सोने का बेशकीमती खजाना कहां गया? तालिबान सरकार खोजने के लिए छेड़ेगी मुहिम

बैक्ट्रियन खजाना या ब्रैक्ट्रियन ट्रेजरी अफगानिस्तान की एक अहम संपत्ति है. इसे दुनिया में सोने के सबसे बड़े संग्रह में से एक के रूप में पहचाना जाता है.

सोने का बेशकीमती खजाना कहां गया? तालिबान सरकार खोजने के लिए छेड़ेगी मुहिम

वास्तविकता का पता लगाने के लिए जानकारी एकत्र करेंगे : तालिबान (प्रतीकात्मक तस्वीर)

काबुल:

अफगानिस्तान में कार्यवाहक तालिबान (Taliban) सरकार के सूचना एवं संस्कृति मंत्रालय के अधिकारियों ने बैक्ट्रियन खजाने (Bactrian Treasure) को खोजने के प्रयास शुरू कर दिए हैं. बता दें कि बैक्ट्रियन खजाने को चार दशक पहले उत्तरी जवज्जान प्रांत के केंद्र शेरबर्गन जिले के तेला तपा क्षेत्र में खोजा गया था. टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान कैबिनेट के सांस्कृतिक आयोग के उप प्रमुख अहमदुल्लाह वसीक ने कहा कि उनके आकलन से पता चलता है कि राष्ट्रीय संग्रहालय, नेशनल आर्काइव और नेशनल गैलरी तथा अन्य ऐतिहासिक एवं प्राचीन स्मारकों की चीजें अपने स्थानों पर सुरक्षित हैं. 

वसीक ने कहा कि साइटों और कलाकृतियों को संरक्षित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ स्थायी समझौतों का सम्मान किया जाएगा. 

वसीक ने यह भी कहा कि उन्होंने दुनिया में सोने के सबसे बड़े संग्रह में से एक के रूप में पहचाने जाने वाले बैक्ट्रियन खजाने के बारे में पता लगाने और इसकी जांच का काम संबंधित विभागों को सौंपा है. 

उन्होंने कहा, "मामले की जांच की जा रही है और वास्तविकता क्या है यह जानने के लिए हम जानकारी एकत्र करेंगे. अगर इसे (बैक्ट्रियन खजाने को) अफगानिस्तान से बाहर भेजा गया है, तो यह अफगानिस्तान के खिलाफ देशद्रोह है. अगर इसे और अन्य प्राचीन वस्तुओं को देश से बाहर ले जाया जाता है तो अफगानिस्तान सरकार गंभीर कार्रवाई करेगी."

बैक्ट्रियन खजाना या ब्रैक्ट्रियन ट्रेजरी अफगानिस्तान की एक अहम संपत्ति है, जिसे पूर्ववर्ती सरकार द्वारा राष्ट्रपति भवन में लाया गया और लोगों को दिखाया गया था. हालांकि, पिछली सरकार के गिरने के बाद से इस खजाने की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई जा रही है. 

इस कलेक्शन में गहनें और सोना शामिल हैं, जिसे एक प्राचीन शाही कब्रिस्तान स्थल पर खोजा गया था. टोलो न्यूज की रिपोर्ट में कहा गया है कि सात लोगों के अवशेषों को सोने के हजारों टुकड़ों से सजाया गया था. 

इस बेशकीमती कलेक्शन को विदेशों में प्रदर्शित किया गया है. यह कलेक्शन सोने के 21,145 टुकड़ों से बना है. 
विशेषज्ञों का कहना है कि यह खजाना कुषाण साम्राज्य का है. कुषाण साम्राज्य का गठन यूझी द्वारा पहली शताब्दी की शुरुआत में बैक्ट्रियन क्षेत्रों में किया गया था. 


- - ये भी पढ़ें - -
* अमेरिकी सांसद की दो टूक, 'अफगानिस्‍तान में पाकिस्‍तान जो भूमिका निभा रहा, वह भारत के लिए चिंता का कारण'
* अगर आप हैं मर्द, तभी खेल सकते हैं ये 400 किस्म के खेल! तालिबान का वादा
* काबुल एयरपोर्ट की जिम्मेदारी लेने के लिए कतर ने रखी 'शर्त'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: पंजशीर में पाकिस्तान की भूमिका को लेकर आम अफगान में दिखा भारी गुस्सा