अफगानिस्‍तान संकट को लेकर पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की दो टूक, 'इस्‍तीफा दें जो बाइडेन'

ट्रंप ने एक बयान में कहा, 'अफगानिस्‍तान में जो होने दिया गया, उसके लिहाज से जो बाइडेन के लिए यह इस्‍तीफा देने का समय है. ' ट्रंप ने कोविड-19 के ताजा मामलों की संख्‍या बढ़ने, घरेलू आव्रजन (Domestic immigration) और आर्थिक व ऊर्जा नीति को लेकर भी बाइडेन पर निशाना साधा. 

अफगानिस्‍तान संकट को लेकर पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की दो टूक, 'इस्‍तीफा दें जो बाइडेन'

अमेरिका : डोनाल्‍ड ट्रंप ने अफगानिस्‍तान मामले को लेकर राष्‍ट्रपति जो बाइडेन पर निशाना साधा

वॉशिंगटन:

अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump)ने अफगानिस्‍तान (Afghanistan) में तालिबान आतंकियों (Taliban terrorists) का नियंत्रण स्‍थापित होने के मामले में मौजूदा राष्‍ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden)से इस्‍तीफा मांगा है. बाइडेन ने अमेरिका का राष्‍ट्रपति पद संभालते ही अफगानिस्‍तान से करीब 20 साल बाद अमेरिकी सैनिकों को तुरंत हटाने का फैसला किया था, इसके बाद से तालिबान का यहां  पर वर्चस्‍व बढ़ता गया और अब वह पूरे मुल्‍क पर नियंत्रण स्‍थापित कर चुका है. ट्रंप ने एक बयान में कहा, 'अफगानिस्‍तान में जो होने दिया गया, उसके लिहाज से जो बाइडेन के लिए यह इस्‍तीफा देने का समय है. ' ट्रंप ने कोविड-19 के ताजा मामलों की संख्‍या बढ़ने, घरेलू आव्रजन (Domestic immigration) और आर्थिक व ऊर्जा नीति को लेकर भी बाइडेन पर निशाना साधा. 

 अफगानिस्तान में काबुल एयरपोर्ट पर भीड़ का हंगामा, अमेरिकी फौज ने हवा में दागी गोलियां : रिपोर्ट 

गौरतलब है कि राष्ट्रपति अशरफ गनी के देश छोड़ने के बाद तालिबान ने सोमवार को अफगानिस्तान पर नियंत्रण कर लिया. आतंकी संगठन के सामने सरकार के इतनी जल्दी हार मान जाने के बाद आतंकवादी समूह ने रविवार रात को राष्ट्रपति भवन को कब्जे में ले लिया. जिसके बाद से राजधानी काबुल में दहशत का माहौल है. हजारों की संख्‍या में लोग काबुल (Kabul) से बाहर निकलने की कोशिश में जुटे रहे. जिसके कारण एयरपोर्ट पर भारी भीड़ नजर आ रही है.


अफगानिस्तान में भय और दहशत का माहौल, तालिबान ने राष्ट्रपति भवन पर भी किया कब्जा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि ट्रंप के राष्‍ट्रपति रहने के दौरान अमेरिका ने दोहा में वर्ष 2020 में तालिबान के साथ समझौता किया था कि विभिन्‍न सुरक्षा गारंटियों के बदले में वह मई 2021 तक अफगानिस्‍तान से सारे अमेरिकी सैनिक को वापस बुला लेगा. मार्च 2020 में अमेरिका और तालिबान ने दोहा में एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे जिसमें कहा गया था कि  अमेरिका 14 माह के अंदर अपने सैनिकों को अफगानिस्तान से वापस बुला लेगा. इस वर्ष की शुरुआत में बाइडेन ने जब सत्‍ता संभाली तो उन्‍होंने इस डेडलाइन को और पीछे खींच लिया और इसके लिए कोई शर्त भी नहीं रखी. इस कदम को लेकर ट्रंप लगातार बाइडेन पर निशाना साध रहे थे, उन्‍होंने कहा था कि यदि वे (ट्रंप) अभी भी राष्‍ट्रपति होते तो यह वापसी बहुत अलग और बहुत अधिक सफल होती.