्यादा कमेंट्स मिले हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सिटी सेंटर: हनुमान मंदिर के सेवादार यूसुफ पेश कर रहे भाईचारे की मिसाल