लंदन में करते थे बिजनेस, भारत आकर बन गए ‘मटका मैन’, आनंद महिंद्रा ने शेयर की इस सुपरहीरो की कहानी

इस काम की शुरुआत उन्होंने अपने घर के बाहर मिट्टी के एक घड़े से की थी, जो अब पूरे दक्षिण दिल्ली में मटके लगाने के मिशन में बदल गया है. उनकी इस पहल ने उन्हें 'मटका मैन' के रूप में पहचान दिला दी है.

लंदन में करते थे बिजनेस, भारत आकर बन गए ‘मटका मैन’, आनंद महिंद्रा ने शेयर की इस सुपरहीरो की कहानी

लंदन में करते थे बिजनेस, भारत आकर बन गए ‘मटका मैन’

आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) सोशल मीडिया पर अक्सर प्रेरणादायक पोस्ट शेयर करते रहते हैं. हाल ही में उन्होंने ट्विटर पर "मटका मैन" (Matka Man) की कहानी शेयर की है, जो पानी की आपूर्ति के जरिए जरूरतमंदों की मदद करते हैं. आनंद महिंद्रा ने शहर के लाखों लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराने के मिशन पर लगे दिल्ली के एक शख्स, जिनका असली नाम अलग नटराजन (Alag Nataraja) उर्फ 'मटका मैन' की तारीफ में एक पोस्ट शेयर की है. नटराजन, जो पंचशील पार्क में रहते हैं और हर दिन अपनी एसयूवी में ड्राइव करते हैं, पूरे दक्षिण दिल्ली में मिट्टी के बर्तनों को पीने के साफ पानी से भरते हैं. उन्होंने अपनी वेबसाइट पर बताया, "मटका एक भारतीय मिट्टी का बर्तन है, जो पारंपरिक रूप से पानी को ठंडा रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. मैं गरीब लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए मटके का इस्तेमाल कर रहा हूं."

इस काम की शुरुआत उन्होंने अपने घर के बाहर मिट्टी के एक घड़े से की थी, जो अब पूरे दक्षिण दिल्ली में मटके लगाने के मिशन में बदल गया है. उनकी इस पहल ने उन्हें 'मटका मैन' के रूप में पहचान दिला दी है, अब वो लोगों के बीच मटका मैन के नाम से जाते हैं. न्यू इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, नटराजन हर सुबह पांच बजे उठकर लगभग 70 से 80 बर्तनों में पानी भरते हैं, जिससे लोग मुफ्त में पी सकते हैं.

महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने दक्षिण दिल्ली के इस शख्स की तारीफ के लिए एक ट्वीट में कहा, " "एक सुपरहीरो जो पूरे मार्वल स्टेबल से ज्यादा शक्तिशाली है. मटका मैन. बता दें कि वह इंग्लैंड में एक उद्यमी और एक कैंसर विजेता थे जो केवल गरीबों की सेवा करने के लिए भारत लौट आए हैं. बोलेरो को अपने नेक कार्य का हिस्सा बनाकर सम्मानित करने के लिए आपका धन्यवाद सर."

अपने ट्वीट में, महिंद्रा ने लंदन में तीन दशक से ज्यादा समय बिताने के बाद गरीबों की सेवा करने के लिए अपने गृहनगर लौटने के लिए दिल्ली के 'मटका मैन' की सराहना भी की है. उन्होंने लिखा, "जाहिर तौर पर वह इंग्लैंड में एक उद्यमी और कैंसर विजेता थे, जो गरीबों की सेवा करने के लिए भारत लौट आए."

मिस्टर महिंद्रा ने अलग नटराजन और उनकी बोलेरो का एक वीडियो भी शेयर किया, जिसका इस्तेमाल वह पानी की टंकियों को इधर-उधर ले जाने के लिए करते हैं.


इस वीडियो को अबतक 65 हजार से ज्यादा बार देखा जा चुका है. लोग वीडियो पर ढेरों कमेंट कर रहे हैं. साथ ही अलग नटराजन की जमकर तारीफ भी कर रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली के निवासियों को पानी उपलब्ध कराने के अलावा, नटराजन निर्माण श्रमिकों और मजदूरों को सप्ताह में दो या तीन बार भोजन उपलब्ध कराने के लिए ड्राइव करते हैं. उन्होंने "गरीब लोगों को 24/7 हवा भरने की सुविधा देने के लिए" दक्षिण दिल्ली में लगभग 100 साइकिल पंप भी लगाए हैं.